Home /News /delhi-ncr /

सुब्रमण्यम स्वामी का दावा- राम मंदिर बनेगा, मोदी सरकार कर सकती है ये काम

सुब्रमण्यम स्वामी का दावा- राम मंदिर बनेगा, मोदी सरकार कर सकती है ये काम

सरकार के पास है राम मंदिर बनाने का अधिकार- सुब्रमण्यम स्वामी

सरकार के पास है राम मंदिर बनाने का अधिकार- सुब्रमण्यम स्वामी

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy,) ने कहा कि विवादित जमीन पर सरकार का अधिकार है और सरकार जब चाहे राष्ट्र हित में जमीन को लेकर राम मंदिर (Ram Janmabhoomi issue) का निर्माण प्रारंभ करा सकती है.

    अखिल भारतीय संत समिति (All India Saints Committee) की बैठक में बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने कहा कि राम जन्मभूमि मामले (Ram Mandir) में अगर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में नहीं जीते तो सुन्नी वक्फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) को मुआवजा दे दिया जाएगा और मुआवजे की राशि क्या होगी यह सरकार तय करेगी. हालांकि उनको उम्‍मीद है कि फैसला रामलला के पक्ष में ही आएगा.

    राम मंदिर निर्माण को लेकर अखिल भारतीय संत समिति की एनडीएमसी बिल्डिंग के कन्वेंशन सेंटर हॉल में एक अहम बैठक हुई जहां पर संत महंत फूलडोल बिहारी दास, हठ योगी, बलराम दास, परमानन्द, महंत ज्ञानेंद्र जी, रामविलास वेदांती स्वामी, स्वामी जितेंद्रनन्द, राधे निर्मोही, रामकृष्ण, अखिल भारतीय संत समिति यूपी के अध्यक्ष महंत गौरी शंकर, स्वामी सवारियां के साथ वीएचपी नेता चम्पत राय, बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी भी मौजूद रहे.

    इस बैठक में हो रही चर्चा में राम मंदिर निर्माण पर फोकस किया गया और सभी ने अपनी अपनी राय रखी, लेकिन राम जन्मभूमि के साथ-साथ, केरल के सबरीमाला मंदिर का मुद्दा राम सेतु रक्षा हेतु केंद्र सरकार के प्रयास, मठ और मंदिर की व्यवस्था में सरकार के हस्तक्षेप, धर्मार्थ का कार्य, धर्मांतरण को रोकने के लिए सशक्त, कानून 90 के दशक में जम्मू-कश्मीर में तोड़े गए 435 मंदिरों का पुनर्निर्माण, अल्पसंख्यकों की परिभाषा तय करना, गंगा नदी संरक्षण जैसे अहम मुद्दों पर भी चर्चा हुई.

    मोदी से खुश है संत समाज
    हालांकि संत समाज मोदी सरकार से इस समय बहुत ही खुश है. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 का समाप्त होना और सुप्रीम कोर्ट में रामजन्म भूमि को लेकर डे टू डे सुनवाई होना इसका अहम कारण है. सच कहा जाए तो संत समाज इसे अपनी जीत मान रहा है.

    सुब्रमण्यम स्वामी का नया आइडिया
    बहरहाल, संत समाज की बैठक को न्याय विमर्श का नाम दिया गया है, जिसमें बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी मौजूद रहे और उन्‍होंने कहा कि विवादित जमीन पर सरकार का अधिकार है और सरकार जब चाहे राष्ट्र हित में जमीन को लेकर राम मंदिर निर्माण प्रारंभ करा सकती है. सुप्रीम कोर्ट में मामला चल रहा है तो चलने दीजिए जो जीतेगा उसे मुआवजा दिया जाएगा, अगर सुन्नी वक्फ बोर्ड जीतेगा तो उसे मुवाजा दे देगे. हालांकि जीतेंगे हम ही लोग, लेकिन यह एक बड़ा विकल्प है, सिया लोग हम लोगों के साथ है. वहीं, स्वामी जितेंद्रनन्द ने कहा कि हमें देश के संविधान पर पूरा भरोसा है. सुप्रीम कोर्ट का जो कदम है वह सही है. कोर्ट सही दिशा में काम कर रहा है और हमें पूरा भरोसा है कि राम मंदिर बनेगा.

    वेदांती ने कही ये बात
    राम विलास वेदांती ने कहा कि वह जमीन रामलला का है और वहां पर भव्य राम मंदिर निर्माण होगा. जब राम लला का जन्म हुआ था सुन्नी वक्फ बोर्ड नहीं था.

    ये भी पढ़ें- पतंग बाजार में भी छाया PM मोदी का 'मैजिक', कीमत कर देगी आपको हैरान

    अब धर्म परिवर्तन कराने वालों को होगी जेल! मोदी सरकार ला रही है ये बिल

    Tags: Akhil Bharatiya Sant Samiti, Delhi news, Ram Mandir Dispute, Ram Vilas Vedanti, Subramanian swamy

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर