Sagar Murder Case: रोहिणी कोर्ट ने DCP को गवाह को सुरक्षा प्रदान करने का आदेश दिया

पुलिस को कोर्ट में अपनी बातें यानी केस को इस गवाही से और मजबूती मिलेगी. (फाइल फोटो)

पुलिस को कोर्ट में अपनी बातें यानी केस को इस गवाही से और मजबूती मिलेगी. (फाइल फोटो)

Sagar Murder Case: इस मामले में पुलिस की जांच अभी भी जारी है. पुलिस के मुताबिक अभी और आरोपियों की तलाश जारी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. सागर पहलवान हत्या (Sagar Pehalwan Murder) मामले में दिल्ली के रोहिणी कोर्ट (Rohini Court) ने मंगलवार को अहम आदेश दिया है. कोर्ट ने कंसर्न डीसीपी को एक गवाह (witness) को सुरक्षा प्रदान करने का आदेश दिया है. दरअसल, इस गवाह ने कोर्ट में अपनी सुरक्षा को लेकर याचिका लगाई थी. गवाह ने अपनी जान को खतरा बताया था, जिसके बाद कोर्ट ने ये अहम आदेश दिया. बताया जा रहा है कि पुलिस के लिए सागर पहलवान हत्या मामले में ये गवाह बहुत अहम है. इस गवाह के गवाही के बाद आरोपी सुशील पहलवान और अन्य की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. पुलिस को कोर्ट में अपनी बातें यानी केस को इस गवाही से और मजबूती मिलेगी.

रोहिणी कोर्ट सोमवार को ही सुनवाई करेगा

वहीं, इस मामले में पुलिस की जांच अभी भी जारी है. पुलिस के मुताबिक अभी और आरोपियों की तलाश जारी है. आपको बता दे कि पुलिस ने इससे पहले कोर्ट को बताया था कि उनके पास वारदात वाली रात की एक वीडियो है जिसकी सत्यता फोरेंसिक लैब से परखी जा चुकी है. वीडियो और इस गवाह के गवाही से आरोपी पहलवान सुशील कुमार की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. फिलहाल, आरोपी सुशील कुमार न्यायिक हिराशत में है. आरोपी सुशील कुमार ने भी रोहिणी कोर्ट में याचिका दायर कर अपने लिए हाई सिक्योरिटी सेल की मांग की है. आरोपी सुशील ने जेल में अपनी जान को खतरा बताते हुए हाई सिक्योरिटी सेल की मांग की है जिस पर रोहिणी कोर्ट सोमवार को ही सुनवाई करेगा.

तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर सकता है
बता दें कि कल ही खबर सामने आई थी कि पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड के आरोपी ओलंपियन सुशील कुमार की सुरक्षा को लेकर तिहाड़ जेल प्रशासन हरकत में आ गया है. तिहाड़ जेल में बंद सुशील कुमार के विरोधी गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई को मंडोली जेल से तिहाड़ जेल नंबर 1 के हाई सुरक्षा वार्ड में शिफ्ट किया गया है. जेल प्रशासन सुशील के विरोधी एक अन्य गैंगस्टर संपत नेहरा, जो फिलहाल मंडोली जेल नंबर 15 के वार्ड नंबर 4 में बंद है, उसे भी तिहाड़ जेल में शिफ्ट कर सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज