PM मोदी को आई पुराने पहाड़ी दोस्त की याद, फोन करके पूछा हालचाल
Pauri-Garhwal News in Hindi

PM मोदी को आई पुराने पहाड़ी दोस्त की याद, फोन करके पूछा हालचाल
PM नरेंद्र मोदी ने अपने पुराने मित्र बौंठियाल से बात की (फाइल फोटो)

बौंठियाल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने उन्हें बताया कि बुधवार को उन्होंने जनसंघ से जुड़े अपने कुछ पुराने मित्रों (Friends) से बात की और इसी क्रम में उनसे भी बात कर रहे हैं. बकौल बौंठियाल मोदी ने कहा कि यह समय संकट का है इसलिए वह सभी से बात कर रहे हैं.

  • Share this:
पौड़ी. साठ साल पहले जनसंघ से जुडे वरिष्ठ बीजेपी नेता (BJP Leader) मोहन लाल बौंठियाल को बुधवार को उस समय यकीन नहीं हुआ जब उन्हें प्रधानमंत्री कार्यालय से फोन आया और बताया गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) उनसे बात करना चाहते हैं. बौंठियाल को यह फोन सुबह 08 बजकर 26 मिनट पर आया जब वह पौड़ी गढ़वाल जिले के दुगडडा ब्लॉक में स्थित अपने गांव एता में अपने गेहूं के खेतों की तरफ घूमने गए थे.

उनके आनंद का तब ठिकाना न रहा जब दूसरी तरफ से उन्हें प्रधानमंत्री मोदी की आवाज सुनाई दी जो उनसे उनकी कुशल क्षेम पूछ रहे थे. प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे लगभग तीन मिनट तक बात की और इस दौरान अन्य बातों के अलावा दोनों ने अपनी बद्रीनाथ तथा श्रीनगर गढ़वाल की मुलाकातों को याद किया.

पीएम ने बौंठियाल से कही ये बात
बौंठियाल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने उन्हें बताया कि बुधवार को उन्होंने जनसंघ से जुड़े अपने कुछ पुराने मित्रों से बात की और इसी क्रम में उनसे भी बात कर रहे हैं. बकौल बौंठियाल मोदी ने कहा कि यह समय संकट का है इसलिए वह सभी से बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि किसी कार्यकर्ता के लिए यह बहुत बड़ा सम्मान है जब देश का प्रधानमंत्री स्वयं फोन करके उनका हालचाल पूछता है और मोदी की यही खूबी उन्हें जननायक बनाती है.
उत्तराखण्ड में बीजेपी के संस्थापकों में से एक रहे बौंठियाल 1958 में स्वयं सेवक के तौर पर संघ से जुड़ गए थे. दो साल बाद 1960 में वह जनसंघ से जुड़े ओर फिर 1980 में बीजेपी के सदस्य बने. आपातकाल के दौरान और उसके बाद राम जन्मभूमि आंदोलन और पृथक उत्तराखंड राज्य आंदोलन में भी उन्होंने सक्रिया भूमिका निभाई.



ये भी पढ़ें: COVID-19: उत्तराखंड में लगातार दूसरे दिन भी नहीं मिला नया पॉजिटिव केस, अब तक 23 हुए स्वस्थ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज