लाइव टीवी

CAA के खिलाफ कांग्रेस का 'सत्याग्रह': सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह और राहुल गांधी ने पढ़ी संविधान की प्रस्तावना
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: December 23, 2019, 10:00 PM IST
CAA के खिलाफ कांग्रेस का 'सत्याग्रह': सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह और राहुल गांधी ने पढ़ी संविधान की प्रस्तावना
सत्याग्रह के दौरान सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह और राहुल गांधी ने संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी. (फाइल फोटो)

संशोधित नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) का विरोध करते समय कांग्रेस नेताओं सोनिया गांधी, राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और मनमोहन सिंह ने सोमवार को महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पर संविधान की प्रस्तावना पढ़ी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 23, 2019, 10:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच अब कांग्रेस ने भी पूरी तरह से कमर कस ली है. इसी को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में पार्टी के शीर्ष नेता सोमवार को महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पर जुटे और 'सत्याग्रह' पर बैठे. यहां पर सभी कांग्रेसजनों ने संविधान में लोगों को प्रदत्त अधिकारों के संरक्षण की मांग की. इस सत्याग्रह के दौरान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी.

अशोक गहलोत, कमलनाथ, अहमद पटेल समेत ये बड़े नेता भी रहे मौजूद
कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन के दौरान राजस्‍थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल, आनंद शर्मा, दिग्विजय सिंह और बड़ी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ता भी मौजूद रहे. राजघाट पर विरोध प्रदर्शन से पहले राहुल गांधी और कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने युवाओं, छात्रों और अन्य लोगों से इसमें शामिल होने का आह्वान किया.

देश भर में हो रहा विरोधसंशोधित नागरिकता कानून (CAA) का विराेध देश भर में हो रहा है. उत्तर प्रदेश और दिल्ली सहित कई राज्यों में यह प्रदर्शन हिंसक भी रहा. उत्तर प्रदेश में कई जगह पर हिंसक भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग और आंसू गैस के गोले भी दागे. इसके साथ ही सैकड़ाें की संख्या में गिरफ्तारियां भी हुई हैं.

सत्याग्रह के दौरान सोनिया गांधी. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी ने संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी.
सत्याग्रह के दौरान सोनिया गांधी. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और राहुल गांधी ने संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी.


12 दिसंबर को राष्ट्रपति ने दी कानून को मंजूरी
नॉर्थ-ईस्ट खासकर असम में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों, आगजनी, कर्फ्यू लगने, इंटरनेट बंद होने के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस बिल पर 12 दिसंबर (गुरुवार) 2019 को हस्ताक्षर कर दिए. इसके बाद नागरिकता कानून, 1955 में संबंधित संशोधन देश भर में लागू हो गया.

ये भी पढ़ें :- 

Jharkhand Election Results: रुझानों को देख बोले RJD MP- बिहार में भी जीतेंगे

CM रघुवर दास बोले- ये सिर्फ रुझान, झारखंड में BJP ही बनाएगी सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 23, 2019, 4:55 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर