• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • रामलीला महासंघ ने PM मोदी को लिखा खुला पत्र, पूछा- दिल्‍ली में खुल गए स्‍कूल-बाजार तो रामलीला मंचन क्‍यों नहीं

रामलीला महासंघ ने PM मोदी को लिखा खुला पत्र, पूछा- दिल्‍ली में खुल गए स्‍कूल-बाजार तो रामलीला मंचन क्‍यों नहीं

रामलीला महासंघ ने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर दिल्‍ली में रामलीला मंचन की अनुमति मांगी है. (सांकेतिक फोटो)

रामलीला महासंघ ने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर दिल्‍ली में रामलीला मंचन की अनुमति मांगी है. (सांकेतिक फोटो)

Ramlila at Red Fort: दिल्‍ली के लालकिला पर हर साल लवकुश रामलीला कमेटी की ओर से सबसे भव्‍य रामलीला का आयोजन होता है. जिसमें बॉलीवुड और टीवी जगत की जानी-मानी हस्तियां किरदार निभाती हैं. फिलहाल गाइडलाइंस में डीडीएमए ने रामलीला मंचन पर रोक लगाई हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई‍ दिल्‍ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में रामलीला (Ramlila) मंचन पर लगी रोक को लेकर रामलीला महासंघ ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को खुला पत्र लिखा है. पत्र में महासंघ ने दिल्‍ली के सरकारी अफसरों के इस फैसले को कट्टर और तालिबानी (Talibani) सोच का परिणाम बताया है. साथ ही पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से दिल्‍ली में रामलीला मंचन की अनुमति प्रदान करने की मांग की है. दरअसल, डीडीएमए की नई गाइडलाइंस के अनुसार दिल्ली में किसी भी धार्मिक आयोजन पर अभी भी रोक है.

    रामलीला महासंघ (Ramlila Mahasangh) के अध्‍यक्ष अशोक अग्रवाल ने पत्र में लिखा है कि एक ओर देश में लगातार कम होते कोरोना के मामलों की वजह से कटरा स्थित वैष्णोदेवी (Vaishno Devi) से लेकर मथुरा में बांके बिहारी (Banke Bihari) सहित तमाम मंदिर खुले हुए हैं. इसके साथ ही चार धाम और हेमकूट की यात्रा भी शुरू हो चुकी है. यहां तक कि दिल्‍ली में क्लब, अम्यूज़मेट पार्क, बार, सिनेमाघर, साप्‍ताहिक बाज़ार, सभी मुख्‍य मार्केट, मेट्रो, अन्‍य सार्वजनिक परिवहन, वाइन शॉप (Wine Shop) औ स्कूल तक खुल चुके हैं. लेकिन यहां के सभी मंदिर आम जनता के लिए बंद पड़े हैं और अब बंगला साहिब गुरुद्वारा भी बंद कर दिया गया है.

    पूजा अर्चना के लिए खोलने के आदेश दें
    अग्रवाल ने आगे कहा कि अफसरशाही की यह सोच दिल्ली और देश की जनता के एक बड़े वर्ग को सरकार विरोधी बनाने में लगी है. अब तक रामलीला मंचन की अनुमति नहीं दी है. ऐसे में रामलीला महासंघ अनुरोध करता है कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री तुरंत प्रभाव से राजधानी में रामलीला मंचन की अनुमति दिलाने के साथ ही मंदिरो और अन्य धार्मिक स्थानों (Religious Places) को आम लोगों के लिए पूजा अर्चना के लिए खोलने के आदेश दें.

    न्योता भी दिया जिसे उन्‍होंने सहर्ष स्वीकार किया
    इन्‍हीं मांगों के साथ रामलीला महासंघ का एक प्रतिनिधिमंडल आज महासंघ के सचिव अर्जुन कुमार के साथ केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag singh Thakur) से अकबर रोड स्थित उनके आवास पर मिला और उन्हें गदा व लीला की स्मारिका भेंट की. इसके साथ ही मंत्री को उन्‍होंने परिवार सहित रामलीला (Ramlila) में आने का न्योता भी दिया जिसे उन्‍होंने सहर्ष स्वीकार किया.

     धार्मिक आयोजन पर रोक लगाई हुई है
    गौरतलब है कि दिल्‍ली में दशहरा पर हर साल रामलीला का आयोजन होता है. जिसे देश के साथ ही विश्‍व में भी प्रसारित किया जाता है. लवकुश रामलीला कमेटी (Luvkush ramlila committee) की यह सबसे भव्‍य रामलीला होती है जिसमें हर साल बॉलीवुड और टीवी इंडस्‍ट्री के बड़े-बड़े सितारे भाग लेते हैं और रामलीला के किरदारों को निभाते हैं. इस रामलीला की तैयारी पिछले कई महीनों से चल रही है. हालांकि, हाल ही में डीडीएमए की गाइडलाइंस में रामलीला मंचन और किसी भी धार्मिक आयोजन पर रोक लगाई हुई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज