Home /News /delhi-ncr /

कोरोना काल के बाद क्या दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों से सरकारी स्कूलों की तरफ छात्रों का हो रहा है पलायन?

कोरोना काल के बाद क्या दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों से सरकारी स्कूलों की तरफ छात्रों का हो रहा है पलायन?

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मौजूदा सत्र में 2.36 लाख ऐप्लिकेशन मिली है, जो पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है. (फाइल फोटो)

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मौजूदा सत्र में 2.36 लाख ऐप्लिकेशन मिली है, जो पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है. (फाइल फोटो)

केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) का दावा है कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों की शिक्षा पहले की तुलना में बेहतर हो गई है. इसलिए प्राइवेट स्कूलों के छात्र भी अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में दाखिला ले रहे हैं. वहीं, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार का दावा है कि दिल्ली सरकार निजी स्कूलों के 1.60 लाख छात्रों को सरकारी स्कूलों में दाखिला देने पर अपनी पीठ थपथपा रही है, जबकि सच्चाई यह है कि कोविड के कारण आर्थिक तंगी झेल रहे दिल्लीवासियों ने बच्चों को शिक्षा देने की बजाए जिंदा रहने को प्राथमिकता दी.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्ली. दिल्ली के सरकारी स्कूलों (Government Schools) में दाखिला के लिए इस बार तकरीबन ढाई लाख आवेदन मिले हैं. यह संख्या पिछले साल के मुकाबले कहीं ज्यादा है. अकैडमिक सेशन 2021-22 के लिए अब तक नर्सरी से लेकर कक्षा 12 तक 1.58 लाख से भी ज्यादा छात्रों ने दाखिला भी ले लिया है. इस रिकॉर्ड पर केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) का दावा है कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों की शिक्षा (Education) पहले की तुलना में बेहतर हो गई है. इसलिए प्राइवेट स्कूलों के छात्र भी अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में दाखिला ले रहे हैं. वहीं, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार (Chaudhary Anil kumar) का दावा है कि दिल्ली सरकार निजी स्कूलों के 1.60 लाख छात्रों को सरकारी स्कूलों में दाखिला देने पर अपनी पीठ थपथपा रही है, जबकि सच्चाई यह है कि कोविड के कारण आर्थिक तंगी झेल रहे दिल्लीवासियों ने बच्चों को शिक्षा देने की बजाए जिंदा रहने को प्राथमिकता दी.

दिल्ली में इस बार नए एडमिशन को मिला दें तो अब तक सरकारी स्कूलों में छात्रों की संख्या 17.67 लाख हो चुकी है. पिछले साल यह संख्या 16.28 लाख थी. अभी भी दिल्ली में दाखिले की प्रक्रिया जारी है. दिल्ली कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि दिल्ली सरकार ने प्राईवेट स्कूलों के फीस को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया है. ऐसी हालत में अभिभावक बंद पड़े प्राइवेट स्कूलों की फीस देने की स्थिति में नहीं है, जिसके कारण सरकारी स्कूलों में दाखिला बढ़ोत्तरी हुई है.

delhi school admission news, delhi school admission 2021-22, delhi govt school admission news, delhi govt school admission 2021, delhi govt school admission, Kejriwal Government, Chaudhary Anil kumar, Congress, दिल्ली स्कूल एडमिशन, दिल्ली के सरकारी स्कूल में एडमिशन, दिल्ली के सरकारी स्कूल, अकैडमिक सेशन 2021-22, स्कूल एडमिशन 2021-22, कांग्रेस, चौधरी अनिल कुमार, कोरोना काल,

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मौजूदा सत्र में 2.36 लाख ऐप्लिकेशन मिली है, जो पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है. (फाइल फोटो)

कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार पर यह आरोप लगाया
दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल सरकार के लिए शर्म की बात है कि उन्होंने अभिभावकों को कोविड महामारी से राहत देने के लिए दिल्ली के प्राईवेट स्कूलों को फीस में छूट देने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की, जबकि कोविड में अधिकांश लोगों को जीवन जीने के लिए संघर्ष करना पड़ा और अपने बच्चों की शिक्षा पर गौर करने जगह उन्होंने अपने को जिंदा रखने को प्राथमिकता देनी पड़ी.

सरकारी स्कूलों में 2.40 लाख छात्रों ने किया है आवेदन
चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली सरकार शिक्षा निदेशालय का बयान की दिल्ली सरकार के स्कूलों में 2.40 लाख छात्रों ने आवेदन किया, जिसमें 1.60 लाख छात्रों को दाखिला दे दिया गया है. कुमार ने सवाल उठाते हुए कहा कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों में इन्फ्रास्ट्रक्चर की भारी कमी है. क्या दिल्ली सरकार टीचरों की भारी कमी के चलते इतनी बड़ी संख्या में बढ़ोत्तरी हुए छात्रों को उत्तम शिक्षा मुहैया करा पाएगी.

delhi school admission news, delhi school admission 2021-22, delhi govt school admission news, delhi govt school admission 2021, delhi govt school admission, Kejriwal Government, Chaudhary Anil kumar, Congress, दिल्ली स्कूल एडमिशन, दिल्ली के सरकारी स्कूल में एडमिशन, दिल्ली के सरकारी स्कूल, अकैडमिक सेशन 2021-22, स्कूल एडमिशन 2021-22, कांग्रेस, चौधरी अनिल कुमार, कोरोना काल,

नए एडमिशन के बाद अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में एनरोल स्टूडेंट्स की संख्या 17.67 पहुंच गई है.

ये भी पढ़ें; प्रिंस राज की कहानी, FIR की जुबानी; युवती के साथ किया था सेक्स, 2 लाख रुपए देने की बात भी मानी

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से 10 और 12 में नॉन प्लान एडमिशन के लिए 20 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन किया जाएगा. वहीं, 24 सितंबर को सेलेक्ट किए गए छात्रों को स्कूल अलॉट किए जाएंगे. शिक्षा निदेशालय के मुताबिक, नए एडमिशन के बाद अब दिल्ली के सरकारी स्कूलों में एनरोल स्टूडेंट्स की संख्या 17.67 पहुंच गई है. पिछले साल 16.28 लाख की संख्या थी. वहीं, 2019-2020 सत्र के लिए 15.05 लाख छात्रों की संख्या थी.

Tags: Congress, Covid epidemic, Delhi CM Arvind Kejriwal, Delhi Government, Govt School, Students

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर