हाथरस कांड: प्रियंका गांधी बोलीं- योगी आदित्‍यनाथ के शासन में न्‍याय नहीं अन्‍याय का बोलबाला

पुलिस ने किया पीड़िता का अंतिम संस्कार
पुलिस ने किया पीड़िता का अंतिम संस्कार

हाथरस पीड़ि‍ता का शव आधी रात के बाद जलाने के मामले में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने हमला बोलते हुए सीएम योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) के इस्‍तीफे की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 3:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) में युवती से कथित गैंगरेप (Gang Rape) का मामला राष्ट्रीय स्तर पर तूल पकड़ता जा रहा है. हादसे के 15 दिन बाद बीते मंगलवार को पीड़िता ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था. पीड़िता की मौत के बाद उनका शव परिजनों को देने के बजाय उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया गया. इसके बाद पुलिस ने पीड़िता के शव को परिजनों को सौंपे बिना ही आधी रात के बाद अंतिम संस्‍कार कर दिया. इस मामले में अब कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस व प्रशासन पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने यूपी पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्‍होंने कहा कि योगी सरकार में न्‍याय नहीं अन्‍याय का बोलबाला है.

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा- रात को 2.30 बजे परिजन गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन हाथरस की पीड़िता के शरीर को यूपी प्रशासन ने जबरन जला दिया. जब वह जीवित थी, तब सरकार ने उसे सुरक्षा नहीं दी. जब उस पर हमला हुआ सरकार ने समय पर इलाज नहीं दिया. पीड़िता की मृत्यु के बाद सरकार ने परिजनों से बेटी के अंतिम संस्कार का अधिकार छीना और मृतका को सम्मान तक नहीं दिया.





योगी आदित्यनाथ से इस्तीफा की मांग
कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने मामले में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की है. ट्वीट में प्रियंका गांधी ने लिखा-  'घोर अमानवीयता. आपने अपराध रोका नहीं, बल्कि अपराधियों की तरह व्यवहार किया. अत्याचार रोका नहीं, एक मासूम बच्ची और उसके परिवार पर दुगना अत्याचार किया. योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दो. आपके शासन में न्याय नहीं, सिर्फ अन्याय का बोलबाला है.' बता दें कि हाथरस पीड़िता के लिए न्याय की मांग को लेकर मंगलवार को कांग्रेस समेत दूसरे विपक्षी राजनीतिक दलों ने दिल्ली में धरना प्रदर्शन किया. रेप पीड़िता के पिता भी अस्पताल के बाहर धरने पर बैठे रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज