• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • इस बार दिल्ली में रामवीर सिंह विधूड़ी को मिला मौका, निर्विरोध बने विपक्ष के नेता

इस बार दिल्ली में रामवीर सिंह विधूड़ी को मिला मौका, निर्विरोध बने विपक्ष के नेता

बैठक के दौरान पर्यवेक्षक सरोज पांडे, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के अलावा बीजेपी विधायक मौजूद थे. (फोटो साभार: ANI)

बैठक के दौरान पर्यवेक्षक सरोज पांडे, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के अलावा बीजेपी विधायक मौजूद थे. (फोटो साभार: ANI)

ल्ली विधानसभा में बीजेपी विधायक रामवीर सिंह विधूड़ी को नेता प्रतिपक्ष के तौर पर नियुक्त किया गया है. उन्हें सदन में नेता प्रतिपक्ष के तौर पर निर्विरोध चुना गया है. इससे पहले दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता थे.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) में बीजेपी विधायक रामवीर सिंह विधूड़ी (Ramveer Singh Bidhuri) को नेता प्रतिपक्ष के तौर पर नियुक्त किया गया है. उन्हें सदन में नेता प्रतिपक्ष के तौर पर निर्विरोध चुना गया है. इससे पहले दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता थे.  इस संबंध में आयोजित बैठक के दौरान पर्यवेक्षक सरोज पांडे (Satoj Pandey), बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के अलावा बीजेपी विधायक मौजूद थे. वहीं नेता विपक्ष चुने जाने के बाद बिधूड़ी ने पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के अलावा दिल्ली के बीजेपी विधायकों का भी धन्यवाद किया.

    बता दें, 2020 के दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में बीजेपी (BJP) के 8 विधायकों ने जीत दर्ज की है. जबकि 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी के केवल तीन विधायकों को चुनावी जीत हासिल हुई थी.

    बदरपुर सीट से हैं विधायक
    04 दिसबर 1952 को जन्म लेने वाले विधूड़ी ने बदरपुर सीट से जीत हासिल की है. वैसे दिल्ली विधानसभा का इस बार का पहला सत्र 24 फरवरी से शुरू होने जा रहा है. इस दौरान पहली बार रमेश सिंह विधूड़ी बीजेपी के विधायक दल का नेता के तौर पर सदन में बीजेपी के आवाज को मुखर करेंगे.



    विधायकों से की थी मुलाकात, सांसदों से ली थी राय
    वैसे बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने सरोज पांडेय को इसके लिए केंद्रीय पर्यवेक्षक बनाया था. पांडेय ने नेता प्रतिपक्ष के चुनाव से पहले दिल्ली बीजेपी के विधायकों से मुलाकात भी की थी. इसके अलावा इसके लिए सांसदों से भी राय ली गई थी.

    केंद्रीय नेतृत्व को लेना था फैसला
    इस मामले में बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को फैसला लेना था. इससे पहले 2015 के दिल्ली विधानसभा में बीजेपी के वरिष्ठ नेता विजेंद्र गुप्ता नेता विपक्ष थे. लेकिन इसबार केंद्रीय नेतृत्व को इसके लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी. बताया जा रहा है कि नेता प्रतिपक्ष के लिए कई दावेदार सामने थे.

    ये भी पढ़ें:

    घर से निकलने से पहले पढ़ लें यह जरूरी खबर, बंद रहेंगे ये मेट्रो स्टेशन

    CAA Protest: महिला पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की, डीसीपी बोले- कराएंगे जांच

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज