• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi High Court पहुंचा रोह‍िणी कोर्ट शूटआउट मामला, द‍िल्‍ली पुल‍िस को नोट‍िस जारी करने की मांग

Delhi High Court पहुंचा रोह‍िणी कोर्ट शूटआउट मामला, द‍िल्‍ली पुल‍िस को नोट‍िस जारी करने की मांग

ज‍िला अदालत में हुई फायर‍िंग व शूटआउट मामले पर वकीलों ने द‍िल्‍ली हाईकोर्ट से स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की मांग की है. (File)

ज‍िला अदालत में हुई फायर‍िंग व शूटआउट मामले पर वकीलों ने द‍िल्‍ली हाईकोर्ट से स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की मांग की है. (File)

Rohini Court Shootout: रोहि‍णी ज‍िला कोर्ट परिसर में हुई फायर‍िंग और गैंगस्‍टर के शूटआउट का मामला अब द‍िल्‍ली हाईकोर्ट पहुंच गया है. हाईकोर्ट के जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद की बेंच के समक्ष आज वकीलों ने इस मामले को मेंशन करते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करने की मांग की.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. द‍िल्‍ली के रोह‍िणी कोर्ट रूम (Rohini Court Room) में हुई फायर‍िंग मामले ने जहां राजधानी में सुरक्षा स‍िस्‍टम (Security System) को कटघरे में खड़ा कर द‍िया है. वहीं ज‍िला अदालत (District Court) में हुई इस फायर‍िंग और गैंगस्‍टर के शूटआउट का मामला अब द‍िल्‍ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में पहुंच गया है.

    दिल्ली हाई कोर्ट (High Court) के जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद की बेंच के समक्ष आज वकीलों ने इस मामले को मेंशन करते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी करने की मांग की. उन्होंने कोर्ट से इस मामले पर स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की मांग की.

    ये भी पढ़ें: Rohini Court Shootout के बाद बोले पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्थाना-सुरक्षा में हुई चूक, करेंगे समीक्षा

    वरिष्ठ वकील विकास पाहवा और वकील प्रदीप राणा ने इस मामले को मेंशन करते हुए कहा कि कोर्ट रूम के अंदर फायरिंग हुई है. मृतकों के दो शव कोर्ट में पड़े हुए हैं. एक आरोपी मारा गया. वो दिल्ली का बड़ा गैंगस्टर (Gangster) था. उन्होंने कोर्ट से मांग की कि दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी होना चाहिए.

    उन्होंने कोर्ट से इस मामले पर स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की मांग की. उन्होंने कहा कि कोर्ट में कोई सुरक्षा नहीं है. तब जस्टिस सुब्रमण्यम प्रसाद ने कहा कि हाई कोर्ट के रूप में हम चाहते हैं कि चीजें दुरुस्त हों. हमें देखने दीजिए और पता करने दीजिए कि क्या हुआ है. इसके अलावा एक अन्‍य वकील अनुपम शर्मा ने भी रोहिणी कोर्ट की घटना को मेंशन करते हुए कहा कि हाईकोर्ट में अगर हमें गार्ड पहचानता है तो हमें अंदर जाने देता है. अन्यथा वो पहचान-पत्र देखकर ही अंदर जाने देता है, लेकिन निचली अदालतों में ऐसा नहीं होता है.

    कल द‍िल्‍ली की सभी ज‍िला अदालतों में नहीं होगा कामकाज
    बताते चलें क‍ि दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में शुक्रवार को गैंगस्टर जितेंद्र गोगी पर हुई अंधाधुंध गोलीबारी और फिर उसकी मौत के बाद अब विरोध के स्वर उठने लगे हैं. दिल्‍ली की किसी भी अदालत में अब विरोध स्वरूप शनिवार को काम नहीं होगा. गोलीबारी की वारदात के विरोध में वकील प्रदर्शन करेंगे.

    ये भी पढ़ें: Gang War in Delhi: दिल्ली की अदालतों में शनिवार को नहीं होगा काम, रोहिणी कोर्ट में हुई गोलीबारी का विरोध

    वहीं अब फायरिंग को ध्यान में रखते हुए दिल्ली के सभी जिला न्यायालयों के सुरक्षा नियमों में भी बदलाव किया जा रहा है. दिल्ली बार एसोसिएशन की तरफ से सभी वकीलों को इस बात की सूचना दी गई है. दिल्ली की अदालतों को अब और सुरक्षित बनाने के लिए नए नियमों के साथ ही तकनीकी मदद भी ली जाएगी.

    पुल‍िस कम‍िश्‍नर ने भी माना कोर्ट सुरक्षा में हुई चूक, करेंगे समीक्षा
    इस बीच देखा जाए तो द‍िल्‍ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने कोर्ट रूम में हुई गोलीबारी की घटना को लेकर पुलिस की ओर से सुरक्षा में चूक को स्वीकार किया है. लेकिन इसे गैंगवार कहने से बच रहे हैं. पुलिस कमिश्नर के मुताबिक दो लोग जो कि वकीलों के कपड़ों में थे, उन्होनें जितेन्द्र गोगी पर गोली चलाई और पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज