Assembly Banner 2021

International Women's Day: महिला योद्धाओं को रेलवे ने दिया सम्मान, इन वीरांगनाओं के नाम पर होंगे इंजन! जानें कहां पर हो रहे हैं तैयार?

तुग़लकाबाद लोको शेड में इन इंजनों को स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगनाओं का नाम दिया जा रहा है.

तुग़लकाबाद लोको शेड में इन इंजनों को स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगनाओं का नाम दिया जा रहा है.

उत्तर रेलवे की ओर से तुग़लकाबाद लोको शेड में इन इंजनों को स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगनाओं का नाम दिया जा रहा है. कुछ इंजनों को वीरांगनाओं के नाम दिया जा चुका है और कुछ को देने का काम किया जा रहा है. रानी अहिल्याबाई, रानी अवंतीबाई, रानी वेलु नचियार, रानी चेन्नम्मा, रानी लक्ष्‍मीबाई और झलकारीबाई के साथ ऊदा देवी व अन्‍य भी जल्‍दी ही इस बेड़े का हिस्‍सा बनेंगी. यह इतिहास की अमर महिला योद्धाओं की स्‍मृतियों को जीवित रखेंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 8, 2021, 11:03 AM IST
  • Share this:
ई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने स्वतंत्रता संग्राम की महिला योद्धाओं को बड़ा सम्मान देने का फैसला किया है. उत्तर रेलवे की ओर से तुग़लकाबाद लोको शेड (Tughlakabad Loco Shed) में इन इंजनों को स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगनाओं का नाम दिया जा रहा है. कुछ इंजनों को वीरांगनाओं के नाम दिया जा चुका है और कुछ को देने का काम किया जा रहा है.

उत्तर रेलवे (Northern Railway) की ओर से यह सम्मान स्वतंत्रता संग्राम की महान महिला योद्धाओं (Brave Women's Worriors) को 8 मार्च को मनाए जाने वाले अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के उपलक्ष्य में दिया जा रहा है.

बताते चलें कि अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International Women's Day) एक वैश्विक दिवस के रूप में मनाया जाता है जो महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक उपलब्धियों का जश्न मनाता है‌. यह दिन महिलाओं को समान अधिकार देने में तेजी लाने के लिए कार्रवाई करने का भी आह्वान करता है.



इस दिवस पर उत्तर रेलवे ने 5 दशकों से लगातार शानदार प्रदर्शन करने वाले तुग़लकाबाद लोको शेड को इतिहास की उन बहादुर महिलाओं की स्मृति से जोड़ने का काम किया है जिन्होंने अपने हाथों में तलवारें लेकर अपने लोगों की स्वतंत्रता के लिए युद्ध लड़ा था.
उत्तर रेलवे ने श्रद्धांजलि और सम्मान के प्रतीक के रूप में उत्तर रेलवे तुगलकाबाद लोको शेड के डब्‍ल्‍यूडीपी4बी और डब्‍ल्‍यूडीपी4डी श्रेणी के इंजनों को इन बहादुर योद्धाओं को समर्पित करने को गौरव हासिल किया है.

तुगलकाबाद के लोकोमोटिव शेड में रानी अहिल्याबाई, रानी अवंतीबाई, रानी वेलु नचियार, रानी चेन्नम्मा, रानी लक्ष्‍मीबाई और झलकारीबाई के साथ ऊदा देवी व अन्‍य भी जल्‍दी ही इस बेड़े का हिस्‍सा बनेंगी. यह इतिहास की अमर महिला योद्धाओं की स्‍मृतियों को जीवित रखेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज