लाइव टीवी

कच्ची कॉलोनियों और पानी की समस्या से जूझते बदरपुर में AAP और बीजेपी के बीच सियासी घमासान
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 11, 2020, 10:39 AM IST
कच्ची कॉलोनियों और पानी की समस्या से जूझते बदरपुर में AAP और बीजेपी के बीच सियासी घमासान
कच्ची कॉलोनियों और पानी की समस्या से जूझते बदरपुर में AAP और बीजेपी के बीच सियासी घमासान (डिजाइन इमेज)

BJP की ओर से बदरपुर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) की रैली भी हुई, शाहीन बाग को लेकर बयानबाजी भी हुई लेकिन हिंदू वोटों का ध्रुवीकरण होता नहीं दिखा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2020, 10:39 AM IST
  • Share this:
(खुर्रम शाहजाद)

नई दिल्ली. बदरपुर (Badarpur) दिल्ली के बॉर्डर इलाके की विधानसभा सीट है. इस विधानसभा को भी कच्ची कॉलोनियों की विधानसभा कहा जा सकता है यहां पर गुज्जर समुदाय (Gujjar community) राजनीतिक तौर पर ज्यादा सक्रिय है जबकि आम लोग छोटे व्यापारी और छोटी-मोटी नौकरी करने वाले लोग हैं. विधानसभा के क्षेत्र को देखा जाए तो बदरपुर जैतपुर मीठापुर और खड्डा कॉलोनी जैसे इलाके इस विधानसभा के तहत आते हैं.

क्षेत्र के खास मुद्दे
क्षेत्र के बड़े मुद्दों में विधानसभा में किसी सरकारी अस्पताल और सरकारी स्कूलों की कमी के साथ-साथ पीने का पानी का मुद्दा अहम है. हालाकि यहां पर सड़कों की हालत काफी बेहतर है, फिर भी ट्रैफिक जाम का मसला बना रहता है. इसी के साथ साथ क्षेत्र का एक बड़ा मुद्दा ओ-जोन क्षेत्र के तहत निर्माण गतिविधियां भी है. जमुना के किनारे बसे होने के कारण काफी बड़ा इलाका ओ-जोन के तहत आता है जिसकी वजह से निर्माण कार्य नहीं हो सकता. ओ-जोन उस इलाके को कहते हैं जहां निर्माण के काम पर दिल्ली सरकार ने रोक लगा रखी है. खासतौर से यमुना के आस पास के इलाके पर इस तरह की रोक लागू होती है. इसकी सीमा नदी से कितने मीटर तक की होनी चाहिए इसे लेकर भी वाद विवाद चलते रहते हैं.

कांग्रेस छोड़ AAP में शामिल हुए थे राम सिंह
ऐसे में नेताओं की ओर से ओजोन हटवाने के बाद एक ही रहे हैं क्षेत्र का राजनीतिक समीकरण उस समय उलझ गया था जब कांग्रेस से पिछली बार चुनाव लड़ने वाले राम सिंह नेताजी ने कांग्रेस पर ड्राइंग रूम पार्टी होने का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया. बाद में उनको मौजूदा विधायक नारायण दत्त शर्मा का टिकट काटकर आम आदमी पार्टी ने उम्मीदवार भी बनाया राम सिंह नेता इससे पहले बीएसपी और कांग्रेस से विधायक रह चुके हैं, जबकि उनके सामने बीजेपी से रामवीर सिंह बिधूड़ी की चुनौती थी हालांकि रामवीर सिंह बिधूड़ी भी बदरपुर विधानसभा क्षेत्र से एनसीपी के टिकट पर जीत चुके हैं. क्षेत्र में काफी विकास कार्य से सड़कों के निर्माण का श्रेय रामवीर सिंह बिधूड़ी को ही जाता है, मौजूदा विधायक नारायण दत्त शर्मा भी बसपा के टिकट पर मैदान में थे लेकिन जनता ने उन पर भरोसा नहीं जताया.

योगी आदित्यनाथ की रैलीभारतीय जनता पार्टी की ओर से बदरपुर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली भी हुई, शाहीन बाग को लेकर बयानबाजी भी हुई लेकिन हिंदू वोटों का ध्रुवीकरण होता नहीं दिखा. इसी क्षेत्र के तहत आने वाले खड्डा कॉलोनी में मुस्लिम वोट बीजेपी के विरोध में कहा जाय या फिर आम आदमी पार्टी के समर्थन में एकजुट होते दिखते हैं.

ये भी पढ़ें: बदरपुर विधानसभा चुनाव परिणाम, इलेक्शन रिजल्ट २०२० - रामवीर सिंह बिधूड़ी पीछे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 10:39 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर