Home /News /delhi-ncr /

property tax may increase to four times in ghaziabad delsp

गाजियाबाद में चार गुना तक बढ़ सकता है संपत्ति कर, जानें कमाई बढ़ाने के लिए नगर निगम की योजना

डीएम सर्किल रेट के आधार पर टैक्‍स लगाने की तैयारी.

डीएम सर्किल रेट के आधार पर टैक्‍स लगाने की तैयारी.

नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार डीएम सर्किल रेट लागू होने के बाद संपत्ति कर तीन से चार गुना तक बढ़ सकते हैं. वर्तमान में नगर निगम द्वारा सवा रुपये प्रति वर्गमीटर के हिसाब से संपत्तिकर का निर्धारण कर वसूला जा रहा है. लेकिन डीएम सर्किल रेट के आधार पर संपत्तिकर की वसूली पर करदाताओं पर तीन से चार गुना तक भार बढ़ जाएगा. पॉश एरिया में चार रुपये प्रति वर्गमीटर के हिसाब से संपत्तिकर वसूला जाएगा.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. गाजियाबाद नगर निगम कमाई बढ़ाने के लिए संपत्ति कर बढ़ाने की तैयारी कर रहा है. शहर में लखनऊ, अलीगढ़ जैसे महानगरों की तरह डीएम सर्किल रेट के आधार पर संपत्तिकर लगाया जा सकता है. नगर निगम के फैसले से जहां निगम क्षेत्र में रहने वाले 5.70 लाख संपत्ति करदाताओं की जेब पर बोझ पड़ेगा, वहीं दूसरी तरफ नगर निगम के राजस्व में 150 करोड़ का इजाफा होगा.

    नगर निगम ने शुक्रवार को होने वाली कार्यकारिणी की बैठक में इस प्रस्ताव को पेश करने की तैयारी की है. अगर कार्यकारिणी की मंजूरी मिल जाती है, तो प्रस्ताव को सदन में रखा जाएगा, सदन की अनुमति मिलने पर डीएम सर्किल रेट के आधार पर संपत्तिकर लिया जाएगा.

    ये भी पढ़ें: गाजियाबाद नगर निगम ने अपने निर्माण पर खुद ही चलाया बुलडोजर, वजह जानें

    नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार डीएम सर्किल रेट लागू होने के बाद संपित्‍त कर तीन से चार गुना तक बढ़ सकते हैं. वर्तमान में नगर निगम द्वारा सवा रुपये प्रति वर्गमीटर के हिसाब से संपत्तिकर का निर्धारण कर वसूला जा रहा है. लेकिन डीएम सर्किल रेट के आधार पर संपत्तिकर की वसूली पर करदाताओं पर तीन से चार गुना तक भार बढ़ जाएगा. पॉश एरिया में चार रुपये प्रति वर्गमीटर के हिसाब से संपत्तिकर वसूला जाएगा.

    ये भी पढ़ें: देश की पहली रैपिड रेल के ट्रायल की तैयारी, जानें कब से होगा ट्रायल

    लखनऊ, अलीगढ़ सहित कई नगर निगम ऐसे हैं, जहां पर संपत्ति कर की दर का निर्धारित सर्किल रेट के आधार पर हो चुका है. वहीं, गाजियाबाद में भवन और उसके सामने की सड़क के आधार पर संपत्तिकर का निर्धारण किया गया है. इस मामले में नगर निगम द्वारा एक साल पहले ही नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया था, नोटिफिकेशन जारी होने के बाद 300 से अधिक आपत्तियां आईं थीं. सभी आपत्तियों पर सुनवाई कर उनका निस्तारण किया जा चुका है.

    नगर आयुक्‍त महेंद्र सिंह तंवर के अनुसार डीएम सर्किल रेट के आधार पर संपत्तिकर लागू करने का प्रस्ताव कार्यकारिणी के माध्यम से सदन में लाया जाएगा. इस प्रस्ताव को सदन की मंजूरी मिली तो नगर निगम की आय बढ़ेगी, राजस्व में 150 करोड़ रुपये अतिरिक्त आएंगे, जिनसे शहर में और विकास कार्य हो सकेंगे.

    Tags: Ghaziabad News, Property tax

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर