Ghaziabad News-  सीएचसी और पीएचसी में शुरू होगी पोस्‍ट कोविड ओपीडी, जानें सुविधाएं

कोरोना से ठीक होने के बाद मरीज जांच कर सकेंगे

कोरोना से ठीक होने के बाद मरीज जांच कर सकेंगे

गाजियाबाद स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने फैसला किया है कि पोस्‍ट कोविड ओपीडी अब सीएचसी और पीएचसी में शुरू की जाएगी. अभी तक यह ओपीडी केवल जिला अस्‍पताल में चल रही थी.

  • Share this:

गाजियाबाद. कोरोना (Corona) के बाद होने वाली बीमारियों से मरीज (Patient) को बचाने के लिए जिला अस्‍पताल के अलावा ग्रामीण इलाकों में पोस्‍ट कोविड (Post covid) ओपीडी (OPD) शुरू की जाएगी. स्‍वास्‍थ्‍य विभाग जिले की सीएचसी और पीएचसी में यह सुविधा देने की तैयारी कर रहा है, जहां पर कोरोना से ठीक हो चुके मरीज अपनी जांच करा सकेंगे. अभी तक पोस्‍ट कोविड ओपीडी केवल जिला अस्‍पताल में है. इस वजह से ग्रामीण इलाकों के लोगों को उपचार के लिए शहर आना पड़ता है,इसलिए आकर जांच कराने से बचते हैं.

जिले के सीएमओ डा. एनके गुप्‍ता ने बताया कि मौजूदा समय कोरोना से ठीक होने के बाद लोगों में दूसरी बीमारियां हो रही हैं. इसमें ब्‍लैक  फंगस, व्‍हाइट फंगस, त्‍वचा, दिल संबंधी व अन्‍य बीमारी शामिल हैं. कोरोना की चपेट में आए लोग लगातार स्‍टेरॉयड खाने से और रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने से इन बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं. यही वजह है कि कोरोना से ठीक होने के बाद मरीज दूसरी बीमारियों के शिकार हो रहे हैं. डा. एनके गुप्‍ता ने बताया कि पोस्‍ट कोविड ओपीडी अब सीएचसी और पीएचसी में दोनों जगह चालू की जाएंगी, जिससे कोरोना से ठीक हुए लोगों की जांच कर पता लगाया जा सके कि किसी अन्‍य बीमारी की चपेट में तो नहीं आ रहे हैं. उसका उपचार किया जा सकेगा.

जिले में ब्‍लैक फंगस के 41 एक्टिव मरीज

जिले में अब तक ब्लैक फंगस के 53 मरीज सामने आ चुके हैं. इनमें से 12 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं और 41 मरीजों का विभिन्‍न अस्पतालों में उपचार चल रहा है. ब्लैक फंगस के नोडल अधिकारी डॉ. सुनील त्यागी ने बताया कि रविवार को ब्लैक फंगस का कोई नया मरीज नहीं मिला है. जो मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं , उनकी हालत स्थिर है. डॉ. त्यागी के अनुसार सफेद फंगस सामान्य बीमारी है जो अक्सर लोगों को होती है. कोरोना के बाद इस बीमारी को लेकर लोगों में डर का माहौल जरूर है, लेकिन यह घातक नहीं है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज