रोहित शेखर मर्डर मिस्ट्री: कौन है वह 'बच्चा', जो 'कत्ल की वजह' बना?
Delhi-Ncr News in Hindi

रोहित शेखर मर्डर मिस्ट्री: कौन है वह 'बच्चा', जो 'कत्ल की वजह' बना?
अपूर्वा (फाइल फोटो)

अपूर्वा ने पुलिस पूछताछ में कई खुलासे किए. पुलिस की पूछताछ में अपूर्वा ने बताया कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि मेरी राजनीति महत्वाकाक्षाएं थीं, लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही मुझे अहसास होने लगा कि यह शादी मेरे किसी काम का नहीं है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की हत्या को लेकर अब एक और नया खुलासा सामने आया है. पुलिस के मुताबिक, रोहित की पत्नी अपूर्वा से पूछताछ में यह बात सामने आई है कि रोहित शेखर की हत्या का कारण एक बच्चा है! टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक खबर के अनुसार अपूर्वा ने दिल्ली पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसे  शक था कि जिस महिला के साथ रोहित के संबंध थे उसका बेटे के बाप रोहित ही है. इसी कारण उसका झगड़ा हुआ, जिसमें उसने कथित रूप से रोहित का कत्ल कर दिया.

पुलिस की पूछताछ में अपूर्वा ने पहले बताया था कि रोहित का रिश्ते की भाभी के साथ संबंध था और इसी बात से वह परेशान रहती थी. अपूर्वा के मुताबिक जिस महिला के साथ रोहित का संबंध था उस महिला की शादी के आठ साल बाद बच्चा हुआ था. अपूर्वा के मुताबिक यही बात रोहित और उसके रिश्ते को धीरे-धीरे खराब करती जा रही थी.

बच्चे की मां संपत्ति में हिस्सा मांग रही थी
अपूर्वा शुक्ला ने पुलिस रिमांड में यह भी बताया कि वह महिला अपने बच्चे को रोहित की संपत्ति में हिस्सा दिलाना चाहती थी. उक्त महिला हमेशा कहा करती थी कि यह बच्चा तो आपके घर का ही बच्चा है. रोहित का लगाव भी उस बच्चे के साथ कुछ ज्यादा ही था. बच्चे के प्रति रोहित का लगाव मेरे शक को और पुख्ता कर दिया था.




अपूर्वा ने पुलिस पूछताछ में कई खुलासे किए. पुलिस की पूछताछ में अपूर्वा ने बताया कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि मेरी राजनीति महत्वाकाक्षाएं थीं, लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही मुझे अहसास होने लगा कि यह शादी मेरे किसी काम का नहीं है.

दिल्ली पुलिस की जांच टीम को भी लगता है कि मैट्रिमोनियल साइट पर रोहित की प्रोफाइल देख कर रिश्ता स्वीकार किया गया. शायद अपूर्वा को लगा कि क्योंकि राजनीतिक परिवार है तो उसे सत्ता के नजदीक जाने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी. अपूर्वा ने कुछ महीने डेटिंग के बाद रोहित पर शादी का दबाव बनाने लगी. 11 मई 2018 को दोनों ने शादी कर ली, लेकिन शादी के 18 दिन बाद यानी 29 मई को अपूर्वा घर छोड़ कर इंदौर चली गई.

कुछ दिनों बाद दोनों ने झगड़ा खत्म कर साथ रहने पर राजी हो गए. लेकिन, अपूर्वा को बच्चे वाली बात बार-बार परेशान करने लगी. अपूर्वा ने पुलिस पुछताछ मे बताया कि वह रोहित के परिवार के साथ रह कर बीमार रहने लगी. रोहित की मां उज्जवला के पति-पत्नी के रिश्ते में दखलंदाजी उसे और परेशान कर रही थी. उज्जवला ही घर को आर्थिक तौर पर नियंत्रित रखती थी. मुझे घर चलाने के लिए न पैसे दिए जाते थे और न हीं मेरी घर में कोई कद्र थी.

अपूर्वा को शादी के कुछ दिन बाद ही बच्चे के बारे में पता चला

अब तक अपूर्वा को पता चल चुकी थी कि उसके पति रोहित शेखर तिवारी के पास न पैसा है और न ही संपत्ति. रोहित डिफेंस कॉलोनी के जिस मकान में रहता था वह भी मां के नाम था और मां ने उस मकान में 60 फीसदी हिस्सा रोहित के नाम और 40 प्रतिशत हिस्सा भाई सिद्धार्थ के नाम कर रखी थी. उसमें यह भी लिख रखा था किसी एक भाई की मौत के बाद दूसरे भाई के नाम संपत्ति हो जाएगी. दूसरी तरफ रोहित का भाई सिद्धार्थ अविवाहित है और उसने बता रखी है कि वह मेरी संपत्ति का हिस्सा उसी बच्चे को मिल जाएगी जिसे अपूर्वा रोहित का बच्चा मानती है.

बता दें कि रोहित का पूरा परिवार दिल्ली स्थित डिफेंस कॉलोनी के मकान नं. सी- 329 में सालों से रहता था. साल 1978 में रोहित की मां उज्जवला ने यह कोठी खरीदी थी. दिल्ली पुलिस के जांच अधिकारी के मुताबिक इस कोठी में तंत्र-मंत्र और हवन भी होते रहे हैं. कोठी की दीवारों की हालत भी काफी खराब हो चुकी है. ऐसा भी कहा जा रहा है कि रोहित-अपूर्वा की शादी के कुछ ही दिन बाद जब अपूर्वा, रोहित से नाराज हो कर इंदौर चली गई थी तो रोहित की मां उज्जवला ने घर में हवन कराया था.

ये भी पढ़ें: चक्रवात 'फानी' की वजह से 100 ट्रेंने रद्द, इस लिस्ट को देखकर करें सफर

ये भी पढ़ें: पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड मसूद अजहर घोषित हुआ वैश्विक आतंकी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading