Delhi News: DTC बसों में सुरक्षित होगा महिलाओं का सफर, ISBT में बनेगा कंट्रोल रूम, मिलेगा रियल टाइम डाटा

कंट्रोल रूम से दिल्ली की बसों का रियल टाइम डाटा मिलेगा.

कंट्रोल रूम से दिल्ली की बसों का रियल टाइम डाटा मिलेगा.

दिल्ली में महिला यात्रियों को सफर सुरक्षित करने के लिए ISBT में कंट्रोल एंड कमांडिंग सेंटर बनाया जा रहा है. इसमेें दिल्ली (Delhi) के करीब 5500 बसों का रियल टाइम डेटा (Real Time Data) मौजूद रहेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 3:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) की डीटीसी (DTC) और क्लस्टर बसों (Cluster Bus) में महिला यात्रियों को सुरक्षित सफर तय करने के लिए ISBT में कंट्रोल एंड कमांडिंग सेंटर बनाया गया है. यहां दिल्ली में करीब 5500 बसों का रियल टाइम डाटा (Real Time Data) उपलब्ध होगा. बसों में लगे सीसीटीवी फुटेज, लोकेशन और पैनिक बटन को इस कमांडिंग सेंटर से जोड़ा गया है. किसी भी यात्री, खास तौर पर महिला यात्री को अगर कोई समस्या है तो वो पैनिक बटन दबाते ही सेंटर को उस बस का अलर्ट मिलेगा, जिससे सेंटर में बैठे ऑपरेटर बस को लाइव देख सकते हैं.

इस सिस्टम के बस से संपर्क किया जा सकता है, ताकि परेशान यात्री को समय पर मदद मिल सके. दिल्ली के ISBT कश्मीरी की चौथी मंजिल पर बनाए गए इस सेंटर का उद्घाटन करने पहुंचे परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल ने बसों में सीसीटीवी, जीपीएस और पैनिक बटन लगाने का ऐतिहासिक फैसला किया था, जिन्हें अब कमांडिंग सेंटर से जोड़ा जा रहा है.

सीएम अरविंद केजरीवाल करेंगे उद्घाटन

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने दावा किया कि देश में ये अपनी तरह का पहला कमांडिंग सेंटर होगा जहां सारी बसों का रियल टाइम डेटा उपलब्ध होगा. गहलोत ने आगे बताया कि इस पूरे प्रोजेक्ट की लागत 150 करोड़ रुपये है. TCIL अगले 5 साल के लिए इसकी व्यवस्था और रखरखाव देखेगा. फिलहाल इस प्रोजेक्ट का ट्रायल चल रहा है. जल्द ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इसका उदघाटन करेंगे. इस सिस्टम को डिज़ाइन करने वाले अमर प्रताप ने बताया कि ये सिस्टम महिला सुरक्षा को समर्पित है. इस सिस्टम में कई फीचर हैं. लाइव सीसीटीवी, जिसमें 7 दिनों की सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध रहती है.
ये भी पढ़ें: Army Recruiting Rally: फर्जी मार्कशीट लेकर पहुंचे 19 कैंडिडेट्स, मिला रिजेक्शन सर्टिफिकेट

दूसरा बसों पैनिक बटन लगे हैं. अगर बस में दिक़्क़त होने पर कोई पैनिक बटन दबाता है तो हमें यहां अलर्ट मिलेगा. उस बस को हमारा ऑपरेटर लाइव देख रहा होता है. उस बस की स्पीड क्या है? बस में हो क्या रहा है? साथ ही हम यहां से पुलिस को कॉल करके बस की जरूरी डिटेल्स पुलिस के साथ साझा कर सकते हैं.  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार बसों में महिला सुरक्षा की बात करते रहे हैं. डीटीसी और क्लस्टर बसों में महिलाओं को सुरक्षित सफर देने की दिशा में ये महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज