Delhi-NCR में सर्दी के मौसम के साथ ही गाजियाबाद में बढ़ा प्रदूषण का स्तर

दिल्ली-एनसीआर में ठंड बढ़ने के साथ ही प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है.
दिल्ली-एनसीआर में ठंड बढ़ने के साथ ही प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है.

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में सर्दी के साथ ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़ने लगा है. आज सुबह गाजियाबाद (Ghaziabad) में पॉल्यूशन (Pollution) का स्तर रेड जोन पर पहुंच गया. इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 1:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में सर्दी ने दस्तक दे दी है. इसी के साथ ही दिल्ली-एनसीआर समेत गाजियाबाद (Ghaziabad) में भी पॉल्यूशन (Pollution) बढ़ने लगा है. गाजियाबाद में आज सुबह हल्की-हल्की धुंध (Mist) देखने को मिली, जिसके चलते दोपहिया वाहन चालकों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा.

सुबह जो लगो टहलने निकले थे उनको आंखों में जलन महसूस हुई है. वहीं दमा औक श्वास रोगियों ने बताया कि सांस लेने में समस्या शुरू हो गई है. गाजियाबाद के AQI लेवल आज रेड जोन में रहा , जो 381 दर्ज किया गया. शुरुआती दौर में जिस तरीके से पॉल्यूशन लोगों को परेशान कर रहा है इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि आने वाले दिनों में यह परेशानी बहुत बढ़ने वाली है. गाजियाबाद में इस प्रदूषण का खामियाजा सबसे ज्यादा छोटे बच्चे और बुजुर्गों को भुगतना पड़ेगा. हालांकि 15 तारीख से गाजियाबाद में गृह सिस्टम लागू कर दिया गया है, बावजूद इसके पॉल्यूशन थमने का नाम नहीं ले रहा है.

वहीं राजधानी दिल्ली में भी वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है. दशहरा के मौके पर रावण दहन और पटाखों को जलाने की वजह से प्रदूषण का स्तर बढ़ा है. रविवार शाम 6 बजे के बाद प्रदूषण मापने के पांच निगरानी केन्द्रों पर प्रदूषकों की सांद्रता दोगुनी हो दर्ज का गई है. बता दें कि त्‍योहार के मौके पर दिल्ली में वायु प्रदूषण के बढ़ने का खतरा रहता है. आगे दीवाली आने वाला है और दीवाली पर दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बहुत बढ़ जाता है.
बता दें कि दिल्ली के पटपड़गंज, इंडिया गेट, द्वारका, नजफगढ़ और मुंडका में प्रदूषण नियंत्रण के पांच मॉनिटरिंग स्टेशन हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यहां रविवार की शाम को दशहरा उत्सव के तहत पटाखे जलाने और रावण दहन के बाद अचानक पीएम 2.5 और 10 माइक्रोमीटर (पीएम 2.5, पीएम 10) के कण में अचानक बढ़ोत्‍तरी दर्ज की गई. इसकी वजह आतिशबाजी को बताया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज