Home /News /delhi-ncr /

ropeway will run in delhi ncr delsp

दिल्‍ली-एनसीआर के लोग ले सकेंगे रोपवे के सफर का मजा, गाजियाबाद के तीन अन्‍य रूटों पर भी रोपवे चलाने की तैयारी

मोहन नगर से वैशाली रूट के अलावा तीन अन्‍य रूटों पर रोपवे चलाने के लिए डीपीआर बन रहा है.

मोहन नगर से वैशाली रूट के अलावा तीन अन्‍य रूटों पर रोपवे चलाने के लिए डीपीआर बन रहा है.

जीडीए वीसी कृष्‍णा करुणेश के अनुसार जीडीए की बोर्ड बैठक में मोहन नगर से वैशाली मेट्रो के बीच रोपवे को मंजूरी दी जा चुकी है. इसके साथ ही तीन अन्‍य रूटों नया बस अड्डा से गाजियाबाद रेलवे स्टेशन, वैशाली मेट्रो स्टेशन से सेक्टर 62 मेट्रो स्टेशन नोएडा और राजनगर एक्सटेंशन से हिंडन रिवर स्टेशन के बीच रोपवे चलाने की तैयारी है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के लोग जल्‍द ही रोपवे (Ropeway) में सफर का आनंद उठा सकेंगे. एनसीआर के गाजियाबाद में रोपवे शुरू करने की पूरी तैयारी है. गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (Ghaziabad Development Authority) मोहन नगर से वैशाली रूट के अलावा तीन अन्‍य रूटों पर रोपवे चलाने के लिए डीपीआर बनवा रहा है. जीडीए के अधिकारियों के अनुसार रोपवे निर्माण में लागत मेट्रो के मुकाबले बहुत कम है और गाजियाबाद के ट्रैफिक की समस्‍या से राहत देने के लिए यह बेहतर साधन हो सकता है.

    जीडीए वीसी कृष्‍णा करुणेश के अनुसार जीडीए की बोर्ड बैठक में मोहन नगर से वैशाली मेट्रो के बीच रोपवे को मंजूरी दी जा चुकी है. इसके साथ ही तीन अन्‍य रूटों नया बस अड्डा से गाजियाबाद रेलवे स्टेशन, वैशाली मेट्रो स्टेशन से सेक्टर 62 मेट्रो स्टेशन नोएडा और राजनगर एक्सटेंशन से हिंडन रिवर स्टेशन के बीच रोपवे चलाने की तैयारी है. इसके लिए नेशनल हाईवे लाजिस्टिक मैनेजमेंट लिमिटेड (NHLML) से डीपीआर बनवाया जा रहा है. डीपीआर तैयार होने के बाद निर्माण की प्रक्रिया शुरू होगी.

    ये भी  गाजियाबाद से दिल्‍ली की ओर फर्राटा भरना हो सकता है महंगा, इस रोड पर लग सकता है टोल

    इसलिए मेट्रो के बजाए रोपवे लाने की तैयारी

    जीडीए के इंजीनियरों के अनुसार मेट्रो की तुलना में रोपवे का निर्माण करीब एक तिहाई की लागत में हो जाता है. पूर्व में वैशाली से मोहन नगर तक मेट्रो प्रोजेक्‍ट की लागत 1500 करोड़ रुपये के करीब आंकी गयी थी जबकि रोपवे में अनुमानित लागत 450 करोड़ रुपये के करीब है. इसलिए मेट्रो के बजाए रोपवे निर्माण पर फोकस किया जा रहा है.

    ये भी पढ़ें: गाजियाबाद की तर्ज पर यूपी में स्‍पोर्ट्स मॉडल होगा विकसित, जानें क्‍या है ये मॉडल

    यह होगा फंडिंग पैटर्न

    जीडीए के अधिकारियों के अनुसार रोपवे के निर्माण में आने वाला खर्च एनएचएलएमएल करेगा और इसके लिए जमीन जीडीए उपलब्‍ध कराएगा. निर्माण पूरा होने के बाद संचालन एनएचएलएमएल करेगा और अपनी लागत निकालेगा.

    5.2 किमी. लंबे रोपवे रूट का डीपीआर हुआ तैयार

    मोहन नगर से वैशाली मेट्रो तक 5.2 किमी. लंबी दूरी तय करने के लिए रोपवे बनाया जा रहा है. इसकी अनुमानित लागत 450 करोड़ रुपये है. इस प्रोजेक्‍ट को पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड पर पूरा करने की योजना बनाई गई है. इसका डीपीआर तैयार हो गया है.

    ये हैं प्रस्‍तावित स्‍टेशन

    मोहन नगर से वैशाली तक रोपवे प्रोजेक्ट में चार स्टेशन प्रस्तावित हैं. इसमें वैशाली, वसुंधरा, साहिबाबाद और मोहननगर हैं. रोपवे से 15 मिनट का सफर होगा. वैशाली से मोहननगर तक आने-जाने के लिए दो ट्रैक बनाए जाएंगे. एक ट्राली में 10 लोग बैठ सकेंगे.

    Tags: Ghaziabad News, Rope Way, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर