• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • दिल्ली दंगा: कोर्ट में बार-बार फटकार के बाद जागे राकेश अस्थाना ने बनाई SIC, अब तेज होगी जांच

दिल्ली दंगा: कोर्ट में बार-बार फटकार के बाद जागे राकेश अस्थाना ने बनाई SIC, अब तेज होगी जांच


दिल्‍ली दंगों में 50 से ज्‍यादा लोगों ने जान गंवाई थी.

दिल्‍ली दंगों में 50 से ज्‍यादा लोगों ने जान गंवाई थी.

Delhi Riots: दिल्‍ली पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में पिछले साल फरवरी में हुए दंगों की जांच में तेजी लाने के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन सेल बनाई है. उन्‍होंने यह कदम कोर्ट में बार- बार हो रही पुलिस की किरकिरी के बाद उठाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. उत्तर-पूर्वी दिल्ली में पिछले साल फरवरी में हुए दंगों की जांच को लेकर कोर्ट में हो रही किरकिरी से बचने के लिए पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने स्पेशल इन्वेस्टिगेशन सेल बनाई है. यह सेल सेंट्रल जोन के स्पेशल कमिश्नर के नेतृत्‍व में काम करेगी, जबकि एसआईसी का गठन उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों को लेकर दर्ज मामलों की जांच को तेज करने के लिए किया गया है. बता दें कि दंगों की जांच को लेकर कोर्ट ने पुलिस को कई बार फटकार लगाई है.

    बहरहाल, पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों से संबंधित मामलों की जांच में तेजी लाने के साथ दोषियों को सजा दिलाने के लिए यह कदम उठाया है. इसके अलावा इस कमेटी के बनने से कोर्ट में भी पुलिस की किरकिरी होने से बचेगी, क्‍योंकि अब हर मुद्दे को कई सीनियर अधिकारी देखेंगे.

    ये लोग हैं कमेटी में शामिल

    सेवानिवृत्त एसीपी केजी त्यागी को दंगा मामलों की निगरानी एवं अदालती मामलों के लिए बनी स्पेशल इन्वेस्टिगेशन सेल का सलाहकार नियुक्त किया गया है. जबकि सेंट्रल जोन के स्पेशल कमिश्नर इसके अध्‍यक्ष होंगे. इसके अलावा सदस्य के तौर पर संयुक्त पुलिस आयुक्त (पूर्वी रेंज) और उत्तर-पूर्व जिले के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) और अतिरिक्त डीसीपी को जगह दी गई है. आदेश के मुताबिक, एसआईसी सभी लंबित जांच एवं सुनवाई का जायजा लेगी और दंगा मामलों की त्वरित जांच एवं प्रभावी अभियोजन सुनिश्चित करने के लिए रणनीति बनाएगी. जबकि इसका फोकस तकनीकी और सांइटिफिक साक्ष्यों को रिकॉर्ड में लाना होगा.

    बता दें कि दिल्‍ली दंगों में करीब 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. इस दौरान दंगाईयों ने आईबी अधिकारी अंकित शर्मा की भी हत्‍या कर दी थी. इस मामले में आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

    पिता-पुत्र को कार में बंधक बनाकर बदमाश 50 मिनट तक घूमते रहे, पहले पीटा और फिर लूटे 1.69 लाख रुपये

    वैसे इन दंगों के मामले में कुल 755 एफआईआर दर्ज की गई थीं. इसके अलावा दिल्‍ली पुलिस ने तीन एसआईटी टीम गठित की थीं और क्राइम ब्रांच को 60 मामलों की जांच सौंपी थी. जबकि एक केस दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने दर्ज किया था. इन दंगों के लिए अब तक 1800 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज