Home /News /delhi-ncr /

Delhi Corona Update: सीएम केजरीवाल बोले- प्‍लाज्‍मा थेरेपी से आई Death Rate में कमी

Delhi Corona Update: सीएम केजरीवाल बोले- प्‍लाज्‍मा थेरेपी से आई Death Rate में कमी

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

Delhi Corona Update: सीएम केजरीवाल ने कहा कि फिलहाल एलएनजेपी और राजीव गांधी सुपर स्‍पेशियलिटी अस्‍पताल में प्‍लाज्‍मा थेरेपी से कोरोना मरीजों के इलाज की अनुमति मिली है. सीएम केजरीवाल ने हालांकि यह भी बताया कि यह थेरेपी मॉडरेट संक्रमितों के लिए ज्‍यादा कारगर साबित हुआ है.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्‍ली. देश की राजधानी के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्‍लाज्‍मा थेरेपी से कोरोना वायरस के संक्रमण के इलाज को लेकर अहम जानकारी दी है. उन्‍होंने कहा कि इससे कोरोना से होने वाली मौतों में 50 फीसद तक की कमी देखी गई है. उन्‍होंने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि LNJP अस्‍पताल में जबसे इसे अमल में लाया गया, पहले की तुलना में मौतों की संख्‍या आधी से भी कम रह गई. उन्‍होंने कहा कि फिलहाल एलएनजेपी और राजीव गांधी सुपर स्‍पेशियलिटी अस्‍पताल में प्‍लाज्‍मा थेरेपी से कोरोना मरीजों के इलाज की अनुमति मिली है. सीएम केजरीवाल ने हालांकि यह भी बताया कि यह थेरेपी मॉडरेट संक्रमितों के लिए ज्‍यादा कारगर साबित हुआ है. ज्‍यादा गंभीर मामलों में मरीजों को इससे बचा पाना मुश्किल है.

    सीएम केजरीवाल ने बताया कि फिलहाल हमारे पास पर्याप्त इंतजाम हैं. लेकिन हमें ICU बेड की आवश्यकता हैं. जिसके लिए हम तैयारी कर रहे हैं. बैक्वेट हॉल में 3,500 बेड बढ़ाए जा रहे हैं और हम कुछ अस्पतालों में ICU बेड भी बढ़ाएंगे. सीएम केजरीवाल ने आगे कहा कि जिनका इलाज घर में हो रहा है उन्हें हम ऑक्सीमीटर दे रहे है. यदि आपका ऑक्सीजन लेवल 94 से कम होता है तो तुरंत हमें सूचित करें. हमारी टीम ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ आपके पास पहुंचेगी या आपको तुरंत अस्पताल ले जाया जाएगा.

    होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को ऑक्सीमीटर देने का फैसला
    बता दें कि दिल्ली सरकार ने एक अच्छी पहल करते हुए होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को ऑक्सीमीटर देने का फैसला किया है. ऑक्सीमीटर वो डिवाइस है जिसके ज़रिये आप घर बैठे ये जान सकते हैं कि आपका ऑक्सीजन लेवल (Oxygen Level) क्या है. गौरतलब है कि कोरोना के गंभीर मरीजों (Critical Coronavirus Patient) को सांस लेने में ज़्यादा समस्या होती है. ऐसे में ये ऑक्सीमीटर बता सकता है कि आपकी मौजूदा स्थिति की गंभीरता क्या है और कब आपको अस्पताल में भर्ती होने की ज़रूरत है. सरकार का कहना है कि होम आइसोलेशन में रह रहे लोग खुद की स्थिति सही से मॉनीटर कर सकें इसके लिए ये ऑक्सीमीटर दिया जा रहा है.

    कैसे काम करता है ऑक्सीमीटर
    ऑक्सीमीटर एक छोटी सी डिवाइस है जिसे एक उंगली पर लगाया जाता है. जिसके बाद ये आपकी puls को रीड करना शुरू कर देती है. ये मशीन 10-15 सेकेंड में आपको बता देती है कि आपका ऑक्सीजन लेवल क्या है. अगर पल्स रेट 95-100 के बीच आता है तो इसका मतलब आप ठीक स्थिति में हैं लेकिन 95 से नीचे ये आंकड़ा दिखाता है तो इसका मतलब आपकी स्थिति बिगड़ रही है और आपको तुरंत डाक्टर से कंसल्ट करना होगा या अस्पताल जाना पड़ सकता है.

    बता दें की आज कोरोना मरीजों का हाल जानने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल LNJP अस्पताल भी पंहुचे इस दौरान उनके साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी थे. सीएम केजरीवाल ने पहले अस्पताल की व्यवस्थाओं के बारे में जाना और उसके बाद मरीज़ों और उनके परिजनों के बीच बातचीत के लिए वीडियो कॉल की सुविधा का भी उद्घाटन किया.

    Tags: Corona, Delhi news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर