कन्‍हैया पर चलेगा देशद्रोह का केस, बीजेपी बोली-जनता के दबाव में झुकी केजरीवाल सरकार

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (फाइल फोटो)

दिल्ली सरकार द्वारा जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) और दो अन्य लोगों पर देशद्रोह का केस चलाने की अनुमति देने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को जनता के दबाव के आगे झुकना पड़ा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 11:47 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार ने राजद्रोह के एक मामले में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) और दो अन्य लोगों पर मुकदमा चलाने के लिए दिल्ली पुलिस को मंजूरी दे दी. सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने 2016 के इस मामले में कुमार के साथ ही जेएनयू के पूर्व छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था. दिल्ली सरकार द्वारा केस चलाने की अनुमति देने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अरविंद केजरीवाल को जनता के दबाव के आगे झुकना पड़ा.

उन्होंने कहा कि जनता ने उन्हें कन्हैया कुमार के खिलाफ मुकदमा चलाने की मंजूरी देने के लिए मजबूर कर दिया जिसके चलते केजरीवाल को यह फैसला लेना पड़ा. वहीं दिल्ली बीजेपी ने आम आदमी पार्टी द्वारा पूर्व जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और उनके साथियों पर देशद्रोह का केस चलाने की अनुमति देने के फैसले का स्वागत भी किया है.

कन्हैया कुमार ने दिल्ली सरकार को कहा- धन्यवाद

वहीं दूसरी तरफ इस मामले में कन्हैया कुमार ने दिल्ली सरकार को धन्यवाद कहते हुए ट्वीट किया है. कन्हैया कुमार ने अपने एक ट्वीट में लिखा कि सेडिशन केस में फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट और त्वरित कार्रवाई की जरुरत इसलिए है ताकि देश को पता चल सके कि कैसे सेडिशन क़ानून का दुरूपयोग इस पूरे मामले में राजनीतिक लाभ और लोगों को उनके बुनियादी मसलों से भटकाने के लिए किया गया है.
दिल्ली पुलिस और सरकारी वक़ीलों से आग्रह


वहीं एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा कि दिल्ली सरकार को सेडिशन केस की परमिशन देने के लिए धन्यवाद. दिल्ली पुलिस और सरकारी वक़ीलों से आग्रह है कि इस केस को अब गंभीरता से लिया जाए, फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्पीडी ट्रायल हो और TV वाली ‘आपकी अदालत’ की जगह क़ानून की अदालत में न्याय सुनिश्चित किया जाए. सत्यमेव जयते.



ये भी पढ़ें: 

केजरीवाल सरकार ने दी देशद्रोह का केस चलाने की मंजूरी, कन्हैया कुमार ने कहा- धन्यवाद

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज