Corona और बाढ़ के मद्देनजर बिहार विधानसभा चुनाव टलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में PIL
Patna News in Hindi

Corona और बाढ़ के मद्देनजर बिहार विधानसभा चुनाव टलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में PIL
सुप्रीम कोर्ट इस तरह की एक याचिका को पहले भी खारिज कर चुका है. (Demo PIc)

यह जनहित याचिका (PIL) राष्ट्रवादी जनता पार्टी ने दायर की है. इसमें कोविड 19 महामारी और बाढ़ की गंभीर स्थिति को देखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव स्थगित करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोविड 19 (Covid 19) महामारी और बाढ़ (Flood) की गंभीर स्थिति के मद्देनजर बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) के अक्टूबर-नवंबर में प्रस्तावित चुनाव स्थगित करने का निर्वाचन आयोग (Election Commission) को निर्देश देने के अनुरोध के साथ उच्चतम न्यायालय (Supreme court) में एक याचिका (Petition) दायर की गई है. यह जनहित याचिका पंजीकृत राजनीतिक दल राष्ट्रवादी जनता पार्टी ने अपने अध्यक्ष अनिल भारती के माध्यम से दायर की है. इस याचिका में कोविड 19 महामारी और बाढ़ की गंभीर स्थिति को देखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव स्थगित करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है.

ऐसी एक याचिका पहले खारिज कर चुका है सुप्रीम कोर्ट

न्यायालय इससे पहले 28 अगस्त को इसी तरह की एक अन्य जनहित याचिका खारिज कर चुका है. इस याचिका में अनुरोध किया गया था कि कोविड 19 महामारी से राज्य के मुक्त होने तक वहां विधानसभा चुनाव नहीं कराने का निर्देश चुनाव आयोग को दिया जाए. इस याचिका पर न्यायालय ने कहा था कि चुनाव के बारे में कोई भी निर्णय लेने से पहले निर्वाचन आयोग सारी परिस्थितियों पर विचार करेगा.





याची का सुझाव है कि मार्च में हो चुनाव

अब नई याचिका में राज्य में विधानसभा चुनाव मार्च, 2021 में कराने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया है. याचिका में कहा गया है कि इस समय देश में कोरोना वायरस महामारी अभी चरम पर है और बिहार बाढ़ की विभीषिका से भी जूझ रहा है.

ये भी पढ़ें- भोजपुरी विशेष: निरहुआ रिक्शावाला के विधायक सुशील के फिल्म जिगर में काम कइके ढेर खुशी भइल जानी काहे

याचिका में निर्वाचन आयोग के साथ ही केन्द्रीय गृह मंत्रालय, राज्य सरकार और राज्य चुनाव आयोग को प्रतिवादी बनाया गया है. याचिका के अनुसार बिहार विधानसभा चुनाव स्थगित करने के बारे में निर्वाचन आयोग को 30 जून को एक प्रतिवेदन दिया गया था, लेकिन अभी तक इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज