प्राइवेट नर्सिंग होम और अस्पतालों की दरें समान नहीं हो सकतीं: कोर्ट
Delhi-Ncr News in Hindi

प्राइवेट नर्सिंग होम और अस्पतालों की दरें समान नहीं हो सकतीं: कोर्ट
प्राइवेट नर्सिंग होम और अस्पतालों की दरें समान नहीं हो सकतीं: कोर्ट (प्रतिकात्मक फोटो)

जनहित याचिका में दिल्ली सरकार (Delhi Government) को राष्ट्रीय राजधानी (National Capital) में प्राइवेट नर्सिंग होम (Private Nursing Home) और अस्पतालों (Hospital) की दरों में एकरूपता लाने के लिए अधिसूचना जारी करने का निर्देश देने की मांग की गयी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2019, 5:14 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने कहा है कि प्राइवेट नर्सिंग होम (Private Nursing Home) और अस्पतालों (Hospital) की दरों में समानता नहीं हो सकती क्योंकि रोगों की प्रकृति तथा प्रकार एवं इलाज की गुणवत्ता पर यह निर्भर करता है. चीफ जस्टिस डी.एन. पटेल और जज सी हरिशंकर की पीठ ने कहा कि किसी प्राइवेट नर्सिंग होम या अस्पताल द्वारा वसूला गया बिल उसमें उपलब्ध सुविधाओं पर भी निर्भर करता है.

पीठ ने एक जनहित याचिका को खारिज करते हुए यह बात कही. जनहित याचिका में दिल्ली सरकार को राष्ट्रीय राजधानी में प्राइवेट नर्सिंग होम और अस्पतालों की दरों में एकरूपता लाने के लिए अधिसूचना जारी करने का निर्देश देने की मांग की गयी थी. अदालत ने कहा, 'रोगियों द्वारा किये जाने वाले भुगतान के संबंध में सभी प्राइवेट नर्सिंग होम और अस्पतालों की तुलना नहीं की जा सकती.'

एक बार फिर ख़राब श्रेणी में पहुंचा दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक
वहीं हवा की दिशा बदलकर पश्चिमोत्तर होने के कारण राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (National Capital Delhi) का वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) रविवार को एक बार फिर गिरकर ‘बहुत खराब’ श्रेणी में पहुंच गया है. इसका एक कारण यह भी है कि पराली जलाए जाने की घटनाओं में फिर बढ़ोतरी दर्ज की गई है.



रविवार शाम चार बजे 321 दर्ज किया गया वायु गुणवत्ता सूचकांक


सरकार की वायु गुणवत्ता निगरानी और पूर्वानुमान सेवा ‘सफर’ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक मंगलवार को ‘गंभीर’होने की आशंका है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central Pollution Control Board) ने दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक रविवार शाम चार बजे 321 दर्ज किया जो शनिवार के 283 से अधिक है. इससे पहले गुरुवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) शाम चार बजे 309 था. यह बुधवार रात साढ़े नौ बजे 342 तक पहुंच गया था.

(एजेंसी इनपुट के साथ)
ये भी पढ़ें: 

हरियाणा मंत्रिमंडल विस्तार: 12 नवंबर को शपथ ले सकते हैं नए मंत्री

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर कांग्रेस में गतिविधियां तेज
First published: November 11, 2019, 5:14 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading