Home /News /delhi-ncr /

Republic Day Violence: किसान की मौत पर SIT जांच की मांग, हाईकोर्ट से दिल्ली सरकार और पुलिस को नोटिस

Republic Day Violence: किसान की मौत पर SIT जांच की मांग, हाईकोर्ट से दिल्ली सरकार और पुलिस को नोटिस

दिल्ली सरकार के घर पर इलाज करा रहे मरीजों को रेमडेसिविर की उपलब्धता नहीं करवाने को लेकर दिए आदेश पर हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है

दिल्ली सरकार के घर पर इलाज करा रहे मरीजों को रेमडेसिविर की उपलब्धता नहीं करवाने को लेकर दिए आदेश पर हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है

 परिजनों को कोर्ट में दाखिल अपनी याचिका में दावा किया है कि मृतक किसान के सिर में गोली लगने के निशान थे. अब  कोर्ट ने दिल्ली सरकार, दिल्ली पुलिस, यूपी पुलिस और रामपुर जिला अस्पताल को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है.

    नई दिल्ली. दिल्ली उच्च न्यायालय ने गणतंत्र दिवस (R-Day Violence) पर प्रदर्शनकारी किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान कथित तौर पर ट्रैक्टर पलटने से 25 वर्षीय एक किसान की मौत (Farmer Death) होने की घटना की अदालत की निगरानी में एसआईटी जांच की मांग करने वाली याचिका पर गुरुवार को दिल्ली सरकार और पुलिस से जवाब मांगा है. न्यायमूर्ति योगेश खन्ना ने दिल्ली सरकार, दिल्ली पुलिस, उत्तर प्रदेश पुलिस और रामपुर के जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को नोटिस जारी किया. मालूम हो कि रामपुर के जिला अस्पताल में ही मृतक किसान का पोस्टमार्टम किया गया था.

    अदालत ने मृतक किसान नवरीत सिंह के दादा की एक याचिका पर यह नोटिस जारी किया, जिन्होंने दावा किया है कि उनके पोते के सिर में गोली लगने के घाव थे. अदालत ने दिल्ली पुलिस को जांच के बारे में सुनवाई की अगली तारीख 26 फरवरी तक एक स्थिति रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया है.

    किसान नेता का बड़ा ऐलान

    भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि गाजीपुर बॉर्डर पर किसान क्रांति पार्क बनाया जाएगा. इसकी शुरूआत हम कांटों के जबाब फूल लगाकर कर चुके हैं. इस पार्क में किसानी झंडा लगाया जाएगा. जल्द ही किसान क्रांति पार्क को मूर्त रूप दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि सरकार आंदोलन को लंबा करना चाहती है. किसानों ने भी उसी तरह से रणनीति तैयार कर ली है. बॉर्डर पर रणनीति के तहत आंदोलन चलाया जाएगा. जो किसान आंदोलन स्थल पर सोमवार को पहुंचेगा वह सोमवार को ही घर वापस जाएगा. इस प्रकार आंदोलनकारी आंदोलन पर भी नजर रख सकेंगे और अपने खेत पर भी. ऐसी स्थिति में जरूरत पड़ी तो आंदोलन अक्टूबर से आगे भी चलाया जा सकेगा.

    ये भी पढ़ें: Rajasthan Budget: बजट पर टिकी राजस्थान पुलिस की निगाहें, जानें क्या है गहलोत सरकार से डिमांड
    टिकैत ने कहा कि गर्मी का मौसम आ रहा है. अब हमें यहां बड़े जेनरेटर लगाने पड़ेंगे और यदि सरकार नहीं चाहती कि यहां जनरेटर चलें तो वह हमें बॉर्डर के नाम से बिजली कनेक्शन दे, किसान बिजली का बिल भी देंगे. उन्होंने किसानों से यह भी कहा कि प्रत्येक व्यक्ति सप्ताह भर की रणनीति से आंदोलन में शामिल हो. किसान कार से नहीं ट्रैक्टर से आंदोलन में शरीक होने पहुंचे। उन्होंने सरकार को चेताया कि यह आंदोलन अक्तूबर के बाद भी चल सकता है, सरकार भूल में है कि हम गर्मी में चले जाएंगे. (भाषा इनपुट)

    Tags: DELHI HIGH COURT, Delhi news, Delhi police, Farmer Protest, Republic Day Violence, UP police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर