होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /काशी में बनने वाले देश के पहले अरबन रोपवे स्‍टेशन के ऊपर बनेगा होटल, जानें क्‍यों लिया गया फैसला?

काशी में बनने वाले देश के पहले अरबन रोपवे स्‍टेशन के ऊपर बनेगा होटल, जानें क्‍यों लिया गया फैसला?

अगले वर्ष मई में जमीन पर काम शुरू होने की संभावना.

अगले वर्ष मई में जमीन पर काम शुरू होने की संभावना.

रोपवे निर्माण करने वाली कंपनी एनएचएलएमएल के सीईओ प्रकाश गौड़ ने बताया कि काशी में रेलवे स्‍टेशन पर रोपवे का पहला स्‍टेश ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. काशी में बनने वाले अरबन रोपवे के स्‍टेशन के ऊपर होटल बनाया जाएगा. नेशनल हाईवे लाजिस्टिक मैनेजमेंट लि. (एनएचएलएमएल) ने पायलट प्रोजेक्‍ट के रूप में पहली बार इस स्‍टेशन के ऊपर होटल बनाने का फैसला लिया है. एनएचएलएमल द्वारा बनाए जा रहे रोपवे में से सबसे पहला यही तैयार होगा. इसी सप्‍ताह काम आवार्ड कर दिया जाएगा और अगले वर्ष मई तक जमीन पर काम शुरू होने की संभावना हे. दो साल में यह रोपवे बनकर तैयार हो जाएगा.

रोपवे निर्माण करने वाले एनएचएआई की कंपनी एनएचएलएमएल के सीईओ प्रकाश गौड़ ने बताया कि काशी में रेलवे स्‍टेशन पर रोपवे का पहला स्‍टेशन बनाया जाएगा. इसी स्‍टेशन पर होटल बनाने की तैयारी है. उन्‍होंने बताया कि होटल बनाने यह उद्देश्‍य है कि काशी मंदिर जाने वाले श्रद्धालु ट्रेन से रेलवे स्‍टेशन पर उतरें और वहां से ओवर ब्रिज से रोपवे स्‍टेशन पहुंचें. स्‍टेशन के ऊपर बने होटल में तैयार होकर रोपवे से सीधा मंदिर दर्शन के लिए जा सकें.

सीईओ ने बताया कि काशी रोपवे का काम इसी सप्‍ताह आवार्ड कर दिया जाएगा. पूर्व में टेंडर निकाले गए थे, जिसमें दो कंपनियां शामिल हुई थीं. एक कंपनी तकनीकी शर्तों को पूरा नहीं कर पाई. ऐसी स्थितियों में एक कंपनी ही बची थी, नियम के अनुसार टेंडर में इकलौती कंपनी को काम नहीं सौंपा जा सकता था. इसलिए दोबारा से टेंडर निकाला गया, जिसमें तीन कंपनियां आयीं हैं. इनमें से एक कंपनी को काम इसी सप्‍ताह अवार्ड कर दिया जाएगा.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

दिल्ली-एनसीआर
दिल्ली-एनसीआर

अगले वर्ष काम जमीन पर शुरू होगा

एनएचएलएमएल के अधिकारियों के अनुसार काम आवार्ड करने के बाद साइट पर काम शुरू करने के लिए कंपनी को समय दिया जाता है. इस तरह मई 2023 में काम जमीन पर काम शुरू होने की संभावना है.

रोपवे पर एक नजर

रोपवे की कुल लंबाई 3.75 किमी होगी. इसमें पांच स्‍टेशन बनाए जाएंगे, लेकिन चढ़ने उतरने के लिए चार स्‍टेशन ही होंगे. पांचवां स्‍टेशन तकनीकी कारणों से बनाया जाएगा. इन चार स्‍टेशनों में पहला कैंट रेलवे स्‍टेशन होगा, जहां से रोपवे शुरू हो रहा है, दूसरा विद्यापीठ, तीसरा रथयात्रा और चौथा, अंतिम स्‍टेशन गोदौलिया होगा. चूंकि इसके आगे मंदिर जाने के लिए वाहन नहीं जाते हैं, इसलिए यहीं तक रोपवे चलाया जाएगा.

प्रति घंटे 3000 यात्री सफर कर सकेंगे

रोपवे की केबल कार पर प्रति घंटे 3000 यात्री सफर कर सकेंगे. लोगों की संख्‍या बढ़ाने के साथ केबल कारों की संख्‍या बढ़ाई जाएगी. शुरुआती दौर में 3000 यात्री प्रति घंटे सफर कर सकेंगे.

10 सीटों वाली होगी केबल कार

इस रोपवे में 10 सीटों वाली केबल कार चलाने की तैयारी है। शुरुआत में कुल 18 केबल कार रोपवे में चलेंगी. हालांकि रोपवे का डिजाइन ऐसा किया जाएगा कि केबल कार की संख्‍या जरूरत के अनुसार बढ़ाई जा सकेंं.

Tags: Kashi, Rope Way, Varanasi news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें