Home /News /delhi-ncr /

Corona Vaccine- दिल्‍ली में सार्वजनिक स्‍थलों में बगैर वैक्‍सीन ‘नो एंट्री’ की तैयारी, जानें सरकार का प्‍लान?

Corona Vaccine- दिल्‍ली में सार्वजनिक स्‍थलों में बगैर वैक्‍सीन ‘नो एंट्री’ की तैयारी, जानें सरकार का प्‍लान?

बगैर वैक्‍सीन सार्वजनिक स्‍थलों में नो एंट्री . (सांकेतिक फोटो)

बगैर वैक्‍सीन सार्वजनिक स्‍थलों में नो एंट्री . (सांकेतिक फोटो)

New Variants Omicron News: Corona के New Variants Omicron की संभावना को देखते हुए Delhi Government ने तैयारी शुरू कर दी है. सरकार ने दिल्‍ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) को सार्वजनिक स्‍थलों पर बगैर कोरोना वैक्‍सीन वालों को प्रवेश नहीं देने का प्रस्‍ताव दिया है. इसके तहत दिल्‍ली मेट्रो, बस, मॉल,मल्‍टीप्‍लेक्‍स, धार्मिक स्‍थल, रेस्‍त्रां, स्‍मारकों, पार्क, सरकारी और सार्वजनिक कार्यालयों में 15 दिसंबर से बगैर वैक्‍सीन वालों के प्रवेश में प्रतिबंध लगाया जा सकता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. कोरोना (Corona) के नए वेरिएंट ओमिक्रोन (New Variants Omicron) की संभावना को देखते हुए दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) ने तैयारी शुरू कर दी है. सरकार ने दिल्‍ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) को सार्वजनिक स्‍थलों पर बगैर कोरोना वैक्‍सीन वालों को प्रवेश नहीं देने का प्रस्‍ताव दिया है. इसके तहत दिल्‍ली मेट्रो, बस, मॉल, मल्‍टीप्‍लेक्‍स, धार्मिक स्‍थल, रेस्‍त्रां, स्‍मारकों, पार्क, सरकारी और सार्वजनिक कार्यालयों में 15 दिसंबर से बगैर वैक्‍सीन वालों के प्रवेश में प्रतिबंध लगाया जा सकता है.

    प्रस्‍ताव में यह भी सुझाव दिया गया है कि वैक्‍सीन लगवाने वालों को पुरस्‍कार या छूट देकर प्रोत्‍साहित किया जाए. इसके अलावा उन लोगों के सार्वजनिक स्‍थलों पर प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया जाए, जिन्‍हें 31 मार्च 2022 तक वैक्‍सीन की सिंगल डोज लगी हो. इसमें यह भी सुझाव है कि यूरोपीय देशों में बनाई गई पासपोर्ट प्रणाली पर भी गौर करना चाहिए. इस तरह की प्रणाली यहां पर भी विकसित करनी चाहिए. हालंकि डीडीएमए की बैठक में सार्वजनिक स्‍थलों पर बगैर वैक्‍सीन के लोगों के प्रतिबंध पर कोई निर्णय नहीं हो पाया है. कई अधिकारियों ने इस सुझाव का समर्थन किया है.

    एक अधिकारी ने मानना है कि इस तरह के प्रतिबंधों को लागू करना मुश्किल नहीं होगा, क्योंकि इस व्‍यवस्‍था में वैक्‍सीन के प्रमाणपत्रों का इस्तेमाल किया जा सकता है. अधिकारी के अनुमसार यदि प्रस्ताव को स्वीकृति मिलती है, तो लोगों को सावर्जनिक स्‍थलों पर प्रमाण पत्र ले जाना होगा. यह प्रमाणपत्र आरोग्‍य सेतु में भी होता है, जिसे दिखाकर प्रवेश दिया जा सकता है. डीडीएमए की बैठक में ओमिक्रोन पर फोकस रहा. कोरोना महामारी को रोकने के लिए वैक्‍सीन पात्र लोगों तक पहुंचाने पर चर्चा हुई.

    केरल सरकार ने किया था ऐसा प्रयोग
    केरल में अक्‍तूबर माह में बगैर वैक्‍सीन के शैक्षणिक संस्थानों और हॉस्टलों में प्रवेश करने से रोक लगा दी गई थी. हालांकि कुछ लोगों ने इस आदेश को केरल हाईकोर्ट में चुनौती दी थी. याचिकाकर्ताओं ने तर्क दिया था कि उन्होंने प्रतिकूल प्रभावों के डर से वैक्सीन नहीं लगाई है. अदालत ने केरल सरकार के आदेश को बरकरार रखते हुए कहा था कि कोरोना वायरस महामारी जैसी परिस्थितियों में जनहित को प्राथमिकता दी जानी चाहिए.

    Tags: Corona vaccine, Delhi, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर