• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • सागर धनखड़ हत्याकांड से खुले पहलवानों और गैंगस्टर की साठगांठ के राज, पढ़ें पुलिस तफ्तीश की पूरी कहानी

सागर धनखड़ हत्याकांड से खुले पहलवानों और गैंगस्टर की साठगांठ के राज, पढ़ें पुलिस तफ्तीश की पूरी कहानी

Sagar Dhankar Murder Case: सागर धनखड़ की हत्या में ओलंपियन पहलवान सुशील कुमार का नाम आने से खेल की दुनिया में आपराधिक गठजोड़ का हुआ खुलासा. (फाइल फोटो)

Sagar Dhankar Murder Case: सागर धनखड़ की हत्या में ओलंपियन पहलवान सुशील कुमार का नाम आने से खेल की दुनिया में आपराधिक गठजोड़ का हुआ खुलासा. (फाइल फोटो)

Sagar Dhankar Murder Case: छत्रसाल स्टेडिम में सागर धनखड़ की हत्या से खेल की दुनिया में आपराधिक गठजोड़ का हुआ खुलासा. वारदात के दिन सागर की तरफ से कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी था, तो ओलंपियन सुशील कुमार की ओर से नीरज बवानिया के गुर्गे लड़ रहे थे.

  • Share this:

नई दिल्ली. आखिर क्या हुआ था 4 मई को, जिस दिन छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर की मौत हुई थी. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की तफ्तीश से इस सनसनीखेज मामले के जितने पहलू सामने आए हैं, वह चौंकाने वाले हैं. जूनियर पहलवान सागर धनखड़ की हत्या से राजधानी दिल्ली में कुख्यात अपराधियों और पहलवानों के बीच आपराधिक गठजोड़ का खुलासा हुआ है. 4 और 5 मई की रात छत्रसाल स्टेडियम में सागर धनखड़ के कत्ल के मामले में तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर नीरज बवानिया जहां ओलंपियन सुशील कुमार के साथ खड़ा था, वहीं सागर धनखड़ की तरफ से कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी के आदमी थे. खेल की दुनिया में अपराध के घालमेल की इस सनसनीखेज कहानी की परत-दर-परत पर आइए विस्तार से नजर डालते हैं…

बीते 4 मई को कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी के ममेरे भाई सोनू, रविन्द्र व अन्य का मॉडल टाउन वाले फ्लैट को लेकर ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार से झगड़ा हो गया था. विवाद के दौरान उन लोगों ने सुशील की कॉलर पकड़ ली और देख लेने की धमकी देकर छोड़ दिया. इसी बात से सुशील कुमार का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया. बेइज्जती से गुस्साए सुशील ने बदला लेने की ठान ली और कुख्यात नीरज बवाना और असौदा गिरोह के बदमाशों की मदद लेने का फैसला किया. देखते ही देखते कुछ घंटे के अंदर सुशील ने हरियाणा से बदमाशों को बुला लिया और उसी रात सोनू समेत अन्य की बुरी तरह से पिटाई कर दी. इसी घटना में सागर धनखड़ के सिर पर गंभीर चोट लगी, जिसके कारण उसकी मौत हो गई थी.

4 मई को दिन में बना प्लान और रात में हुई वारदात
सोनू, सागर और अन्य की पिटाई की साजिश 4 मई को ही दिन में अचानक रची गई थी. पुलिस का कहना है कि दिन में सुशील जब छत्रसाल स्टेडियम आया था, तब उसके साथ अधिक पहलवान नहीं थे. स्टेडियम में अचानक उसकी सोनू, सागर, अमित, भक्तु, रविन्द्र और विकास आदि से कहासुनी हो गई. इसी दौरान सुशील को जबरदस्त तरीके से अपमानित किया गया. उस समय तो सुशील स्टेडियम से चला गया, लेकिन अपमान का बदला लेने के लिए उसने इन लोगों को सबक सिखाने की ठान ली.

सुशील के बुलावे पर हरियाणा से दिल्ली आए अपराधी किसी जगह पर इकट्ठा हुए. वहीं उन्होंने खाना खाया और शराब पी. इसके बाद 5-6 कारों में सवार होकर शालीमार बाग स्थित रविंद्र के घर पहुंचे. रविंद्र उस समय घर के नीचे आइसक्रीम खा रहा था. अपराधियों ने उसे वहां से उठाया और मॉडल टाउन स्थित सोनू के घर पर पहुंचे. यहां से सोनू, सागर, अमित और भक्तू को भी अगवा किया गया. रात करीब 1 बजे सभी छत्रसाल स्टेडियम पहुंचे. यहीं पर पार्किंग एरिया में घेरकर सुशील और उसके साथ बदमाशों ने सागर, सोनू आदि को लाठी-डंडे व हॉकी स्टिक से जमकर पीटा. पुलिस ने कोर्ट को बताया कि सागर आदि की जानवरों की तरह पिटाई की गई. इस दौरान सोनू को पेशाब तक पिलाने की कोशिश की गई. मारपीट में ही सागर के सिर में चोट लगी, जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

सागर हत्याकांड से क्या है गैंगस्टर नीरज बवाना का कनेक्शन
नीरज बवाना दिल्ली के बवाना गांव का रहने वाला है, इसी वजह से उसके नाम के साथ बवाना जुड़ गया. नीरज पर हत्या, डकैती, लूट, जबरन उगाही, लोगों को धमकी देने और जान से मारने की धमकी जैसे कई मामले दर्ज हैं. ये मामले सिर्फ दिल्ली में ही नहीं, बल्कि दिल्ली के बाहर के थानों में भी दर्ज हैं. दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद नीरज बवाना जेल के अंदर से ही गैंग चला रहा है. उसके गुर्गे उसका पूरा सोशल मीडिया भी संभालते हैं. नीरज के सोशल मीडिया पर कई वीडियो हैं. नीरज पर पुलिस ने 5 लाख का इनाम घोषित किया था.

दिल्ली पुलिस जब कॉल मिलने के बाद छत्रसाल स्टेडियम पहुची थी तो उसे वहां 3 गाड़ियां मिली थी. एक गाड़ी से पुलिस को गन और 3 जिंदा कारतूस मिले थे. मौके पर मिले स्कॉर्पियो और ब्रेज़ा के जरिये पुलिस को पता लगा कि उस दिन सुशील पहलवान के साथ नीरज बवाना की गैंग के बदमाश भी मौजूद थे. इसी लिंक का पीछा करते हुए पुलिस 25 मई की शाम कंझावला इलाके पहुचीं और नीरज बवानिया गैंग के 4 बदमाशों को गिरफ्तार किया. ये सभी 4 और 5 मई की रात सुशील के साथ मौजूद थे. जो चार लोग 25 की रात पकड़े गए उनमें से एक भूपेंद्र बेहद शातिर बदमाश है और अभी 2 महीने पहले ही जेल से छूट कर बाहर आया था.

अगर बात नीरज के गैंग की करें तो उसके गैंग में लोकल लड़कों के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के बदमाश शामिल हैं, जो लूट, डकैती, जबरन उगाही और क़त्ल के मामलों में शामिल है. इनके निशाने पर वो प्रॉपर्टी भी होती है जिसे लेकर विवाद होता है. एक वक्त था जब दिल्ली में नीतू दाबोदा का दबदबा था लेकिन पुलिस एनकाउंटर में नीतू के मारे जाने के बाद नीतू के गैंग के कई बदमाश नीरज के साथ जुड़ गए और नीरज का गैंग न सिर्फ बड़ा हो गया बल्कि खतरनाक भी.

काला जठेड़ी का हत्याकांड से कनेक्शन
सोनीपत के रहने वाले संदीप उर्फ काला के नाम के साथ जठेड़ी कब जुड़ गया, यह तो पुलिस को भी नहीं पता. पुलिस तो फिलहाल उसके और गुर्गों की वारदातों की फेहरिस्त बनाने में जुटी है. पुलिस के रिकॉर्ड के मुताबिक काला जठेड़ी की दोस्ती कुछ बदमाशों से हो गई उस दौरान उसके खर्चे भी बढ़ गए. खर्चे पूरे करने के लिए वह जरायम पेशे में उतरा और झपटमारी करने लगा. जठेड़ी के खिलाफ दिल्ली में पहला मुकदमा 29 सितंबर 2004 को दर्ज हुआ. जठेड़ी अपने साथियों के साथ सिरसपुर इलाके में एक शख्स का मोबाइल छीन कर भाग रहा था लेकिन पुलिस ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया था.

इस मामले में काला जटखेड़ी के खिलाफ दिल्ली के समयपुर बादली में पहली एफआईआर दर्ज हुई. लेकिन जेल से छूटने के बाद काला जठेड़ी ने एक के बाद एक कई वारदातों को अंजाम दिया. शुरुआत में वह झपटमारी, लूटपाट और हत्या की कोशिश जैसी वारदातों में शामिल रहा, लेकिन देखते ही देखते उसने अपनी गैंग बना ली और जबरन उगाही और विवादित संपत्ति में दखल देने लगा. हाल में 7 लाख के इनामी गैंगस्टर को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है.

जानकारी के मुताबिक काला जठेड़ी लॉरेंस बिश्नोई गैंग का भी मुखिया बना हुआ है और दिल्ली के अलावा राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अपने काले कारनामों को अंजाम दे रहा है. काला जठेड़ी और बिश्नोई की मुलाकात नजफगढ़ के रहने वाले कपिल सांगवान उर्फ नंदू ने कराई थी, जो लंदन में बैठकर इस वक्त अपना गिरोह हिंदुस्तान में ऑपरेट कर रहा है. जठेड़ी के ऊपर दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़ और हरियाणा के अलग-अलग शहरों में मामले दर्ज हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज