दिल्‍ली-NCR में समय से पहले गर्मी बढ़ने की क्‍या है वजह? क्‍या कड़ा रुख दिखाएगा मौसम

दिल्ली में शेष दिनों के दौरान आसमान साफ रहेगा और तेज़ धूप का असर जारी रहेगा, (फाइल फोटो)

दिल्ली में शेष दिनों के दौरान आसमान साफ रहेगा और तेज़ धूप का असर जारी रहेगा, (फाइल फोटो)

Delhi NCR Weather Update : मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि फरवरी के बाकी बचे दिनों में अधिकतम तापमान 30 डिग्री या उससे ऊपर ही जाने का अनुमान है और यह औसत तापमान 26 डिग्री से अधिक है. अनुमान है कि फरवरी के आखिरी दिनों में हवाओं का रुख बदलेगा, जिससे पारा और बढ़ते हुए 31 डिग्री को भी पार कर सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 12:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (NCR) में समय से पहले ही गर्मी बढ़ गई है. हालात ये हैं कि पारा 30 डिग्री को छू गया है. विशेषज्ञों का पूर्वानुमान है कि जिस तरह के हालात इस समय दिखाई दे रहे हैं उनसे लगता है कि फरवरी के बाकी बचे दिनों में पारा 32 डिग्री के स्तर को भी पार कर सकता है. मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि इस साल फरवरी का महीना पिछले कई सालों में सबसे गर्म साबित हो सकता है.

पारा 31 डिग्री को भी पार करेगा

दिल्‍ली-एनसीआर के मौसम का विश्‍लेषण किया जाए तो पता चलता है कि 22 फरवरी को दिल्ली की सफदरजंग वेधशाला ने राजधानी का अधिकतम तापमान 28.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था. यह सामान्य से 4 डिग्री अधिक था. इसके बाद इसमें और वृद्ध‍ि हुई और 23 फरवरी को यह 30 डिग्री को पार कर गया. इसके बाद से से पारा लगातार बढ़ ही रहा है. मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि फरवरी के बाकी बचे दिनों में अधिकतम तापमान 30 डिग्री या उससे ऊपर ही जाने का अनुमान है और यह औसत तापमान 26 डिग्री से अधिक है. अनुमान है कि फरवरी के आखिरी दिनों में हवाओं का रुख बदलेगा, जिससे पारा और बढ़ते हुए 31 डिग्री को भी पार कर सकता है.

शेष दिनों में तेज़ धूप का असर जारी रहेगा
निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्‍काईमेट वेदर का कहना है कि फरवरी के आरंभिक सप्ताह का दिल्ली का औसत अधिकतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस है और आखिर में औसत अधिकतम तापमान 26 डिग्री है. इस तरह पूरे महीने का औसत तापमान होता है 23.9 डिग्री सेल्सियस, लेकिन फरवरी के शुरुआती दिनों में ही तापमान सामान्य से ऊपर पहुंच गया और तीसरे हफ्ते के आखिर तक यह सामान्य से अधिक ही रिकॉर्ड किया गया. इस तरह 1 फरवरी से 22 फरवरी के बीच यानि तीन हफ्तों के दौरान दिल्ली में दर्ज किए गए अधिकतम तापमान का औसत 26.7 डिग्री रहा. शेष दिनों के दौरान आसमान साफ रहेगा और तेज़ धूप का असर जारी रहेगा, जिससे पूरे महीने में रिकॉर्ड किए गए तापमान का औसत 27.5 डिग्री को भी पार कर सकता है.

क्‍या है मौसम गर्म होने की वजह

स्‍काईमेट वेदर के मुख्‍य मौसम विज्ञानी महेश पालावत बताते हैं कि बीती 4 फरवरी से कोई वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस नहीं आया है, जिससे बारिश नहीं हुई है और ना ही आसमान में बादल रहे हैं. बीच में अगर बारिश होती या बादल भी रहते तो तापमान कंट्रोल में रहता. वहीं धूप भी तेज खिली रही, लेकिन आने वाले समय में उत्‍तरी भारत के पहाड़ों पर वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस से होने वाली बर्फबारी के कारण हवाओं का रुख बदलेगा और यह मैदानी इलाकों पर प्रभाव डालेगा. इससे उत्‍तर भारत समेत दिल्‍ली एनसीआर में तापमान में कमी आएगी, जोकि 26 से 27 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की उम्‍मीद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज