Exclusive: केजरीवाल सरकार की खुली पोल! दिल्ली के अस्पतालों से भी Remdesivir Injection गायब, लोगों में अफरा-तफरी

महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली में भी कोरोना के लिए कारगर अस्त्र रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत हो गई है.

महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली में भी कोरोना के लिए कारगर अस्त्र रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत हो गई है.

Remdesivir Injection Shortage in Delhi: महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली में भी कोरोना (Coronavirus) के लिए कारगर अस्त्र रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की किल्लत हो गई है. दिल्ली के सरकारी अस्पतालों (Hospitals) को छोड़ दीजिए प्राइवेट अस्पतालों में भी रेमडेसिविर इंजेक्शन स्टॉक से गायब है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 6:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली में भी कोरोना (Coronavirus) के लिए कारगर अस्त्र रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की किल्लत हो गई है. दिल्ली के सरकारी अस्पतालों (Hospitals) को छोड़ दीजिए प्राइवेट अस्पतालों में भी रेमडेसिविर इंजेक्शन स्टॉक से गायब है. दिल्ली सरकार के सबसे बड़े अस्पताल एलएनजेपी हॉस्पिटल (LNJP Hospital) में रेमडेसिविर इंजेक्शन खत्म हो गई है. ऐसे में केजरीवाल सरकार के उस दावे की हवा निकल गई है, जिसमें कहा गया था कि दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों में दवाइयों के साथ आईसीयू बेड्स उपलब्ध हैं. रेमडेसिविर इंजेक्शन खत्म होने के बाद मरीजों में अफरा-तफरी का माहौल है. अब दिल्ली में भी रेमडेसिविर की कालाबाजारी से इनकार नहीं किया जा सकता है.

दिल्ली के अस्पतालों से रेमडेसिविर इंजेक्शन गायब

महाराष्ट्र में रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत के बाद अब देश की राजधानी दिल्ली के अस्पतालों से भी रेमडेसिविर इंजेक्शन गायब है. दिल्ली सरकार के सबसे बड़े अस्पातल एलएनजेपी में रेमडेसिविर इंजेक्शन स्टॉक में नहीं है. एलएनजेपी अस्पाल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ सुरेश कुमार ने न्यूज 18 हिंदी के साथ बातचीत में इस बात की पुष्टि की है. हालांकि, इससे पहले अस्पताल प्रशासन और दिल्ली सरकार दावा कर रही थी कि दिल्ली में रेमडेसिविर की कोई किल्लत नहीं है.

Remdesivir, Remdesivir Injection, Corona Update, Corona, Corona Vaccine, Remdesivir Medicine, Coronavirus, LNJP Hospital, रेमडेसिविर इंजेक्शन, दिल्ली के सरकारी अस्पतालों से रेमडेसिविर गायब, प्राइवेट अस्पतालों रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं, एलएनजेपी अस्पताल, रेमडेसिविर क्यों कारगर है, महाराष्ट्र, दिल्ली न्यूज
केजरीवाल सरकार दावा कर रही थी कि रेमडेसिविर इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में हैं.

कोविड अस्पतालों में भी नहीं मिल रहे हैं इंजेक्शन

दिल्ली के अस्पतालों से रेमडेसिविर गायब होने के बाद लोग रेमडेसिविर इंजेक्शन के लिए इधर-उधर भाग रहे हैं. इससे पहले केजरीवाल सरकार दावा कर रही थी कि रेमडेसिविर इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में हैं, लेकिन जब अस्पताल में पहुंचेंगे तो असली हकीकत पता चलेगा कि रेमडेसिविर की भारी किल्लत है. खासकर केजरीवाल सरकार ने जिन 14 प्राइवेट अस्पतालों को पूरी तरह से कोरोना अस्पताल घोषित किया था, उसमें भी रेमडेसिविर की किल्लत है. ये अस्पताल हैं अपोलो अस्पताल, सर गंगा राम अस्पताल, होली फैमिली, महाराजा अग्रसेन, मैक्स शालीमार बाग, फोर्टिस शालीमार बाग, मैक्स साकेत, वैंकेटेश्वर, श्री बालाजी एक्शन, जयपुर गोल्डन, माता चानन देवी, पुष्पावती सिंगानिया, मनिपाल और सरोज सुपर स्पेशलिटी अस्पताल.

मरीजों की लगी है लंबी लाइनें



दिल्ली के सभी अस्पतालों में कोरोना मरीजों की लंबी लाइन लगी हुई है. दिल्ली के सभी अस्पतालों के इमरजेंसी वार्डफुल हो गए हैं. हालांकि, दिल्ली सरकार के कोरोना ऐप में बेड की मौजूदगी तो दिखती है, लेकिन जब आप अस्पताल पहुंचेंगे तो हकीकत कुछ और नजर आएगी. केजरीवाल सरकार कोविड-19 की स्थिति से निपटने का बड़े-बड़े दावे कर रही है, लेकिन दिल्ली के हालात सरकार के दावों की पोल खोल रहा है.

Remdesivir, Remdesivir Injection, Corona Update, Corona, Corona Vaccine, Remdesivir Medicine, Coronavirus, LNJP Hospital, रेमडेसिविर इंजेक्शन, दिल्ली के सरकारी अस्पतालों से रेमडेसिविर गायब, प्राइवेट अस्पतालों रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं, एलएनजेपी अस्पताल, रेमडेसिविर क्यों कारगर है, महाराष्ट्र, दिल्ली न्यूज
अस्पतालों के बाहर मरीजों के परिजन आईसीयू बेड्स की स्थिति का पता लगा रहे हैं.


प्राइवेट अस्पताल मनमना पैसा वसूल रहे हैं

अस्पतालों के बाहर मरीजों के परिजन आईसीयू बेड्स की स्थिति का पता लगा रहे हैं. लोगों का कहना है कि जब अस्पताल से संपर्क करते हैं तो कोई जवाब नहीं मिलता है, वहीं प्राइवेट अस्पताल मनमना पैसा वसूल रही है. रोहिणी के सेक्टर-5 में रहने वाले मुकुंद बिहारी कहते हैं, 'मेरी पत्नी पिछले पांच दिनों से बुखार से ग्रस्त है. सरकारी अस्पतालों में आरटीपीसीआर के लिए भी लंबी लाइनें लगी हैं. दो दिनों के बाद सोमवार को किसी तरह आरटीपीसीआर टेस्ट एक प्राइवेट लैब में कराया. हमलोग जब ऐप में देखते हैं तो दिखाई देता है कि इतने आईसीयू बेड खाली पड़े हुए हैं, लेकिन जब अस्पताल जाते हैं तो स्थिति कुछ और होती है.'

ये भी पढ़ें: केजरीवाल सरकार की इन योजनाओं का लेना है लाभ तो करें इस नंबर पर Missed Call, मिलेगा ये फायदा

दिल्ली-एनसीआर सहित पूरे देश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है. इसी को देखते हुए केंद्र सरकार ने पिछले दिनों रेमडेसिविर निर्यात पर रोक लगा दी थी. देश में इस समय 4 से 7 कंपनियां हैं, जो रेमडेसिविर बना रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज