अपना शहर चुनें

States

COVID-19: दिल्ली के शेल्टर होम से दूर होगी उदासी, ये फेमस मैजिशियन दिखाएंगे जादू

एमपी के महाकौशल और विंध्य इलाके में कोरोना संक्रमण बढ़ा
एमपी के महाकौशल और विंध्य इलाके में कोरोना संक्रमण बढ़ा

दिल्ली के लाजपत नगर-2 के एक शेल्टर होम में दुनिया के जाने माने जादूगर राजकुमार अपनी टीम के साथ प्रवासी मजदूरों के बीच जा रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2020, 1:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पूरे देश में कोरोना वायरस (COVID-19) के बढ़ते खतरे को देखते हुए लॉकडाउन लागू है. इस दौरान राष्ट्रीय राजधानी में रहने वाले प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) की चर्चा मीडिया में लगातार सुनने को मिल रही है. समाज के इस वर्ग की मदद के लिए दिल्ली सरकार और कई सामाजिक संगठन हरसंभव प्रयास कर रहे हैं. इसी बीच जानकारी मिल रही है कि गुरुवार को लाजपत नगर-2 में स्थित एक शेल्टर होम में दुनिया के जाने-माने जादूगर राजकुमार अपनी टीम के साथ प्रवासी मजदूरों के बीच परफॉर्मेंस करने जा रहे हैं. जादूगर राजकुमार अपनी टीम के साथ दोपहर दो बजे से अपने शो की शुरुआत करेंगे.

ये कार्यक्रम एक घंटे से ज्यादा समय के लिए चलेगा. माना जा रहा है कि विपरित परिस्थिति से जीवन गुजार रहे इन लोगों के बीच इस तरह के कार्यक्रम का आयोजन कर इनके साथ खुशियों के पल को साझा करना है. साथ ही कोरोना को लेकर शेल्टर होम में छायी उदासी भी दूर होगी.

घर वापस लौटने की जद्दोजहद कर रहे थे प्रवासी



गौरतलब है कि लॉकडाउन के पहले चरण में देश के कई राज्यों से दिल्ली आकर मजदूरी कर रहे प्रवासियों अपने घर वापस लौटने के लिए लगातार जद्दोजहद कर रहे थे. इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रवासियों से दिल्ली में रहने की अपील की थी, ताकि कोरोना का संक्रमण रोकने में मदद मिल सके. इसके बावजूद बिहार और उत्तर प्रदेश के कई मजदूर अपने घरों की ओर निकल पड़े. सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के मकान मालिकों से किराया नहीं लेने की भी अपील की थी.
दिल्ली सरकार ने शुरू की है ये पहल

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक दिल्ली सरकार ने प्रवासी श्रमिकों की समस्या को सुलझाने की पहल शुरू की है. दिल्ली के 10 प्रशासनिक अधिकारी प्रवासियों के मुद्दे पर विभिन्न राज्यों के रेजिडेंट कमिश्नर के साथ समन्वय कर रहे हैं. आपको बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन की अवधि बढ़ा दी है. अब ये 3 मई तक जारी रहेगी. लेकिन इन सब के बीच सबसे ज्यादा परेशानी श्रमिकों और प्रवासी मजदूरों की बढ़ी है.

7 लाख लोगों को शिविरों में खिलाया जा रहा खाना

बताया जा रहा है कि दिल्ली के कई इलाकों में करीब 7 लाख लोगों को कई शिविरों में खाना उपलब्ध कराया जा रहा है. इसमें प्रवासी मजदूरों के अलावा भिखारी और बेघर लोग भी शामिल हैं. बता दें कि कोरोना महामारी के संकट के कारण प्रवासी मजदूर काफी परेशान हैं. इनका रोजगार खत्म होने के साथ ही इनके रहने की समस्या भी पैदा हो गई है. भविष्य की अनिश्चतताओं को लेकर ये मजदूर लॉकडाउन के बीच अपने घरों की ओर निकल पड़े थे. बुधवार की शाम में भी कई प्रवासी मजदूर यमुना किनारे इकट्ठा हो गए थे. इन्हें केजरीवाल सरकार ने शेल्टर होम में ठहराया है.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली: पिज्जा डिलीवरी बॉय के कोरोना पॉजिटिव आने से मचा हड़कंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज