Home /News /delhi-ncr /

Deepawali 2021: गाजियाबाद और नोएडा में ‘स्वदेशी दीयों, सजावटी सामान’ से जगमग होगी दिवाली

Deepawali 2021: गाजियाबाद और नोएडा में ‘स्वदेशी दीयों, सजावटी सामान’ से जगमग होगी दिवाली

डेकेरेटिव दीये की मांग बाजार में खूब है.

डेकेरेटिव दीये की मांग बाजार में खूब है.

Initiatives Of Organizations To Promote Local Product: हाल ही में ‘मन की बात’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने दीपावली तथा उसके आगे के त्योहारों के लिए लोगों से स्थानीय उत्पादों की खरीदारी करके ‘वोकल फार लोकल’ अभियान को आगे बढ़ाने का आह्वान किया था. इस आह्वान से प्रेरित हो स्थानीय उत्‍पादों को बढ़ाने के लिए कई संस्‍थाएं भी आगे आई हैं. ये संस्‍थाएं सोसाइटियों में जाकर इन उत्‍पादों की एक्जीबिशन लगा रही हैं. वहीं कुम्‍हार भी मिट्टी के दिए व अन्‍य उत्‍पादों की मांग बढ़ने से खुश हैं.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. नोएडा और गाजियाबाद में कुम्‍हारों की बस्तियों और स्‍थानीय सजावटी सामान बनाने वालों की दुकानों पर काफी रौनक है. मिट्टी के दीये और वंदनवार से लेकर अन्‍य सजावटी सामान की मांग काफी बढ़ गई है. इस बार लोग लाइटों के बजाए दीये आदि खरीद रहे हैं.

    बता दें कि हाल ही में ‘मन की बात’ कार्यक्रम में भी प्रधानमंत्री ने त्योहारों के लिए लोगों से स्थानीय उत्पादों की खरीदारी करके ‘वोकल फार लोकल’ अभियान को आगे बढ़ाने का आह्वान किया था. उनके इस आह्वान से प्रेरित होकर स्‍थानीय उत्‍पादों को बढ़ाने के लिए कई संस्‍थाएं भी आगे आई हैं.

    कुम्हारों की बस्ती में खासी चहल-पहल

    नवयुग मार्केट स्थित कुम्हारों की बस्ती में इन दिनों काफी चहल पहल है. कुम्हारों के घरों के बाहर ही दीपक और मिट्टी के बर्तनों के ढेर लगे हुए हैं. कुम्हार रामेश्‍वर बताते हैं है कि इस साल काम बहुत अच्छा हैं, मिट्टी के दीयों मांग काफी बढ़ गई है. कई सालों बाद इस तरह की मांग हो रही है. लोग लाइटों के बजाए दीयों को जलाना पसंद कर रहे हैं. हालत यह हो गई है कि मांग को पूरा करना मुश्किल हो गया है.

    Prime Minister News, PM Narendra Modi, Vocal for Local, Local Products,

    संस्‍थाएं सोसाइटियाें में स्‍थानीय उत्‍पादों की लगा रही हैं एक्‍जीबिशन.

    मिट्टी के दीये, स्थानीय सजावटी सामान पहली पसंद

    वहीं गाजियाबाद दिल्‍ली बार्डर की कालोनी इंदिरापुरम में अस्‍मी फाउंडेशन की संस्‍थापक डा. भारती गर्ग बताती हैं कि लोग मिट्टी के दिए और स्‍थानीय सजावटी सामान पसंद कर रहे हैं. वे बताती हैं कि कुम्‍हारों से दीये लेकर आसपास की महिलाओं से डेकोरेट कराकर बेचती हैं. इसके अलावा वंदनवार से लेकर बहुत सारी सजावटी चीजें की मांग बढ़ी है. वे बताती है कि इसके लिए महिलाओं को बाकायदा ट्रेनिंग भी देती है और फिर उनको काम देकर पेमेंट करती हैं. इससे स्‍थानीय उत्‍पादों की मांग बढ़ रही है और महिलाएं आत्‍मनिर्भर बन रही हैं. वे कहती हैं प्रधानमंत्री द्वारा ‘वोकल फार लोकल’ अभियान के आह्वान के बाद मांग काफी बढ़ गई है. वे इन चीजों को आसपास की सोसाइटियों में एक्‍जीबिशन लगाती है, जहां स्‍थानीय उत्‍पादों की मांग खूब हो रही है.

    Prime Minister News, PM Narendra Modi, Vocal for Local, Local Products,

    बाजार में महिलाओं द्वारा बनाए गए तरह तरह के वंदनवार भी बिक रहे हैं.

    “लोग खूब खरीद रहे स्थानीय उत्पाद”

    नोएडा सेक्‍टर 62 की मयूरी गर्ग स्‍थानीय उत्‍पाद बनाने वाली संस्‍था से जुड़ी हैं. वे बताती हैं कि अब स्‍थानीय उत्‍पादों की मांग लगातार बढ़ रही है. दिवाली के आसपास इस बार मिट्टी के दिए व अन्‍य सजावटी सामान लोग खूब खरीद रहे हैं.

    Tags: Diwali, Diwali Celebration, Mann Ki Baat

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर