दिल्ली में कोरोना वैक्सीन लगाने हॉस्पिटल के नाम तय, मेदांता समेत 56 निजी अस्पतालों में लगा सकते हैं टीका

सांकेतिक फोटो (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

सांकेतिक फोटो (फोटो सौ. न्यूज18 इंग्लिश)

Delhi News: दिल्ली (Delhi) में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाने के लिए 56 निजी अस्पतालों (Hospital) के नाम तय किए गए हैं. इन नामों की सूची केन्द्र सरकार ने जारी कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 10:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) लगाने के लिए 56 निजी अस्पतालों (Hospital) के नाम तय किए गए हैं.  इन नामों की सूची केन्द्र सरकार ने जारी कर दी है.  इसमें मेदांता, सर गंगाराम के नाम शामिल हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बीते शनिवार को देशभर के उन निजी अस्पतालों की राज्यवार सूची जारी की, जहां कोरोना वैक्सीन लगाई जा सकती है.  इसमें दिल्ली, नई दिल्ली, नॉर्थ दिल्ली, ईस्ट दिल्ली के कई नामी निजी अस्पताल भी शामिल हैं.  यहां फिलहाल यहां सरकार द्वारा तय कीमत अदा कर वैक्सीन लगावाई जा सकती है. हालांकि इसके लिए तय दिशानिर्देशों का पालन करना भी अनिवार्य होगा.

बता दें कि केंद्र सरकार ने कोरोना वैक्सीन की एक खुराक की कीमत 250 रुपये निर्धारित की है. ये वैक्सीन 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए निजी अस्पतालों में उपलब्ध होगी.

Delhi Vaccine 1200 by Saad Bin Omer on Scribd




एक मार्च से शुरू हो रहा अभियान

गौरतलब है कि टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण एक मार्च से शुरू हो जाएगा. सरकार ने फैसला किया है कि लोगों को सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीका लगाया जाएगा. वैक्सीन की एक खुराक के लिए कॉस्ट-ब्रेकअप 150 रुपये बताई जा रही है और इसमें सेवा शुल्क के रूप में 100 रुपये और जुड़ जाएंगे और फिर निजी अस्पताल लाभार्थियों से कीमत वसूलेंगे.  सूत्रों के मुताबिक यह निर्णय राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा लिया गया है.  इस संबंध में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को सूचना भेजने की कवायद भी शुरू कर दी गई है. हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स के बाद, कोविड-19 महामारी के खिलाफ टीकाकरण का तीसरा चरण मार्च की शुरुआत में 10,000 सरकारी और 20,000 से अधिक निजी टीकाकरण केंद्रों में 27 करोड़ लोगों को कवर करने के लिए शुरू हो रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज