37 दिन बाद खुला RTO Office, पर कोरोना के डर से नहीं पहुंच रहे लाइसेंस बनवाने वाले

खाली पड़ा RTO Office में काउंटर

खाली पड़ा RTO Office में काउंटर

कोरोना की वजह से 37 दिनों से बंद RTO Office सोमवार को खोल दिया गया, यहां पर सिर्फ स्‍थाई लाइसेंस बनाने का चालू हो गया है, लेकिन सभी काउंटर खाली पड़े हैं.

  • Share this:

गाजियाबाद. संभागीय परिवहन कार्यालय सोमवार को 37 दिन बाद खुल गया लेकिन कोरोना की डर की वजह से लोग नहीं पहुंच रहे हैं. आज से केवल स्‍थाई लाइसेंस का काम शुरू हुआ है, परिवहन संबंधी अन्‍य सारे काम बंद हैं. एआरटीओ प्रशासन के अनुसार सुबह निर्धारित समय से सभी काउंटर खोल दिए गए थे, लेकिन सभी काउंटर खाली पड़े हैं.

परिवहन विभाग ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 23 अप्रैल से ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी सारे काम बंद कर दिए गए थे. फिर लॉकडाउन लगने की वजह से परिवहन कार्यालय पूरी तरह से बंद कर दिया गया. लगातार लॉकडाउन बढ़ने की वजह से 30 मई तक परिवहन कार्यालय पूरी तरह बंद रहा. एआरटीओ प्रशासन विश्‍वजीत प्रताप सिंह ने बताया कि 31 मई से केवल स्‍थाई लाइसेंस बनाने के लिए कार्यालय खोला गया है. सुबह सिर्फ स्‍थाई लाइसेंस से संबंधित कर्मचारी ही कार्यालय आए हैं, लेकिन कोरोना की वजह से लाइसेंस बनवाने के लिए लोग नहीं पहुंच रहे हैं. काउंटर खाली पड़ा है. दिनभर में 10 लाइसेंस भी बनना मुश्किल है.

उन्‍होंने बताया कि स्‍थाई लाइसेंस के लिए जिन लोगों की अप्वाइंटमेंट 31 मई या इसके बाद का है, वो तय समय पर परिवहन कार्यालय पहुंचकर लाइसेंस बनवाने की प्रक्रिया पूरी करा सकते हैं. लाइसेंस रिन्‍युवल व डुप्‍लीकेट लाइसेंस काम काम 15 जून तक और और लर्निंग लाइसेंस का काम 30 जून तक बंद रहेगा. लर्निंग लाइसेंस के लिए परिवहन कार्यालय में प्रतिदिन सबसे ज्यादा आवेदन आते हैं. कोरोना संक्रमण की वजह से परिवहन कार्यालय में कम लोगों की आवाजाही हो, इसलिए केवल स्‍थाई लाइसेंस बनाने का निर्णय लिया गया है. 23 अप्रैल से अब तक के कार्य दिवस में जिन लोगों का अप्वाइंटमेंट बुक था, उन सभी अप्वाइंटमेंट को रिशेड्यूल करते हुए नया अप्वाइंटमेंट दे दिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज