लाइव टीवी

क्या एक ही है जामिया लाइब्रेरी में पत्थर लिए ये युवा और गोलीकांड में घायल हुआ छात्र? पुलिस कर रही है जांच
Delhi-Ncr News in Hindi

Anand Tiwari | News18Hindi
Updated: February 17, 2020, 1:29 PM IST
क्या एक ही है जामिया लाइब्रेरी में पत्थर लिए ये युवा और गोलीकांड में घायल हुआ छात्र? पुलिस कर रही है जांच
दिल्ली पुलिस की एसआईटी के सूत्रों के अनुसार, लाइब्रेरी में घुसे उपद्रवी छात्रों में से एक छात्र हाथ में पत्थर लिए नजर आ रहा है. यह वही छात्र है जिसके हाथ पर नाबालिग लड़के ने गोली चलाई थी.

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) विरोधी प्रदर्शन के दौरान जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia University) में हुई हिंसा को लेकर लगातार वीडियो सामने आ रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2020, 1:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली की प्रतिष्ठित जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय (Jamia Millia Islamia University) में CAA और NRC विरोधी प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के मामले लगातार नए  वीडियो सामने आ रहे हैं. इस बीच दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की एसआईटी से जुड़े सूत्रों ने दावा किया कि लाइब्रेरी में घुसे उपद्रवी छात्रों में से एक छात्र हाथ में पत्थर लिए नजर आ रहा है. सूत्रों की मानें तो यह वही छात्र है जो जामिया गोलीकांड में घायल हुआ था. 15 दिसंबर की तारीख को जामिया में हुई हिंसा में यह छात्र शामिल था. पुलिस सूत्रों का दावा है कि सीसीटीवी में वही छात्र हाथ में पत्थर लिए लाइब्रेरी में नजर आ रहा है. इस छात्र का नाम शादाब बताया जा रहा है. हालांकि दोनों तस्वीरें को देखने पर पुलिस के इन दावों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो पाई है. वहीं पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वह फिलहाल मामले की जांच कर रहे हैं.






पुलिस सूत्रों का कहना है सीसीटीवी में नजर आ रहे जिन-जिन छात्रों की पहचान हो रही है, उन्हें जल्द ही पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा. पुलिस सूत्रों का कहना है कि हाथ में पत्थर लिए छात्र का नाम शादाब फारूकी है.



यह है मामला
बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून पारित होने के तुरंत बाद जामिया मिलिया इस्‍लामिया के स्‍टूडेंट्स ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया था. विरोध में निकाला गया मार्च हिंसक हो गया था. इसके बाद दिल्‍ली पुलिस ने उपद्रवियों पर लाठी चार्ज किया था. उस समय पुलिस पर आरोप लगाया गया था कि उसने जामिया की लाइब्रेरी में बैठे विद्यार्थियों के साथ बर्बरता की थी. साथ ही पुलिस पर लाइब्रेरी में घुसकर तोड़फोड़ का भी आरोप लगाया गया था. पुलिस ने सफाई में कहा था कि छात्रों पर हल्‍का बल प्रयोग किया गया था.

जामिया को-ऑर्डिनेशन कमेटी ने भी जारी किया वीडियो
इसके बाद जामिया को-ऑर्डिनेशन कमेटी ने 49 सेकेंड का वीडियो जारी किया है, जिसमें पुलिस के जवान लाइब्रेरी में घुसकर वहां पढ़ रहे छात्रों पर लाठियां बरसाते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो के वायरल होने के बाद दिल्ली के विशेष पुलिस आयुक्त (क्राइम) प्रवीर रंजन ने कहा कि इस वीडियो की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. वहीं, जामिया यूनिवर्सिटी ने साफ किया कि यह वीडियो उनकी तरफ से जारी नहीं किया गया.

ये भी पढे़ं - 

CAA: शाहीन बाग प्रदर्शन मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

काशी महाकाल एक्सप्रेस से यात्रा कर महाकाल की नगरी पहुंचेंगे 'बाबा विश्वनाथ'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 11:32 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading