Sagar Murder Case: सुशील कुमार ने क्राइम ब्रांच से कहा- मैं बेगुनाह हूं और फिर साध ली चुप्‍पी, यहां पढ़ें पूरी कहानी

सागर हत्‍याकांड में शामिल सुशील कुमार और उनके सभी साथी पुलिस की गिरफ्त में हैं.

सागर हत्‍याकांड में शामिल सुशील कुमार और उनके सभी साथी पुलिस की गिरफ्त में हैं.

Sushil Kumar News: सागर धनखड़ की हत्या के मामले में गिरफ्तार ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) से दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम पूछताछ कर रही है. हालांकि पहलवान के पूछताछ में बार-बार अपने बयान बदलने से परेशानी खड़ी हो रही है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ की हत्या (Sagar Murder Case) के मामले में गिरफ्तार ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar) और उनके साथियों से दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच पूछताछ कर रही है. इस बीच खबर है कि पूछताछ के दौरान सुशील कुमार अपने बयान बार-बार बदल रहे हैं. यही नहीं, इस मामले की गंभीरता को देखते हुए क्राइम ब्रांच की टीम मनोवैज्ञानिक विशेषज्ञ का सहारा ले रही है और इस दौरान सुशील सवालों से न सिर्फ डर रहे हैं बल्कि सही तरीके से जवाब नहीं देने के साथ चुप हो जाते हैं.

दिल्‍ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, सागर हत्‍याकांड को लेकर हो रही पूछताछ में सुशील कुमार क्राइम ब्रांच की टीम को बार-बार अलग बयान दे रहे हैं. सुशील ने पूछताछ में कहा कि मैं बेगुनाह हूं और मुझे सागर धनखड़ के मसले पर गुमराह किया गया था. साथ ही मुझे उसके खिलाफ गलत जानकारी दी गई थी. आखिर मैं किसी की हत्या क्यों करूंगा? साथ ही पहलवान ने कहा कि लोगों ने फरारी के दौरान कहा था कि तुम फिलहाल छुप जाओ, बाद में सब ठीक हो जाएगा और वकील के मार्फत कोर्ट को बता दिया जाएगा. मैं किसी की हत्या करने की कभी सोच भी नहीं सकता हूं और न मैं किसी भी गैंगस्टर के साथ न रहा हूं, न किसी का समर्थन या सहयोग करता हूं. ये एक साजिश के तहत कोई आरोप लगवा रहा है.

Youtube Video

क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक, सुशील कुमार मानसिक तौर पर भी काफी मजबूत है और वो झूठ बोलने में माहिर है. इस वजह से दिल्ली पुलिस की टीम इस मामले में पूछताछ के लिए अगली रणनीति बना रही है.
पहले सुशील ने बताई थी ये बात

इससे पहले दिल्‍ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की पूछताछ में सुशील कुमार ने बताया कि वह पहलवान सागर धनखड़ को सिर्फ डराना चाहता था, इसलिए पिटाई की थी. यही नहीं, हथियार भी इसीलिए लाए गए थे और इस पूरी घटना का वीडियो खौफ पैदा करने के लिए बनवाया गया था. हालांकि सागर को मारने का कोई इरादा नहीं था, लेकिन जब उसकी मौत की सूचना मिली तो मैं भाग गया और 18 दिन तक गायब रहा. इसके बाद दिल्‍ली लौटा था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज