Assembly Banner 2021

रूस ने किया कोविड-19 वैक्सीन बनाने का दावा, AIIMS डायरेक्टर बोले- सेफ्टी का रखना होगा ख्याल

कोरोना वैक्सीन की सेफ्टी चेक करने की बात डॉक्टर कर रहे हैं. (File)

कोरोना वैक्सीन की सेफ्टी चेक करने की बात डॉक्टर कर रहे हैं. (File)

Russia Claims to Make COVID-19 Vaccine: रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन (Vladimir Putin) ने कोरोना वैक्सिन बना लेने का दावा कर पूरी दुनिया में हलचल मचा दी है. इस मसले पर दिल्ली एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) का कहना है कि वैक्सिन कितना सेफ है, इसे देखना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 11, 2020, 9:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन (Vladimir Putin) ने मंगलवार को कोविड वैक्सिन को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया. पुतिन के मुताबिक, रूस में तैयार की गई वैक्सिन (COVID-19 Vaccine) को वहां के हेल्थ मिनिस्ट्री से मंजूरी भी मिल गई है.  इसके साथ ही दावा किया गया है कि रूस को दुनिया भर के 20 देशों से वैक्सिन के तकरीबन 1 अरब डोज का ऑर्डर भी मिला है. रूस के इस बड़े दावा के बाद हर तरफ इसकी चर्चा हो रही है. वहीं, दिल्ली एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने वैक्सिन के सेफ्ट को लेकर चिंता जताई है. उनका कहना है कि पहले ये देखना होगा की वैक्सिन से किसी मरीज को साइड इफेक्ट तो नहीं हो रहा है.

AIIMS के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा कि अगर रूस का टीका सफल होता है, तो हमें गंभीर रूप से देखना होगा कि क्या यह सुरक्षित और प्रभावी है. डॉ. गुलेरिया ने कहा कि भारत में वैक्सीन के बड़े पैमाने पर उत्पादन की क्षमता है. वैक्सिन के सेफ्टी और साइड इफेक्ट को देखने की जरूरत है.





ये भी पढ़ें:  बॉलीवुड के बाद अब झॉलीवुड में भी नेपोटिज्म! कलाकारों ने कही ये बड़ी बात
राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन का दावा

बात दें कि कोरोना वैक्सिन को लेकर पुतिन का कहना है कि मेरी बेटी ने भी इस वैक्सीन का टीका लिया है. शुरू में उसे हल्का बुखार था लेकिन अब वह बिल्कुल ठीक है. उन्होंने बताया कि मेरी बेटी ठीक है और बढ़िया महसूस कर रही है. उसने भी इस पूरे परीक्षण में हिसा लिया था. इस ऐलान के बाद रूस पहला देश बन गया है जिसने वैक्सीन बना लेने का काम पूरा करने का दावा किया है. रूस ने प्‍लान किया है कि यह वैक्‍सीन सबसे पहले हेल्‍थ वर्कर्स को दी जाएगी, उसके बाद बुजुर्गों को. मॉस्‍को ने कई देशों को भी वैक्‍सीन सप्‍लाई करने की बात कही है. रूस का कहना है कि वह अपने कोरोना टीके का बड़े पैमाने पर उत्‍पादन सितंबर से शुरू कर सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज