लाइव टीवी

गणतंत्र दिवस पर आतंकियों की खौफनाक साजिश, दिल्ली पर 'हवाई हमले' का है प्लान!
Delhi-Ncr News in Hindi

Shailendra Wangu | News18Hindi
Updated: January 24, 2020, 5:44 PM IST
गणतंत्र दिवस पर आतंकियों की खौफनाक साजिश, दिल्ली पर 'हवाई हमले' का है प्लान!
आतंकी कर रहे हैं हमले की साजिश

सुरक्षा एजेंसियों (Security Agencies) के पास इनपुट मौजूद है कि लश्कर (lashkar) और खालिस्तानी आतंकियों के पास ग्लाइडर जैसे उपकरण हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2020, 5:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मद्देनजर गृह मंत्रालय (Home ministry)  ने सुरक्षा एजेंसियों को पत्र लिखकर चेताया है कि 26 जनवरी को दिल्ली में हवाई हमले हो सकते हैं. गृह मंत्रालय को आशंका है कि इन हमलों के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा सकता है. खबर है कि देश में हाई-एन्ड ड्रोन स्मगल किए गए हैं. साथ ही दिल्ली हाल के दिनों में ऐसे ड्रोन देखे भी गए हैं.

सुरक्षा एजेंसियों के पास इनपुट मौजूद है कि लश्कर और खालिस्तानी आतंकियों के पास ग्लाइडर जैसे उपकरण हैं. पत्र में ड्रोन के ज़रिए किए गए आतंकी हमलों का भी ज़िक्र हैं. बता दें कि सितंबर 2019 में सऊदी अरब की सबसे बड़ी तेल कंपनी 'अरामको' पर ड्रोन से ही आतंकी हमला किया गया था. वहीं  2018 में वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो पर भी ड्रोन से हमले की कोशिश हुई थी.

हाल ही में डीआरआई अहमदाबाद ने एक अंतरराष्ट्रीय रैकेट का भंडाफोड़ किया था. इस रैकेट में पाकिस्तान, चीन, म्यांमार के स्मगलर शामिल थे. सूचना है कि पूर्वोत्तर राज्यों की सीमाओं से भारत में ये ड्रोन स्मगल किए गए हैं.


जम्मू कश्मीर में भी कड़ी सुरक्षा



सीमा पार आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में मिली खुफिया सूचनाओं के मद्देनजर और गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जम्मू और कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. अधिकरियों ने बताया कि जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल जी सी मुर्मू 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य आयोजन स्थल मौलाना आजाद स्टेडियम में सलामी लेंगे.

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने कहा कि जम्मू को अलग-अलग क्षेत्रों में विभाजित किया गया है और पूरे क्षेत्र में पर्याप्त तैनाती की गई है. विशेष रूप से मुख्य समारोह स्थल और इसके आसपास के क्षेत्रों की जांच चल रही है. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की आशंका के बारे में खुफिया सूचनाएं मिली हैं और इस कारण सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के साथ बैठक कर घुसपैठ की रोकथाम और आतंकियों के प्रयास को विफल करने के उपायों के बारे में चर्चा की गई है.

घुसपैठ की खबरों को देखते हुए सुरक्षबलों को तैनात किया गया
इस महीने की शुरुआत में राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के किनारे आतंकवादियों के एक समूह की घुसपैठ की खबरों को देखते हुए सुरक्षबलों को तैनात किया गया है. नौशेरा सेक्टर में एक जनवरी को सेना द्वारा घुसपैठियों के एक समूह को रोकने के दौरान गोलाबारी में दो सैनिक शहीद हो गए थे. 'पिछले वर्षों की तुलना में, इस बार हमारे साथ अधिक केंद्रीय अर्धसैनिक बल उपलब्ध हैं और खतरे को ध्यान में रखते हुए तैनाती की जा रही है.' उन्होंने कहा, 'सीमाओं के पास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. घुसपैठ के सभी रास्तों पर बैरिकेड लगाकर चेक पोस्ट स्थापित किए गए हैं.'

ये भी पढ़ें: 

चुनाव आयोग ने ट्विटर से कहा- जल्द हटाएं कपिल मिश्रा का विवादित ट्वीट

दिल्ली चुनाव 2020: BJP सांसद प्रवेश वर्मा बोले- CM ने नहीं किया कोई नया काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 5:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर