साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमेटी में जगह, कांग्रेस ने कहा- गोडसे भक्तों के अच्छे दिन!
Delhi-Ncr News in Hindi

साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमेटी में जगह, कांग्रेस ने कहा- गोडसे भक्तों के अच्छे दिन!
मोदी सरकार ने साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमेटी का सदस्य बनाया है

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Singh Thakur) को रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) की संसदीय सलाहकार समिति का सदस्य मनोनीत करने पर कांग्रेस (Congress) ने सवाल खड़े किए हैं. कांग्रेस ने कहा कि यह मोदी सरकार की दोहरी मानसिकता को दर्शाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2019, 1:02 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. भोपाल से बीजेपी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Pragya Singh Thakur) और विवाद आपस में जुड़े हुए हैं. ताजा विवाद शुरू हुआ है, प्रज्ञा ठाकुर को रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) की संसदीय सलाहकार समिति का सदस्य नियुक्त करने पर. सरकार ने उन्हें 21 सदस्यों वाली इस समिति का सदस्य नियुक्त किया है, जिसके अध्यक्ष रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) हैं. कांग्रेस (Congress) ने उन्हें इस समिति का सदस्य मनोनीत करने पर सवाल खड़े किए हैं. वहीं बीजेपी ने कहा है कि बतौर सांसद उन्हें किसी भी संसदीय समिति में मनोनीत किया जा सकता है.

प्रज्ञा ठाकुर को इस महत्वपूर्ण समिति का सदस्य मनोनीत करने पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए हैं. कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने इस फैसले की तीखी आलोचना की. उन्होंने कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महात्मा गांधी की विचारधारा की बात करते हैं, वहीं दूसरी ओर प्रज्ञा ठाकुर को संसदीय सलाहकार समिति का सदस्य बनाते हैं. ये उनकी दोहरी मानसिकता को दर्शाता है.

कांग्रेस नेता ने कहा- गोडसे भक्तों के अच्छे दिन!
साध्वी प्रज्ञा की नियुक्ति पर कांग्रेस नेता जयवीर शेरगिल ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा, 'बीजेपी सरकार ने नेशनलिज्म को नया मॉडल दिया है. बम ब्लास्ट मामले में ट्रायल पर चल रहीं नेता को डिफेंस मामलों की कमेटी में शामिल किया गया. कुछ महीनों पहले पीएम ने 'मन से माफ ना करने' की बात कही थी, लेकिन अब संदेश साफ है कि नाथूराम गोडसे के भक्तों के अच्छे दिन आ गए हैं.'






बीजेपी ने दिया ये जवाब
वहीं, बीजेपी ने इसे बिना वजह उठाया विवाद बताया है. बीजेपी के राज्यसभा सदस्य लेफ्टिनेंट जनरल डीपी वत्स ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर संसद की सदस्य हैं, लिहाजा उन्हें किसी भी कमेटी में शामिल किया जा सकता है. यह नियम के मुताबिक ही है. यह कमेटी रक्षा मंत्री को उनके कामकाज में सहयोग करने के लिए है और इसमें कुछ गलत बात नहीं है. कांग्रेस जो कह रही है वह उसकी आदत है, लेकिन जो नियम है संसद सदस्य अपनी ड्यूटी कर रहे हैं. बता दें कि लेफ्टिनेंट जनरल डीपी वत्स भी इस समिति के सदस्य हैं.

LIST
डिफेंस कमिटी में शामिल होने वाले सदस्यों की लिस्ट


दिग्विजय सिंह को दी थी मात
प्रज्ञा ठाकुर को जब बीजेपी ने भोपाल से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ उम्मीदवार बनाया था, तब भी खूब विवाद हुआ था. हालांकि, उन्होंने चुनाव में दिग्विजय सिंह को हरा दिया, लेकिन विवाद उनके साथ बने रहे. गोडसे के बारे में दिए एक बयान पर विपक्ष ने उन्हें काफी घेरा था. बाद में पीएम मोदी ने भी इस पर नाराजगी जाहिर की थी.

2017 में प्रज्ञा ठाकुर को मिली थी जमानत
प्रज्ञा ठाकुर को महाराष्ट्र हाईकोर्ट ने अप्रैल 2017 में स्वास्थ्य आधार पर जमानत दी थी. उससे पहले NIA ने उनके खिलाफ MCOCA के तहत आरोप हटा दिए थे. हालांकि Unlawful Activities (Prevention) Act के तहत उनके खिलाफ अभी मामला चल रहा है.

ये भी पढ़ें :

मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल : आज भोपाल में तय होगी रणनीति
देवास: शादी समारोह के भोजन से फूड पॉइजनिंग, 100 से ज्यादा लोग हुए बीमार
First published: November 21, 2019, 12:21 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading