Home /News /delhi-ncr /

police arrested mahathag piyush tiwari turn onion merchant in nashik cheating thousand crore rupees in noida nodssp

हजारों करोड़ का महाठग, नासिक में नाम बदलकर बन गया था प्याज व्यापारी, जानें कैसे चढ़ा पुलिस के हत्थे

Fraud Piyush Tiwari Arrested: पुलिस की पूछताछ में आरोपी पीयूष तिवारी ने बताया कि वह महाराष्ट्र के नासिक में नाम बदलकर प्याज व्यापारी पुनीत भारद्वाज बनकर रह रहा था.

Fraud Piyush Tiwari Arrested: पुलिस की पूछताछ में आरोपी पीयूष तिवारी ने बताया कि वह महाराष्ट्र के नासिक में नाम बदलकर प्याज व्यापारी पुनीत भारद्वाज बनकर रह रहा था.

Fraud Piyush Tiwari Arrested: पुलिस की पूछताछ में आरोपी पीयूष तिवारी ने बताया कि वह महाराष्ट्र के नासिक में नाम बदलकर प्याज व्यापारी पुनीत भारद्वाज बनकर रह रहा था. उसने खुलासा किया कि उसने 2011 में एक बिल्डर के रूप में अपना व्यवसाय शुरू किया था. उसने 2018 तक 15-20 शैल कंपनी के साथ लगभग 8 कंपनियां बनाई थीं. 2016 में उनके घर पर आयकर छापेमारी की गई थी और लगभग 120 करोड़ रुपये थे. जो आईटी विभाग द्वारा जब्त कर लिया गया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. नार्थ दिल्ली जिला पुलिस की एंटी ऑटो थेफ़्ट यूनिट (AATS) टीम ने कुख्यात भू-माफिया को गिरफ्तार किया है, जिस पर धोखाधड़ी के मामले में 50 हजार का इनाम भी था. आरोपी पीयूष तिवारी ने नोएडा, यूपी में फ्लैट आवंटित करने के बहाने लगभग 1000 करोड़ रु की धोखाधड़ी (Cheating Thousand Crore in Noida) को अंजाम दिया. कोर्ट से उसे भगोड़ा भी घोषित किया था. आरोपी पीयूष तिवारी दिल्ली, यूपी और पंजाब के अलग अलग थानों में 30 से अधिक धोखाधड़ी के मामलों में वांटेड था. उसकी पत्नी शिखा भी धोखाधड़ी के मामलों में शामिल है और फिलहाल जेल में बंद है.

पीयूष तिवारी महाराष्ट्र के नासिक में नाम बदलकर प्याज व्यापारी पुनीत भारद्वाज बनकर रह रहा था. पूछताछ के दौरान उसने खुलासा किया कि उसने 2011 में एक बिल्डर के रूप में अपना व्यवसाय शुरू किया था. उसने 2018 तक 15-20 शैल कंपनी के साथ लगभग 8 कंपनियां बनाई थीं. 2016 में उनके घर पर आयकर छापेमारी की गई थी और लगभग 120 करोड़ रुपये थे. जो आईटी विभाग द्वारा जब्त कर लिया गया. इसके बाद उसका पतन शुरू हो गया और बिल्डर के रूप में उसका व्यवसाय ध्वस्त हो गया.

लोगों को इस तरह से शुरू किया ठगना

बाजार में खड़े होने के लिए उसने एक फ्लैट कई खरीदारों को बेचने के बहाने लोगों को ठगना शुरू कर दिया. इस पर उसके खिलाफ कई मामले दर्ज किए गए. आर्थिक अपराध शाखा में उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया. इसके बाद उसके खिलाफ और भी कई मामले दर्ज हुए और वह विभिन्न राज्यों के विभिन्न थानों में दर्ज 30 से अधिक धोखाधड़ी के मामलों में वांटेड था. इसके बाद आरोपी दिल्ली से भाग गया और नकली नाम से दक्षिण भारत में अपना आधार स्थानांतरित कर दिया और विभिन्न व्यवसायों को करने लगा, और गिरफ्तार हुआ. जो दिल्ली/एनसीआर में अपने फ्लैटों/भूखंडों की चाहत करने वाले  निर्दोष लोगों को ठगता था.

आरोपी तक ऐसे पहुंची दिल्ली पुलिस

सर्विलांस के आधार पर पता चला कि वह नासिक का रहने वाला है और प्याज का कारोबार करता है. पीयूष तिवारी@पुनीत भारद्वाज, 42 साल दिल्ली विश्वविद्यालय से वाणिज्य स्नातक हैं. वह मूल रूप से टॉवर-ए, ओमेक्स फॉरेस्ट स्पा, सेक्टर-93बी, नोएडा, यूपी में एक फ्लैट में रहता था. शुरुआत में उन्होंने दिल्ली एनसीआर में एक विज्ञापन एजेंसी शुरू की और बाद में उन्होंने एजेंसी को बेच दिया और नोएडा यूपी में फ्लैट बनाने में पैसा लगाया. संपत्ति की बिक्री/खरीद के बहाने भोले-भाले लोगों को धोखा देना शुरू कर दिया. उसने एक फ्लैट कई खरीदारों को बेच दिया और पैसा इकट्ठा किया.

उसके खिलाफ कई मामले दर्ज होने के बाद वह दिल्ली/एनसीआर से भाग गया और नासिक महाराष्ट्र में रहने लगा. नई पहचान के साथ पीयूष तिवारी ने पुनीत भारद्वाज का वेश बनाया है, लेकिन उसकी चालाकी काम नही आई और पुलिस ने उसे पकड़ लिया.

Tags: Delhi news update, Delhi police, NCR Fraud Case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर