दिल्ली: पंजाब एण्ड सिंध बैंक के दो खातों में 112.42 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली: पंजाब एण्ड सिंध बैंक के दो खातों में 112.42 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी
एक अन्य सूचना में बैंक ने कहा कि एडयार जिंक का एनपीए खाता 41.24 करोड़ रुपये के बकाये के साथ धोखाधड़ी वाला खाता घोषित कर दिया गया है. (सांकेतिक फोटो)

बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि महा एसोसियेटिड होटल्स प्रा. लि. (Maha Associated Hotels Pvt. Ltd.) से संबंधित ऋण खाते में 71.18 करोड़ रुपये का बकाया है. उसने कहा कि एनपीए खाते को धोखाधड़ी घोषित किये जाने की सूचना भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को दी जा चुकी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab And Sindh Bank) ने शुक्रवार को उसके दो फंसे कर्ज के खातों में 112.42 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी होने की जानकारी दी है. ये खाते महा एससोसियेटिड होटल्स और एडयार जिंक (Maha Associated Hotels and Adyar Zinc) के हैं. बैंक ने नियामकीय सूचना में कहा है कि उसने इस धोखाधड़ी के बारे में रिजर्व बैंक को सूचित कर दिया है और वह इस बारे में केन्द्रीय जांच ब्यूरो के पास शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया में है.

बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि महा एसोसियेटिड होटल्स प्रा. लि. से संबंधित ऋण खाते में 71.18 करोड़ रुपये का बकाया है. उसने कहा कि एनपीए खाते को धोखाधड़ी घोषित किये जाने की सूचना भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को दी जा चुकी है. वर्तमान में महा एसोसियटिड होटल्स का मामला एनसीएलटी में लंबित है.

ये भी पढ़ें- CM हेमंत हुए होम क्वारंटाइन, Corona पॉजिटिव मंत्री और विधायक से की थी मुलाकात



आवश्यकता के अनुसार आरबीआई को इसकी सूचना दी गयी है
बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि सेबी विनियमों और बैंक की नीति के लागू प्रावधानों के अनुसार, "यह सूचित किया जाता है कि 44.40 करोड़ रुपये के प्रावधान वाले 71.18 करोड़ रुपये के बकाया एनपीए खाता ‘महा एसोसिएटेड होटल्स प्राइवेट लिमिटेड’ को धोखाधड़ी घोषित किया गया है और नियामकीय आवश्यकता के अनुसार आरबीआई को इसकी सूचना दी गयी है."

ये भी पढ़ें- विकास दुबे का हुआ अंतिम संस्कार, पत्नी ऋचा बोली- एक दिन करूंगी सबका हिसाब

धोखाधड़ी वाला खाता घोषित कर दिया गया है
एक अन्य सूचना में बैंक ने कहा कि एडयार जिंक का एनपीए खाता 41.24 करोड़ रुपये के बकाये के साथ धोखाधड़ी वाला खाता घोषित कर दिया गया है और इसकी जानकारी आरबीआई को दे दी गई है. इस साल अप्रैल में बैंक ने गोल्डन जुबली होटल्स के 86 करोड़ रुपये अधिक के बकाये वाले गैर-निष्पादित खाते को भी धोखाधड़ी घोषित किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading