गुरुग्राम: एक करोड़ की रिश्वत मामले में बड़ी कार्रवाई, थाना प्रभारी और हेड कॉन्‍स्टेबल सस्पेंड

एक करोड़ का रिश्वत मांगने वाले थाना प्रभारी और हेड कांस्टेबल को पुलिस कमिश्नरेट के सस्पेंड कर दिया है.

एक करोड़ की रिश्वत (Bribe) के मामले में खेड़कीदौला थाना प्रभारी और हेड कांस्टेबल (Head Constable) को पुलिस कमिश्नरेट ने सस्पेंड (Suspend) कर दिया है. साथ ही दोनों पुलिसकर्मियों (Policemen) के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

  • Share this:
गुरुग्राम. एक करोड़ की रिश्वत (Bribe) के मामले में पुलिस कमिश्नरेट ने थाना प्रभारी (Station Incharge) और हेड कांस्टेबल (Head Constable) को सस्पेंड (Suspend) कर दिया है. इसके साथ ही विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए हैं. 28 दिसबर की रात को फरीदाबाद विजिलेंस टीम (Vigilance Team) ने खेड़कीदौला थाना के हेड कांस्टेबल (Head Constable) अमित को पांच लाख की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया था.

विजिलेंस को दी शिकायत में शिकायतकर्ता ने खेड़कीकला थाना प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाए थे. दिल्ली के व्यापारी ने अपनी शिकायत में थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विशाल और उसकी टीम पर उनको अवैध ढंग से गिरासत में लेकर एक करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने का आरोप लगाया था. उसके बाद से हेड कॉन्स्टेबल की गिरफ्तरी हुई थी और इंस्पेक्टर विशाल फरार था.

अब पुलिस कमिश्नरेट ने 1 करोड़ रिश्वत मामले में थाना प्रभारी और हेड कॉन्सटेबल को सस्पेंड कर इनके खिलाफ विभागीय कार्यवाही के आदेश जारी कर दिए हैं. दरअसल बीती 28 दिसम्बर 2020 को फरीदाबाद विजिलेंस टीम ने खेड़कीदौला थाना के हेड कॉन्स्टेबल अमित को 5 लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था...विजिलेंस को दी शिकायत में शिकायतकर्ता ने खेड़कीदौला थाना प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाई थी कि कैसे थाना प्रभारी इंस्पेक्टर विशाल और उनकी टीम ने दिल्ली के व्यापारी को अवैध तौर पर हिरासत में ले 1 करोड़ की रिश्वत की डिमांड की थी.

नौकरानी ने काम के पैसे मांगे तो मालकिन ने कर दी पिटाई, देखें Photos

वहीं इस मामले में डीसीपी मानेसर धीरज सेतिया की मानें तो मामला सामने आते ही दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दोनों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं. दरअसल दिल्ली के ओम विहार उत्तम नगर के रहने वाले नवीन भूटानी ने फरीदाबाद विजिलेंस को शिकायत दी थी कि गुरुग्राम के खेड़कीदौला थाना प्रभारी और उनके साथ आये हेड कॉन्स्टेबल अमित और अन्य सिविल में आये पुलिसकर्मियों ने गुरुग्राम के अप्पू घर मे उसके साथ मारपीट की और अवैध तौर पर हिरासत में रख उसे छोड़ने की एवज में 1 करोड़ की रिश्वत की मांग कर डाली.

नवीन भूटानी ने यह भी शिकायत दी कि 57 लाख रिश्वत देने के बावजूद इंस्पेक्टर विशाल उनका लैपटॉप उन्हें सौंपने को तैयार नहीं था, जिसके बाद मानसिक प्रताड़ना झेलने के बाद उन्होंने फरीदाबाद विजिलेंस को शिकायत दी. आपको बता दें कि इंस्पेक्टर विशाल को 11 जुलाई  2020 को खेड़कीदौला थाने के प्रभारी का कार्यभार दिया गया था. हालांकि इस मामले में जांच भी शुरुआती दौर में है, लेकिन इस शर्मनाक रिश्वत कांड में पुलिस की साख पर बड़ा सवालिया निशान जरूर खड़ा हो गया है कि कैसे कुछ पुलिसकर्मी और अधिकारी खाकी के रौब से व्यपारियों को न केवल परेशान करने में जुटे हैं बल्कि झूठे मामलो में फंसाने की धमकी दे उनसे मोटी रिश्वत वसूलने में लगे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.