अपना शहर चुनें

States

'देशभक्‍त गोडसे' से लेकर 'औरंगजेब कांग्रेस के पूर्वज हैं', यहां पढ़ें प्रज्ञा ठाकुर के अब तक के विवादित बयान

साध्वी प्रज्ञा (Sadhvi Pragya) आज पहली बार चर्चा में नहीं आई हैं. उनका विवादों से पुराना नाजा रहा है. इसके पहले भी साध्वी कई विवादित हास्यास्पद बयाव दे चुकी हैं,

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 12:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीजेपी (BJP) सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Sadhvi Pragya Thakur) एक बार फिर विवादित बयान देकर चर्चा में आ गई हैं. इस बार उन्होंने लोकसभा (Lok Sabha) में चर्चा के दौरान विवाद टिप्पणी की है, जिसके बाद वहां कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया.

लोकसभा में एसपीजी अमेंडमेंट बिल पर चर्चा के दौरान डीएमके के सांसद ए राजा ने गोडसे के एक बयान का हवाला दे रहे थे. ए. राजा बोल रहे थे कि गोड़से ने महात्मा गांधी को क्यों मारा तभी साध्वी प्रज्ञा ने उन्हें टोक दिया. बीजेपी सांसद ने कहा, 'आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते.' इसके बाद लोकसभा में उनके बयान की निंदा हुई. कांग्रेस ने इस बयान को लेकर हंगामा किया.

साध्वी प्रज्ञा आज पहली बार चर्चा में नहीं आई हैं. उनका विवादों से पुराना नाजा रहा है. इसके पहले भी साधवी कई विवादित हास्यास्पद बयाव दे चुकी हैं, जिनको लेकर पहले भी बहुत हंगामा हुआ था. आज हम आपको उनके पुराने कुछ बयानों के बारे में बता रहे हैं.



26 अगस्त 2019
साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि 'एक बार एक महाराज जी ने मुझसे कहा था कि हमारा खराब समय चल रहा है और विपक्ष कुछ कर रहा है. वह भाजपा के खिलाफ मारक शक्ति का प्रयोग कर रहा है. मैं उनकी कही बात को बाद में भूल गई थी, लेकिन जब मैं अपने वरिष्ठ नेताओं को एक के बाद एक दुनिया से जाते हुए देख रही हूं तो मुझे महाराज जी की बात पर सोचने पर मजबूर होना पड़ा है. क्या वह सही थे?' साध्वी ने कहा था कि महराज ने उनको चेताते हुए कहा कि इस मारक शक्ति का प्रयोग भाजपा के कर्मठ और जिम्मेदार नेताओं पर हो सकता है और उनको हानि पहुंचाई जा सकती है.

21 जुलाई 2019
साध्वी प्रज्ञा ने कहा था 'हम नाली साफ करवाने के लिए नहीं बने हैं. हम आपका शौंचालय साफ करने के लिए बिल्कुल नहीं बनाए गए हैं. हम जिस काम के लिए बनाए गए हैं, वो काम हम ईमानदारी से कर रहे हैं.'

16 मई 2019
साध्वी ने नाथूराम गोडसे को देशभक्‍त बताया था. साध्‍वी प्रज्ञा ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि नाथूराम गोडसे देश भक्‍त थे, देश भक्‍त हैं और देश भक्‍त रहेंगे. प्रज्ञा की ये टिप्पणी कमल हासन द्वारा नाथूराम गोडसे को पहला 'हिंदू आतंकवादी' बताने वाले बयान पर आई थी.

8 मई 2019
साध्वी प्रज्ञा ने कांग्रेस नेता संजय निरुपम के बयान पर पलटवार करते हुए कहा था कि औरंगजेब कांग्रेसियों के पूर्वज हैं. उन्होंने कहा कि औरंगजेब उनके और कांग्रेसियों के पूर्वज हैं.

21 अप्रैल 2019
बाबरी मस्जिद का विवादित ढांचा गिराने के सवाल पर साध्वी ने कहा था, 'मैं भी गई थी, ढांचे को तोड़ा था और अब भव्य राम मंदिर बनाने भी जाऊंगी. कोई मुझे राम मंदिर बनाने से नहीं रोक सकता.'

19 अप्रैल 2019
साध्वी प्रज्ञा ने कहा था, 'हेमंत करकरे की आतंकवादियों द्वारा हत्या उनके कर्मों की सजा है. क्योंकि उन्होंने मुझे गलत तरीके फंसाकर था.'

साध्वी ने कहा था, 'आपको विश्वास नहीं होगा, लेकिन मैंने उसे कहा कि तेरा सर्वनाश होगा. जब किसी के यहां मृत्यु या जन्म होता है तो ठीक सवा महीने में सूतक लगता है. जिस दिन मैं गई थी, उस दिन सूतक लग गया था और जिस दिन आतंकवादियों ने उसे मारा, सूतक खत्म हो गया था'

 

 

ये भी पढ़ें- लोकसभा में बोले राजनाथ सिंह- गोडसे की तारीफ कतई मंजूर नहीं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज