गहलोत सरकार की सियासत के केंद्र में रहे होटल फेयर माउंट के मालिक को ED का नोटिस
Delhi-Ncr News in Hindi

गहलोत सरकार की सियासत के केंद्र में रहे होटल फेयर माउंट के मालिक को ED का नोटिस
हालिया राजनीतिक संकट के दौरान राजस्थान कांग्रेस के ज्यादातर विधायक जयपुर के इसी होटल फेयर माउंट में ठहरे थे (फोटो: ANI)

प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने राजस्थान से जुड़े मामले में कार्रवाई तेज करते हुए चर्चित होटल कारोबारी रतनकांत शर्मा को पूछताछ के लिए दूसरी बार नोटिस भेजा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 22, 2020, 10:49 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी (Enforcement Directorate) ने राजस्थान (Rajasthan) के रहने वाले रतनकांत शर्मा को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है. सोमवार 26 जुलाई को दिल्ली (Delhi) स्थित ईडी मुख्यालय में रतनकांत शर्मा को पूछताछ के लिए बुलाया गया है. रतनकांत शर्मा को ईडी ने दूसरी बार पूछताछ के लिए यह नोटिस भेजा है. कुछ दिन पहले ईडी ने इसी मामले में कार्रवाई करते हुए कई स्थानों पर छापेमारी (Raid) की थी. रेड के दौरान कई महत्वपूर्ण दस्तावेज और सबूतों को इकट्ठा किया गया था. ईडी की टीम ने तमाम दस्तावेजों को खंगालने के बाद रतनकांत से पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है.

रतनकांत शर्मा मूल रूप से कारोबारी हैं, जिनका जयपुर (Jaipur) में फेयर माउंट नाम से होटल (Fair Mount Hotel) है. उनके खिलाफ मूल रूप से यह आरोप है कि कुछ समय पहले उनके होटल के बैंक एकाउंट में मॉरिशस से करीब 96 करोड़ 70 लाख रुपए ट्रांसफर हुए थे. विदेश से इस फंडिंग के बारे में रतनकांत शर्मा स्पष्ट रूप से बता नहीं पा रहे हैं. लिहाजा इस मामले में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा कुछ दिनों पहले कई चर्चित कारोबारियों के खिलाफ छापेमारी की गई थी.

क्या है फेयर माउंट होटल का विदेशी फंड कनेक्शन?



ईडी को यह जानकारी मिली थी कि जयपुर स्थित फेयर माउंट होटल के नाम पर अवैध तौर से मनी लॉन्ड्रिंग की जा रही है. इस गोरखधंधे से कई ऐसे लोगों के भी कनेक्शन जुड़ रहे हैं जो विदेश में रह रहे हैं. ईडी ने जब तफ्तीश की तो उसे रतनकांत शर्मा नाम के शख्स के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिली, जो इस होटल में निवेशक भी है. ईडी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक फेयर माउंट होटल के खाते में विदेश से आया करीब 96.7 करोड़ रुपए फंड का मामला काफी संदिग्ध है.
बिहार के राइस मिल घोटाले का मास्टरमाइंड गिरफ्तार
ईडी ने छापेमारी के दौरान जुटाए गए दस्तावेजों को खंगालने के बाद रतनकांत शर्मा को पूछताछ के लिए नोटिस भेजा है (प्रतीकात्मक चित्र)


इस मामले में कुछ लोगों से शुरुआती दौर पर पूछताछ लगातार चल रही है. विदेश से आए फंड के बारे में यह भी जानकारी मिली है कि उसे मॉरीशस के रास्ते रूट करवा कर लाया गया है. मॉरीशस देश की बात करें तो यहां भारतीय मूल के काफी लोग रहते हैं. मॉरीशस का कई मुद्दों पर भारत के साथ बेहद करीबी संबंध है. इसका फायदा उठाकर काले कारोबार करने वाले लोग अक्सर इसी रास्ते से मनी लॉन्ड्रिंग कर उसे किसी अन्य लेन-देन के नाम पर भारत में डाइवर्ट करते हैं.

वैभव गहलोत समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ भी केस दर्ज

केंद्रीय जांच एजेंसी से जुड़े सूत्रों की मानें तो इस मामले में फेयर माउंट होटल के निवेशक रतनकांत शर्मा सहित कई अन्य आरोपी हैं. ईडी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत सहित कई अन्य लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किया है. सूत्र यह भी बताते हैं कि रतनकांत शर्मा के बाद अन्य आरोपियों से भी इस मामले में पूछताछ की जाएगी. लेकिन फिलहाल रतनकांत शर्मा से होने वाली पूछताछ काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. क्योंकि इस मामले में वो मुख्य आरोपी है.

ईडी के सूत्रों के मुताविक वैभव गहलोत और रतनकांत शर्मा आपस में कारोबारी पार्टनर हैं. दोनों सनलाइट कार रेंटल सर्विस नाम की कंपनी के निदेशक हैं. लिहाजा इन तमाम मामलों की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए जब पूछताछ की जाएगी तो कई और बातें सामने आ सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading