कोरोना थर्ड वेव की आशंका, जिलों के कोविड केयर सेंटर बनने लगे अब 'चाइल्ड केयर सेंटर'

कोविड केयर सेंटर्स को चाइल्ड केयर सेंटर में तब्दील करने का काम भी शुरू कर दिया है.

कोविड केयर सेंटर्स को चाइल्ड केयर सेंटर में तब्दील करने का काम भी शुरू कर दिया है.

Covid 19: दिल्ली सरकार के सभी 11 जिलों के अंतर्गत कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं. लेकिन अब मरीजों की संख्या कम होने के चलते जिलों में इन सेंटरों को 'चाइल्ड केयर सेंटर' में तब्दील करने की कार्रवाई की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 11, 2021, 11:29 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Corona virus) से बिगड़े हालात अब सुधरने लगे हैं. लॉकडाउन (Lockdown) के साथ-साथ अब अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है. लेकिन थर्ड वेव की संभावना के चलते दिल्ली सरकार (Delhi Government) काफी गंभीर है.

सरकार ने जहां अस्पतालों की स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने की योजना पर काम शुरू कर दिया है. वहीं, कोविड केयर सेंटर्स (COVID Care Centres) को चाइल्ड केयर सेंटर (Child Care Centre) में तब्दील करने का काम भी शुरू कर दिया है.

दिल्ली सरकार के सभी 11 जिलों के अंतर्गत कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं. लेकिन अब मरीजों की संख्या कम होने के चलते इन सेंटरों को चाइल्ड केयर सेंटर में तब्दील करने की कार्रवाई की जा रही है.

बताते चलें कि विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना की आने वाली थर्ड वेव बच्चों के लिए काफी घातक हो सकती है. इसमें बड़ी संख्या में बच्चों को चपेट में लेने की संभावना जताई जा रही है. इसके चलते दिल्ली सरकार जहां अपने अस्पतालों में ज्यादा से ज्यादा चाइल्ड केयर फैसिलिटी की व्यवस्था कर रही है. वहीं, मौजूदा कोविड-19 सेंटर को भी जिला प्रशासन धीरे- धीरे चाइल्ड केयर सेंटर में तब्दील करने में जुट गया है.
दिल्ली सरकार के साउथ-वेस्ट जिला प्रशासन की ओर से इस संबंध में आदेश जारी करते हुए आम लोगों को भी सूचित किया गया है कि 6 कोविड केयर सेंटर को अब चाइल्ड केयर सेंटर के रूप में तब्दील कर दिया गया है. इन सभी कोविड सेंटर को नोडल ऑफिसर आईएएस सर्जना यादव के निरीक्षण में तबदील किया गया है.

साउथ-वेस्ट जिला के अंतर्गत चलने वाले यह कोविड-19 सेंटर द्वारका के सेक्टर 9 स्थित कम्युनिटी सेंटर में 40 बेड, एसडीएमसी स्कूल नजफगढ़ में 15 बेड, एसडीएमसी स्कूल ककरोला में 20 बेड, एसडीएमसी स्कूल सागरपुर में 15 बेड, एसडीएमसी स्कूल महावीर एंक्लेव में 16 बेड और एसडीएमसी स्कूल नवादा में 20 बेड की चाइल्ड केयर फैसिलिटी दी गई है.

Youtube Video



जिला प्रशासन की मानें तो इन सभी कोविड-19 केयर सेंटर्स पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और ऑक्सीजन सिलेंडर व मेडिकल स्टाफ की पूर्णतः व्यवस्था की गई है. साथ ही खाने की व्यवस्था भी यहां पर जिला प्रशासन की ओर से की गई है. वहीं, सैनिटाइजेशन का पूरा ख्याल भी यहां पर रखा जा रहा है.

जिला प्रशासन ने यह भी अवगत कराया है कि इन सभी कोविड-19 सेंटर को चाइल्ड केयर सेंटर में तब्दील करने के बाद सभी बच्चों को उचित चिकित्सा और देखभाल करने की व्यवस्था यहां की गई है. वहीं, इन सभी सेंटरों पर दाखिला लेने पर किसी प्रकार का कोई चार्ज नहीं देना होगा. यह पूरी तरीके से निःशुल्क रहेगा. जिला प्रशासन की ओर से यह साफ और स्पष्ट किया गया है कि यह सभी तैयारियां कोरोना की थर्ड वेव की संभावना के मद्देनजर की गई हैं.

बताते चलें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अभी हाल ही में एक्सपर्ट्स और डॉक्टर के साथ मीटिंग की थी. थर्ड वेव के दौरान हर रोज 37,000 मामले आने की संभावना जताई गई है. वहीं, कोरोना की थर्ड वेव के बच्चों के लिए भी काफी घातक होने की संभावना है. दिल्ली सरकार इन सभी के चलते स्वास्थ्य सिस्टम को और दुरुस्त करने का काम कर रही है.

इन अस्पतालों में मदर एंड चाइल्ड केयर नए ब्लॉक हो रहे तैयार

लोक नायक जयप्रकाश अस्पताल (LNJP Hospital) में 1500 बेड का एक नया ब्लाक भी विशेषकर जच्चा-बच्चा देखभाल के लिये तैयार किया जा रहा है. इसी तरह, रोहिणी स्थित बाबा साहेब डाॅ. अंबेडकर अस्पताल में मदर एंड चाइल्ड केयर को समर्पित 463 बेड क्षमता का एक नया ब्लाॅक भी बनाया जा रहा है. चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में भी बड़े बदलाव बच्चों की चिकित्सा सुविधा को लेकर स्वास्थ्य सेवाओं में किए जा रहे हैं. श्री दादा देव मैत्री एवं शिशु चिकित्सालय में खास इंतजाम किये जा रहे हैं.

आने वाले समय में ये अस्पताल बनेगा कोविड डेडिकेटेड

आचार्य श्री भिक्षु अस्पताल में 270 बेड का नया ब्लॉक बनाया जा रहा है जिसको अब बढ़ाकर 400 बेड करने के निर्देश दिए गए हैं. आने वाले समय में इन 400 बेड्स को पूरी तरीके से कोविड-19 डेडिकेटेड किया जा सकेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज