Lockdown: शराब निर्माताओं की सरकार से मांग, दिल्‍ली में मिले होम डिलीवरी करने की अनुमति
Delhi-Ncr News in Hindi

Lockdown: शराब निर्माताओं की सरकार से मांग, दिल्‍ली में मिले होम डिलीवरी करने की अनुमति
थाने में शराब पार्टी की शिकायत विधायक ने एसपी से की. (फाइल फाइल).

कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन एल्कोहलिक बेवरेज कंपनीज (Confederation of Indian Alcoholic Beverage Companies) ने दिल्ली सरकार (Delhi Government) से मांग की है कि उसे राष्ट्रीय राजधानी में शराब की सीधे घर पर डिलीवरी करने की अनुमति दी जाये.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय शराब उद्योग के शीर्ष संगठन कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन एल्कोहलिक बेवरेज कंपनीज (Confederation of Indian Alcoholic Beverage Companies) ने मंगलवार को दिल्ली सरकार (Delhi Government) से मांग की है कि उसे राष्ट्रीय राजधानी में शराब की सीधे घर पर डिलीवरी करने की अनुमति दी जाये. उद्योग ने कहा है कि शराब की दुकानों पर लोगों के बीच दूरी रखने के नियम को तोड़ा जा रहा है ऐसे में उसे सीधे घर पर शराब की डिलीवरी करने की अनुमति दी जानी चाहिये. कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन एल्कोहलिक बेवरेज कंपनीज (सीआईएबीसी) ने कहा कि सरकार शराब बेचने के लिये टोकन प्रणाली की भी अनुमति दे सकती है. इससे भीड़ का बेहतर ढंग से प्रबंधन करने में मदद मिल सकती है.

इस वजह से की है मांग
दिल्ली में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन शराब की दुकानों पर लंबी लाइनें देखी गई. भीड़ इस कदम उमड़ पड़ती है कि दुकानों पर लोगों के बीच शारीरिक दूरी का नियम समाप्त हो जाता है. यहां तक कि शराब पर उसके अधिकतम खुदरा मूलय के ऊपर 70 प्रतिशत की दर से विशेष कोरोना शुल्क लगा दिये जाने का भी खरीदारों पर कोई असर नहीं दिखाई दिया.
सीआईएबीसी के महानिदेशक विनोद गिरी ने कहा कि शराब की आनलाइन बुकिंग शुरू किये जाने से शराब की दुकानों के बाहर भीड़ को कम किया जा सकता है. गिरी ने कहा, ‘हम दिल्ली सरकार के पास जायेंगे और उससे शराब की घर पर डिलीवरी के विकल्प पर विचार करने का आग्रह करेंगे। शराब की घर पर डिलीवरी सुरक्षित तरीका है और इसमें कोई खतरा नहीं है.’
गिरी ने दिया ये सुझाव
गिरी ने दूसरे तरीके का सुझाव देते हुये कहा कि सरकार टोकन प्रणाली भी शुरू कर सकती है. कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन शराब की बुकिंग कर टोकन निकाल सकता है और बाद में वह बताये गये समय पर दुकान से अपनी मनपसंद शराब ले सकता है. दिल्ली में शराब पर 70 प्रतिशत की दर से ‘विशेष कोरोना शुल्क’ लगाये जाने के मुद्दे पर गिरी ने कहा कि शराब के दाम को अलग रखकर नहीं देखा जा सकता है. इन्हें पड़ोसी शहरों के संदर्भ में देखा जाना चाहिये.



शराब की तस्करी को रोकना बड़ी चुनौती
सूत्रों ने बताया कि सरकार ने कहा है कि पड़ोसी राज्यों से राजधानी में शराब की तस्करी को रोकना बड़ी चुनौती है. हमें इस पर कड़ी नजर रखनी होगी क्योंकि इससे सरकार के राजस्व पर असर पड़ता है.
आपको बता दें कि गृह मंत्रालय द्वारा लॉकडाउन में कुछ राहत दिये जाने के बाद सोमवार से दिल्ली में 190 शराब की दुकानें खुल गईं. मंगलवार को इनमें से करीब 150 दुकानें खुलीं. जबकि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि जिन इलाकों में लोग सामाजिक स्तर पर दूरी रखने के नियम का पालन नहीं करेंगे उन इलाकों से राहत को वापस ले लिया जायेगा.

ये भी पढ़ें
COVID-19: दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 206 नये मामले, 5104 हुई संक्रमितों की संख्या

लॉकडाउन में सहारा बना विधायक का वोट मांगने वाला नंबर, बाप को बेटे से मिलाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज