Home /News /delhi-ncr /

Delhi Government: जात‍ि प्रमाण पत्र बनवाने को डीएम दफ्तर के चक्‍कर काट रहे आवेदक, मंत्री ने अफसरों से पूछ लिया ये सवाल

Delhi Government: जात‍ि प्रमाण पत्र बनवाने को डीएम दफ्तर के चक्‍कर काट रहे आवेदक, मंत्री ने अफसरों से पूछ लिया ये सवाल

समाज कल्याण मंत्री गौतम ने जाति प्रमाण पत्र जारी करने से संबंधित सभी शिकायतों के निस्तारण को लेकर सभी जिलाधिकारियों के साथ मीटिंग की.

समाज कल्याण मंत्री गौतम ने जाति प्रमाण पत्र जारी करने से संबंधित सभी शिकायतों के निस्तारण को लेकर सभी जिलाधिकारियों के साथ मीटिंग की.

Delhi Government: समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने विभाग के अधिकारियों को साफ और स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जब डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ़ सर्विसेज योजना लागू है तो आवेदकों को जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय में किस लिए चक्कर कटवाए जा रहे हैं. मंत्री ने इस तरह की शिकायतों पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि फिर डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेज की सेवाओं का क्या महत्व रह जाता है?

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) की ओर से जारी किए जाने वाले जाति-प्रमाण पत्र (Caster Certificates) को लेकर आ रही दिक्कतों को समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम (Rajendra Pal Gautam) ने गंभीरता से लिया है. उन्होंने विभाग के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर इन समस्याओं को जल्द दूर करने के निर्देश दिए हैं.

    मंत्री ने विभाग के अधिकारियों को साफ और स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जब डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ़ सर्विसेज योजना (Doorstep Delivery of Services Scheme) लागू है तो आवेदकों को जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय (District Magistrate Office) में किस लिए चक्कर कटवाए जा रहे हैं. मंत्री ने इस तरह की शिकायतों पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि फिर डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विसेज की सेवाओं का क्या महत्व रह जाता है?

    समाज कल्याण मंत्री गौतम ने यह मीटिंग जाति प्रमाण पत्र जारी करने से संबंधित सभी शिकायतों के निस्तारण को लेकर सभी जिलाधिकारियों के साथ की. इस दौरान समाज कल्याण मंत्री ने जाति प्रमाण पत्रों को जारी करने के सम्बंध में जरूरी दिशा निर्देश भी दिए.

    ये भी पढ़ें: Afghanistan से लाए गए सभी 78 नागर‍िकों की आई कोव‍िड र‍िपोर्ट, सभी को किया गया क्वारंटाइन

    मंत्री गौतम ने कहा कि यह मेरे संज्ञान में आया है कि जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए लोगों को अभी भी मजिस्ट्रेट के ऑफिस आना पड़ता है, जबकि यह डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विस की सेवाओं के अंतर्गत आता है. अगर आवेदकों को अभी भी मजिस्ट्रेट के ऑफिस के चक्कर काटने पड़ रहे हैं, तो फिर यह डोर स्टेप डिलीवरी ऑफ सर्विस के पूरे उद्देश्य को ही विफल कर रहा है.

    इससे संबंधित गाइडलाइन तत्काल जारी करने की जरूरत है, ताकि आवेदक को दस्तावेज जमा करने के लिए जिला कार्यालय नहीं बुलाया जाए. अगर आवेदक के दस्तावेज पूरे हैं, तो उनको जिला कार्यालय के चक्कर नहीं काटने चाहिए.

    मंत्री गौतम ने यह मुद्दा भी उठाया कि कई मामलों में रिकॉर्ड नॉट ट्रेसेबल बताकर प्रमाण पत्र को रद्द कर दिया जाता है. उन्होंने कहा कि अगर आवेदक का रिकॉर्ड पता नहीं चल रहा है, तो यह विभाग की कमी है, आवेदक की नहीं है. हमें इन आवेदनों को अस्वीकार नहीं करना चाहिए.

    ये भी पढ़ें: Delhi Weather Update: दिल्ली में अगले 4 दिन बारिश के आसार नहीं, मौसम रहेगा शुष्क

    विभाग की कमी की सजा आवेदक क्यों झेल रहा है? ऐसे मामलों में, एक उचित दिशानिर्देश जारी करने की आवश्यकता है. हम गवाहों के माध्यम से ऐसे मामलों को भौतिक रूप से सत्यापित कर सकते हैं, जैसे कि उनके पड़ोसी आदि. ऐसी परिस्थितियों में उनका आवेदन खारिज नहीं किया जाना चाहिए.

    बैठक में मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने यह बात भी सामने रखी कि जाति प्रमाण पत्र में पिता के दस्तावेज मांगे जाते हैं और उसके आधार पर जाति प्रमाण पत्र बनता है. लेकिन ऐसे कई बच्चे हैं जो केवल अपनी मां के साथ रहते हैं और पिता अलग रहते हैं. कई महिलाएं अपने पति से अलग हो चुकी हैं या पति ने उनको छोड़ दिया है.

    ये भी पढ़ें: दिल्ली सरकार ने कहा- VC से नहीं हो सकता मैरिज रजिस्ट्रशन, HC बोला- ये आपकी प्रॉब्लम, कपल की नहीं

    ऐसे मामलों में, बच्चा जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने में असमर्थ है, क्योंकि उसके लिए पिता के दस्तावेजों की आवश्यकता होती है. इसे तुरंत संशोधित करने की आवश्यकता है. इस बात पर तुरंत आश्वस्त किया जाना चाहिए कि बच्चे के जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए मां के दस्तावेज पर्याप्त हैं.

    मंत्री ने दिल्ली में ओबीसी प्रमाणपत्र (OBC Certificate) के लिए आवेदन करते समय सामने आने वाले मुद्दे को भी उठाया, जिनके माता-पिता के पास दूसरे राज्य का जाति प्रमाण पत्र है. यह मामला विभाग के विचाराधीन है.

    Tags: Arvind kejriwal, Caste Certificate, Delhi Government, Delhi news, OBC, Social Welfare

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर