Sohna : सचिन पायलेट ने फोन कर स्थगित कराई 26 को होने वाली गुज्जर महापंचायत
Delhi-Ncr News in Hindi

Sohna : सचिन पायलेट ने फोन कर स्थगित कराई 26 को होने वाली गुज्जर महापंचायत
सोहना में महापंचायत की तैयारी चल रही थी.

महापंचायत के आयोजक एडवोकेट हेमराज खटाना ने जानकारी दी कि सचिन पायलेट का फोन उनके पास आया था. उन्होंने फोन पर कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना का प्रकोप दिनों दिन बढ़ता जा रहा है, ऐसे में पंचायत का आयोजन करना उचित नहीं होगा.

  • Share this:
सोहना. राजस्थान सरकार में कांग्रेस (Congress) पार्टी द्वारा सचिन पायलेट (Sachin Pilot) को डिप्टी सीएम (Deputy CM) के पद से बर्खास्त किए जाने के खिलाफ सोहना में गुज्जर समाज के लोग लामबंद हो रहे थे. इस समाज के लोगों ने सचिन पायलेट के समर्थन में 26 जुलाई को कई राज्यों के लोगों की एक महापंचायत करने का ऐलान किया था. फिलहाल यह महापंचायत कुछ समय के लिए स्थागित कर दी गई है.

इस महापंचायत के आयोजक एडवोकेट हेमराज खटाना ने मीडिया को जानकारी दी कि सचिन पायलेट का फोन उनके पास आया था. उन्होंने फोन पर कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना का प्रकोप दिनों दिन बढ़ता जा रहा है, ऐसे में पंचायत का आयोजन करना उचित नहीं होगा. जिसके बाद पंचायत कुछ समय के लिए स्थागित कर दी गई है. उन्होंने बताया कि अबकी बार महापंचायत नहीं, बल्कि एक किसान सम्मेलन किया जाएगा. इस सम्मेलन में कई राज्यों के लोगों को आमंत्रित किया जाएगा. इस सम्मेलन में सिर्फ गुज्जर बिरादरी ही नहीं, बल्कि 36 बिरादरी के लोगों को बुलाया जाएगा क्योंकि सचिन एक बिरादरी के नहीं, बल्कि 36 बिरादरी के चहेते नेता हैं. हालांकि अभी तक किसान सम्मेलन का कोई स्थान व समय निर्धारित नहीं किया गया है. इसकी तारीख का फैसला और ऐलान कमेटी के साथ मीटिंग कर सलाह-मशवरा करने के बाद ही किया

सीएम गहलोत पर पायलेट के समर्थक का आरोप



इस बीच, राजस्थान में सियासी हलचल तेज हो गई है. अशोक गहलोत और सचिन पायलट की लड़ाई अब राजभवन तक पहुंच गई है. एक ओर जहां सीएम गहलोत समर्थक विधायक राजभवन में रातभर धरना देने की तैयारी कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर सचिन पायलट गुट ने सीएम गहलोत पर बड़े आरोप लगा दिए हैं. सचिन पायलट खेमे के विधायक सुरेश मोदी ने कहा कि CM गहलोत ने कहा हमें बंधक बना रखा है. हमें किसी ने बंधक नहीं बनाया है. न ही हम आंसू बहा रहे हैं, न ही हम जयपुर आने के लिए तड़प रहे हैं. सुरेश मोदी ने कहा कि हम हमारी स्वेच्छा से दिल्ली में हैं. अपनी कुर्सी बचाने के लिए सीएम गहलोत बेवजह आरोप न लगाएं. उन्होंने कहा कि डेढ़ साल से इलाके में पानी के लिए मुख्यमंत्री से मांग की जा रही थी. जिले बनाने की भी मांग रखी, लेकिन उन्होंने ध्यान नहीं दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज