लाइव टीवी

झारखंड चुनाव में मिली हार पर बोले राम माधव- गंभीरता से आत्मनिरीक्षण करने की जरुरत
Ranchi News in Hindi

News18Hindi
Updated: December 24, 2019, 1:40 PM IST
झारखंड चुनाव में मिली हार पर बोले राम माधव- गंभीरता से आत्मनिरीक्षण करने की जरुरत
राम माधव ने कहा, झारंखड में हार हमारे लिए असुविधाजनक नुकसान है.

राम माधव (Ram Madhav) ने कहा, ‘जब हमारे सीएम सहित वरिष्ठ नेता हार जाते हैं, तो इसका मतलब स्थानीय नेतृत्व के साथ जमीन पर कुछ ठीक नहीं है. हमें यह देखने की आवश्यकता है कि हमारे स्थानीय नेताओं से कहां चूक हुई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 24, 2019, 1:40 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. झारखंड (Jharkhand) में पहली बार लगातार 5 साल के लिए मुख्यमंत्री देने वाली बीजेपी (BJP) को विधानसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा है. सत्ता से बेदखल होने के बाद बीजेपी एब अपनी हार पर मंथन करेगी. बीजेपी नेता राम माधव (Ram Madhav) ने कहा कि झारंखड में हार हमारे लिए असुविधाजनक नुकसान है. इस मुद्दे पर हमें गंभीरता से आत्मनिरीक्षण करने की आवश्यकता है.

सीएनएन न्यूज18 से बात करते हुए राम माधव ने कहा, ‘जब हमारे सीएम सहित वरिष्ठ नेता हार जाते हैं, तो इसका मतलब स्थानीय नेतृत्व के साथ जमीन पर कुछ ठीक नहीं है. हमें यह देखने की आवश्यकता है कि हमारे स्थानीय नेताओं से कहां चूक हुई. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने AJSU के साथ गठबंधन करने की पूरी कोशिश की, लेकिन गठबंधन नहीं हो सका. हमें भविष्य में एक बेहतर गठबंधन करने की आवश्यकता है.

'NRC पर अभी तक नहीं हुई चर्चा'
वहीं, राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के मुद्दे पर भी राम माधव ने अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि NRC पर अभी कोई बहस नहीं है और ना ही इस मुद्दे पर अभी तक चर्चा की गई. दरअसल, राम माधव ने विशेष रूप से इस बात का जवाब दिया कि अमित शाह ने संसद में इसे क्यों उठाया? उन्होंने कहा कि राजनीति में हर तरफ सहानुभूति होनी चाहिए. अगर विपक्ष विनाशकारी नहीं है तो सरकार रचनात्मक कार्य करती है.

पांच चरणों में हुआ था चुनाव
पांच चरणों में संपन्न हुए झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को नतीजे सामने आए. इसमें झारखंड मुक्ति मोर्चा की अगुआई वाले गठबंधन को जनता ने स्‍पष्‍ट जनादेश दिया. गठबंधन को 47 सीटों पर जीत मिली. इसमें जेएमएम के खाते में 30, कांग्रेस को 16 और आरजेडी को एक सीट पर विजय प्राप्त हुए. वहीं, अकेले चुनाव लड़ी बीजेपी 25 सीटों पर सिमट गई, जबकि जेवीएम को 3 और आजसू के खाते में दो सीटें गईं. इनके अलावा सीपीआईएमएल और एनसीपी के खाते में एक-एक सीट गई.

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 24, 2019, 1:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर