होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /रैपिड रेल के गाजियाबाद के स्टेशनों में ऑटोमेटिक डोर लगाने की डेडलाइन तय की गई, यहां जानें

रैपिड रेल के गाजियाबाद के स्टेशनों में ऑटोमेटिक डोर लगाने की डेडलाइन तय की गई, यहां जानें

गाजियाबाद के गुलधर स्‍टेशन से की गयी इसकी शुरुआत.

गाजियाबाद के गुलधर स्‍टेशन से की गयी इसकी शुरुआत.

आरआरटीएस के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी पुनीत वत्‍स ने बताया कि प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर लगाने की शुरुआत कर दी गयी है. गाजिया ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

गाजियाबाद. रैपिड रेल के पांचों स्‍टेशनों में प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर (पीएसडी) लगाने की डेड लाइन तय हो गयी है. डोर को लगाने का काम गुलधर आरआरटीएस स्टेशन से की गई है. दिसंबर तक सभी स्‍टेशनों पर डोल लगा दिए जाएंगे. संभावना है कि जनवरी 2021 से रैपिड रेल का ट्रैक पर ट्रायल शुरू हो जाएगा. इसके बाद मार्च में प्राथमिकता सेक्‍शन में इसे चलाने की तैयारी है.

आरआरटीएस के अनुसार एक स्‍टेशन में दोनों ओर मिलाकर 34 डोर लगाए जाने हैं. इस तरह पांचों स्‍टेशन में 170 डोर लगाए जाएंगे. इसके लिए इंजीनियरों की टीम बना कर दी है जो तय समय पर सभी स्‍टेशनों पर डोर लगा देगी.

डोर लगाने के दौरान प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर के विभिन्न पार्ट्स जैसे ऑटोमैटिक स्लाइडिंग डोर, फ़िक्स्ड डोर पैनल, प्लैटफ़ार्म इंड गेट, आपातकालीन इस्केप डोर, और फ़िक्स्ड स्क्रीन आदि को प्लैटफ़ार्म पर लगाया जा रहा है.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

दिल्ली-एनसीआर
दिल्ली-एनसीआर

सिग्‍नलिंग से जोड़ा जाएगा

प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर को आरआरटीएस ट्रेन के दरवाजों व ईटीसीएस लेवल-2 सिग्नलिंग सिस्टम, के साथ जोड़ देगी, जिसके परिणामस्वरूप ट्रेन के दरवाज़े प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर के साथ साथ खुलेंगे और बंद होंगे. यात्रियों की सुरक्षा के लिए ट्रेन और प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर के दरवाजे बंद होने के बाद ही ट्रेन को चलाया जा सकेगा.

अभी पहले फेज के सभी स्‍टेशनों में काम  

पहले फेज के बाकी स्टेशनों के लिए भी प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स लगाने की प्रक्रिया प्रारम्भ हो चुकी है. जैसे-जैसे इन स्टेशनों में रूफ शेड लगाने का कार्य पूरा होता जाएगा, प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर्स लगाने का कार्य भी गति पकड़ लेगा

छह कोच की चलेगी रेल

आरआरटीएस कॉरिडोर पर प्राथमिक तौर पर चलाई जाने वाली ट्रेन 6 कोच की होगी. इसमें 5 स्टैंडर्ड और एक प्रीमियम क्लास कोच होगा. प्रत्येक स्टैंडर्ड क्लास कोच में एक तरफ 3 और प्रीमियम क्लास कोच में 2 दरवाज़े होंगे. इस हिसाब से पूरी ट्रेन में कुल 17 दरवाज़े होंगे. इसी आधार पर आरआरटीएस स्टेशनों के प्रत्येक प्लेटफॉर्म पर फिलहाल 17 पीएसडी लगाए जाने का प्रावधान है.

,

Tags: Delhi-Meerut RRTS Corridor, Ghaziabad News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें