सागर मर्डर केस: पहलवान सुशील कुमार का नया ठिकाना जेल

सुशील कुमार की पुलिस रिमांड फिर बढ़ गई है.

सुशील कुमार की पुलिस रिमांड फिर बढ़ गई है.

Sushil Kumar News: सागर धनकड़ की हत्या (Sagar Dhankar Murder Case) के मामले में गिरफ्तार पहलवान सुशील कुमार को कोर्ट ने 9 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में हुए सागर धनकड़ की हत्या (Sagar Dhankar Murder Case) के मामले में गिरफ्तार पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) को कोर्ट ने  9 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की तीन दिनों की पुलिस रिमांड की मांग ठुकरा दी है. दरअसल, रिमांड तीन दिनों और बढ़ाए जाने का दिल्ली पुलिस ने अदालत में आवेदन दिया था. रिमांड मांगते हुए पुलिस ने कहा कि हमारे पास एक महत्वपूर्ण वीडियो है, जो जांच के दौरान मिली है. आरोपी सुशील को फिर से हरिद्वार लेकर जाना है. अभी और लोगों को गिरफ्तार करना है. इसके साथ ही पुलिस ने एक बार फिर आरोपी सुशील पहलवान पर जांच में सहयोग न करने का आरोप लगाया है.

इधर, दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस के पास इस अपराध का सबसे अहम सबूत एक मोबाइल वीडियो है, जो मौके पर बनाया गया था. इस वीडियो में सुशील के हाथ में डंडा है और जमीन पर सागर पड़ा हुआ दिख रहा है. वीडियो में 15 से ज्यादा पहलवान दिख रहे हैं जिनमें से कुछ के पास हथियार भी हैं. एफएसएल से इस बात की पुष्टि भी हो गई है कि इस वीडियो से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है.इस मामले में दूसरा अहम सबूत सुशील कुमार और अजय बक्करवाला के मोबाइल की डिटेल हैं. पुलिस ने दोनों की कॉल डिटेल के साथ ही उनकी लोकेशन भी निकलवाई है. कॉल डिटेल से साफ हो चुका है कि यह लोग किसके संपर्क में थे. वहीं लोकेशन की डिटेल से यह साबित होगा कि वारदात वाले दिन वह छत्रसाल स्टेडियम में मौजूद थे.

सुशील कुमार की सुरक्षा व्यवस्था पर जेल प्रशासन की रहेगी विशेष नजर



अगर क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा कस्टडी नहीं ली जाएगी, तब सुशील कुमार को कुछ महीनों तक जेल के अंदर न्याययिक हिरासत में उसे वक्त गुजरना पड़ेगा. क्योंकि सुशील के खिलाफ हत्या में शामिल होने और सागर पहलवान को मारने के लिए कई अन्य गुंडे और पहलवानों को बुलाने का आरोप यानी गैर इरादतन हत्या, किसी की हत्या के लिए अपहरण, बलवा यानी जहां पांच से ज्यादा लोग उपद्रव करते हैं, आर्म्स एक्ट के तहत काफी गंभीर आरोप हैं. ऐसे हालात में ये तो एक अनुमान है कि आने वाले वक्त में काफी वक्त सुशील कुमार को जेल में बिताना होगा. लिहाजा जेल प्रशासन की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ने वाली है, क्योंकि जेल के अंदर कहीं सुशील कुमार पर कोई गैंगस्टर या अन्य कोई अपराधी कहीं हमला न कर दें. ये बेहद महत्वपूर्ण मसला हो सकता है.

दरअसल जिस तरह से पिछले कुछ दिनों पहले एक खबरें वायरल हुई है कि पहलवान सागर राणा उर्फ सागर धनखड़ की मौत और सोनू महल नाम के एक अन्य शख्स के साथ सुशील कुमार और उसके कुछ गैंगस्टर साथियों द्वारा हुई मारपीट के बाद विदेश में बैठा हुआ है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज