लाइव टीवी

‘रेडियो था तो मुमकिन हुई पीएम मोदी के मन की बात’, अब सुनिए नहीं पढ़िए
Delhi-Ncr News in Hindi

नासिर हुसैन | News18Hindi
Updated: March 2, 2019, 4:47 PM IST
‘रेडियो था तो मुमकिन हुई पीएम मोदी के मन की बात’, अब सुनिए नहीं पढ़िए
फोटो- मन की बात किताब का कवर पेज.

पीएम नरेन्द्र मोदी का मन की बात कार्यक्रम एक तरफा नहीं था. लोग संवाद करते थे. देश के दूर कौने-कौन से सवाल करते थे.

  • Share this:
“किसी ज़माने में रेडियो बड़ा ही पॉवरफुल था. समाचार और क्रिकेट कमेंटरी सिर्फ रेडियो पर ही सुनी जाती थी. लेकिन जब टीवी आया तो लगा कि रेडियो खत्म हो जाएगा. लेकिन नहीं, टीवी का तो काम ही अलग है. टीवी न्यूज चैनल सरकार के एजेंडे को रिपोर्ट नहीं करते हैं. वो तो खुद अपना एजेंडा सेट करते हैं. ये ही वजह है कि पीएम नरेन्द्र मोदी का मन की बात कार्यक्रम एक तरफा नहीं था. लोग संवाद करते थे. देश के दूर कौने-कौन से सवाल करते थे.”

ये कहना है वित्तमंत्री अरुण जेटली का. शनिवार को पीएम के मन की बात कार्यक्रम पर लिखी गई किताब के विमोचन के मौके पर उन्होंने ये बात कही. कार्यक्रम का आयोजन प्रसार भारती और ऑल इंडिया रेडियो की ओर से किया गया था. मन की बात कार्यक्रम पर बोलते हुए उन्होंने कहा, कुछ चीजें ऐसी होती है जो कई साल बीत जाने के बाद भी हमें याद रह जाती हैं. और ऐसा इसलिए मुमकिन होता है कि उनमें याद दिलाने की क्षमता होती है.

ये भी पढ़ें- टीवी अब रिपोर्ट नहीं करते, एजेंडा सेट करते हैं-अरुण जेटली



पीएम मोदी का मन की बात कार्यक्रम एक ऐसा ही कार्यक्रम है जो हमेशा याद किया जाएगा. ये कार्यक्रम सियासत से जुड़ा हुआ नहीं था. ये जरिया था लोगों तक सरकार की बात को पहुंचाने का और जनता की परेशानियों को सुनने का. ये क्रांतिकारी कदम रहा है. मन की बात ने एक निशान छोड़ा है. लोग इसे याद रखेंगे. रेडियो की ताकत एक बार फिर से बढ़ी है. एफएम ने इसे और ताकतवर बना दिया है.



ये भी पढ़ें- F-16 की इस खासियत पर इतराता है पाकिस्तान, जिसे आज भारत ने मार गिराया

पायलट अभिनंदन को पाकिस्‍तान ने इन वजहों से 'हाथ भी नहीं लगाया'

पहले घर नहीं कुछ दिन के लिए इस अज्ञात जगह पर जाएंगे पायलट अभिनंदन

मन की बात कार्यक्रम के उन्हीं 50 एपीसोड को इस किताब में लिखा गया है. किताब के रूप में मन की बात का ये दूसरा संस्करण है. इससे पहले मई, 2017 में पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी मन की बात किताब के पहले संस्करण का विमोचन कर चुके हैं.

54 बीटेक-एमटेक, 24 एमबीए, बीबीए-बीसीए डिग्री वाले युवक दिल्ली पुलिस में बने सिपाही

'पाकिस्तान में सिर्फ अभिनंदन ही नहीं ये एयर फोर्स अफसर भी हैं, लेकिन पाक कर रहा इनकार'

Air strike: 3 विमान भरते हैं उड़ानएक गिराता है बम, 2 ऐसे करते हैं दुश्मन से रक्षा

एयर स्ट्राइक: ये हैं वो चार खास पॉइंट जिस पर टिकी होती एयर स्ट्राइक

एयर स्ट्राइक: इसलिए कारगिल के बाद एयर स्ट्राइक में मिराज एयरक्राफ्ट का हुआ इस्तेमाल 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 2, 2019, 3:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading